मोतिहारी जिला अधिकारी ने लिया Block level पर संचालित Quarantine centers का video confrencing से जायजा

जनबोल न्यूज

मोतिहारी

21 मई को जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेन्सिंग के माध्यम प्रखंड स्तर पर संचालित Quarantine centers (संग रोधी केंद्रो) के अद्यतन क्रियान्वयन स्थिति की समीक्षा की गई एवम उपयुक्त दिशा निर्देश दिए गए।वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से आयोजित समीक्षात्मक बैठक में प्रखंडवार संचालित Quarantine centres (संग रोधी केंद्रो) की संख्याऔर संग रोधी केंद्रो में आवासित व्यक्तियों की संख्या एवम निर्धारित मानकों के अनुरूप आवासित व्यक्तियों के बीच डिग्निटी किट वितरण की अद्यतन स्थितिएंव भोजन,आवासन हेतु की गई व्यवस्था आदि बिन्दुओं पर विस्तृत समीक्षा की ।सभी प्रखंड विकास पदाधिकारी व अंचल अधिकारी को संग रोधी केंद्रो में प्रकाशएंव साफ़ सफाई की व्यवस्था में और सुधार लाने एवम् पीएचईडी विभाग के सहयोगएंव समन्वय से आवश्यकतानुसार अस्थाई शौचालय और चापा कल संस्थापन हेतु आवश्यक कार्रवाई का निर्देश दिया गया है।विस्तृत समीक्षा क्रम में कुछ प्रखंडों में व्यवस्था में और सुधार की आवश्यकता पर बल दिया गया है।

Reported By

Om Prakash Gupta

मोतिहारी पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, आठ अपराधी समेत लाखो रूपये बरामद!

जनबोल न्यूज 

मोतिहारी

मोतिहारी पुलिस की बडी कामयाबी मिली है। SDPO चकिया के नेतृत्व मे पुलिस टीम ने मात्र 12 घंटा के अंदर छापेमारी करते हुए 3.28 लाख रुपये ,तीन पिस्टल और चौदह जिंदा गोली के साथ आठ अपराधकर्मी को गिरफ्तार किया है। गिरफ्तार अपराधियों मे सात मुजफ्फरपुर थाना क्षेत्र के रहने वाले  हैं। विदित हो की मेहसी मे बुधवार को दिनदहाड़े पंजाब नेशनल बैंक मे 5.77 लाख की लूट हुई थी।अपने प्रेस कॉन्फ्रेंस मे पुलिस अधीक्षक नवीन चंद्र झा ने बताया की पिछले डेढ़ महीने से गिरोह के सदस्य चकिया अनुमंडल क्षेत्र में शक्रिय थे। गिरोह के सदस्य हाजीपुर और मुजफ्फरपुर के रहने वाले है ।

पुलिस टीम में चकिया डीएसपी शैलेंद्र कुमार के नेतृत्व में मोतिहारी जिले के पांच व मुजफ्फरपुर जिले के दो थानाध्यक्ष के अलावे साइबर सेल के पदाधिकारी शामिल थे। जिसमें चकिया इंस्पेक्टर निर्मल कुमार , चकिया सर्किल इंस्पेक्टर रामाश्रय प्रसाद यादव , मेहसी थाना अध्यक्ष अवनीश कुमार , पिपरा थाना अध्यक्ष मुकेश कुमार , पिपरा कोठी थानाध्यक्ष संजीव कुमार , मधुबन थाना अध्यक्ष संतोष कुमार , चकिया के सब इंस्पेक्टर हृदयानंद सिंह , धर्मेंद्र कुमार , अतुल राज , साइबर सेल के एसआई मनोहर कुमार , मनीष कुमार , सिपाही चिरंजीवी कुमार , नित्यानंद दुबे सहित मुजफ्फरपुर जिले के कथैया थाना प्रभारी सुनील कुमार व बलूराज एसएचओ अनूप कुमार शामिल थे।

    Reported By

Om Prakash Gupta

मजदूरों की घर वापसी के लिए आंखों पर पट्टी बांध, भूख हड़ताल पर बैठें जाप नेता।

जनबोल न्यूज

मजदूरों को सकुशल घर वापसी को लेकर जाप नेताओं ने पूरे राज्य में धरना दिया। आंखों पर काली पट्टी बांध कर नेता और कार्यकर्ता भूख हड़ताल पर बैठे रहे। जाप के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कहा कि लॉकडाउन से सबसे ज्यादा प्रभावित प्रवासी मजदूर हैं। हर रोज अलग-अलग शहरों से परेशान मजदूरों की तस्वीरें सामने आ रही हैं। सूरत और मुंबई के बांद्रा में घर वापसी की मांग करने वाली मजदूरों की भीड़ पर पुलिस ने लाठीचार्ज किया। सड़क हादसे में मजदूर मर रहे हैं।

भारतीय रेलवे द्वारा जितनी श्रमिक स्पेशल ट्रेनें चलाई जा रही है वो नाकाफ़ी साबित हुई है। अभी भी लाखों लोग पैदल चलकर या दो से चार हजार रुपये तक ट्रक मालिकों को देकर बिहार आ रहे हैं।

इस धरना प्रदर्शन का आयोजन सोशल डिस्टेंसिग को ध्यान में रख कर किया गया। बिहार के विभिन्न जिलों से मजदूरों के पक्ष में बड़ी संख्या में आम लोग इस व्यापक प्रदर्शन में शामिल हुए।

वही जाप कार्यालय में जाप के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचंद सिंह सहित कई नेताओं ने धरना दिया। प्रेमचंद सिंह ने कहा कि नीतीश कुमार मजदूरों को सड़क पर मरने के लिए छोड़ दिया हैं। आज लॉकडाउन के लगभग दो महीने हो गए हैं उसके बाद भी मजदूर भूखे प्यासे सड़को पर पैदल चल रहे हैं। बिहार सरकार को इनकी कोई मदद नहीं कर पा रही।

जाप के राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन नेकहा की बिहार सरकार के तानाशाही रवैया के कारण छात्रों और मजदूरों के पक्ष में आवाज उठाने वालों को जेल में डाल रही हैं। इन्होंने गलत तरीके से जेल भेजे गए जन अधिकार छात्र परिषद के छात्र नेताओं के सकुशल रिहाई की मांग की।

पटना संवाददाता

कुंदन कुमार

गन्ने के बकाया का भुगतान होने से लाखों किसान को राहत–यूवा जदयू

जनबोल न्यूज

मोतिहारी 

कोरोना महामारी मे लॉकडाउन से सभी का हालत खस्ता है ,ऐसे मे किसानों का चीनी मीलों मे गन्ने का बकाया भुगतान से लाखो किसानों को राहत मिली है। विदित हो कि 15 मई को जदयू के वरीय नेता महेश्वर सिह ने वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए मुख्यमंत्री नीतीश कुमार से बात कर किसानों के बकाया से अवगत कराया था जिसके बाद मुख्यमंत्री मंत्री ने अश्वासन दिया था कि एक सप्ताह मे भुगतान चालू करा दिया जाएगा इसके परिणामस्वरूप 19 मई तक लाखों किसान का भुगतान हो चुका है ।किसानों का भुगतान ससमय करने पर संग्रामपुर युवा जदयू के सदस्य मुख्यमंत्री नीतीश कुमार और वरीय नेता महेश्वर सिंह का आभार व्यक्त किया है। उक्त आशय की जानकारी परसौना जदयू अध्यक्ष चंदन सिंह ने दी।

Reported By

Om Prakash Gupta

महिलाओं को भी गाली देते हैं दरोगा जी, पूछने पर कहते हैं कौन अच्छे लोग हो!

जनबोल न्यूज

मोतिहारी

बिहार के दोरोगा जी लोगों का गाली देता ऑडियो विडियो वायर होनो का ट्रेंड सा चल गया है। डिजिपी पिछले दिनों संज्ञान भी लेते रहे हैं। अब गाली देने का एक और मामला सामने आया है।  यह मामला मोतिहारी में अनुसूचित जाति परिवार से जुड़ा हुआ है। दरअसल मोतिहारी जिले के बंजरिया थाना को एक नौजवान मोहन देव ने सूचना दी की कुछ दबंग लोग 16-05-2019 की रात 9;30 बजे  मारपीट रहे हैं.  युवक ने आरोप लगाया है कि थाना अध्यक्ष मारपीट कर रहे लोगों को रोकने के बजाये पीड़ित परिवार की महिलाओं को हीं गाली गलौज करने लगे। जब युवक ने रात 11 बजे थानाअध्यक्ष को दुबारा फोन कर उनके कृत्य का एहसास करवाया तो उलटे युवक से कहने लगें महिलाएं रं* नहीं तो कोई इंसान है।  अब यह मामला पुलिस अधिक्षक मोतिहार तक  के समक्ष पहूँच चुका है।

बतातें चले की यह कोई पहला मामला नहीं है आये दिन इसतरह के मामले आम हो चले हैं।

Reported By

Om Prakash Gupta

 

पटना यूनिवर्सिटी के पूर्व सीनेट सदस्य विक्की राय बने भाजपा युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री ।

जनबोल न्यूज

 

अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के पूर्व प्रांत सह मंत्री और पटना विश्वविद्यालय के सीनेट सदस्य विक्की राय
को भारतीय जनता युवा मोर्चा के प्रदेश मंत्री का दायित्व सौंपा गया।

सोमवार देर शाम युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष दुर्गेश सिंह ने अपनी प्रदेश टीम की घोषणा की। अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के पटना विश्वविद्यालय संयोजक रहते हुए विगत दो छात्र संघ चुनावों में इन्होंने परिषद को सफलता दिलायी थी। जिसके परिणामस्वरूप संगठन ने इन्हें अभाविप में भी उच्च जिम्मेदारियाँ सौंपी थी ।

पिछले प्रांतीय अधिवेशन में विक्की राय ने छात्र राजनीति और परिषद से दायित्वमुक्त होने के बाद ही इनके सांगठनिक क्षमताओं के कारण सक्रिय राजनीति में आने के क़यास लगाएँ जा रहें थे। इनकी प्रारम्भिक शिक्षा-दीक्षा बक्सर के ही निजी स्कूल से हुई है और उच्च शिक्षा के लिये ये पटना विश्वविद्यालय के विभिन्न कॉलेजों में पढ़ाई किए।

पटना कॉलेज से पत्रकारिता में ग्रेजुएशन के बाद पटना लॉ कॉलेज से विधि स्नातक की डिग्री ली। हाल ही में पटना विवि पत्रकारिता विभाग के पूर्व छात्र परिषद का इन्हें संयोजक बनाया गया था ।

जिसके बाद पटना विश्वविद्यालय के पूर्व छात्र नेता विक्की राय वर्तमान में पटना उच्च न्यायालय में वकालत करते आ रहे है। विक्की राय मूलतः रोहतास जिले के करगहर प्रखंड के समहुता गांव के निवासी हैं ।

नवनियुक्त प्रदेश मंत्री विक्की राय ने बातचीत में बताया कि देश के यशस्वी प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी और पार्टी की नीतियों को जन-जन में पहुँचाने का काम करूँगा। राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ और अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद् के कार्यकर्ता होने के नाते अनुशासन एवं सांगठनिक कौशल हमें विरासत में मिली है। अतः सक्रिय राजनीति में निश्चित तौर पर मुझे इसका फ़ायदा मिलेगा

जिससे मैं समाज और संगठन को अपनी सेवाएँ अनवरत दें सकूँगा । उन्होंने संघ, अभाविप के साथ साथ युवा मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष दुर्गेश सिंह को धन्यवाद प्रेषित किया ।

 

करगहर (रोहतास ) संवाददाता

मो समशाद

 

तीन साल का RTE बकाया जमा करवाये शिक्षा विभाग – शमायल अहमद

जनबोल न्यूज

प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने आज  शिक्षा मंत्री, (बिहार सरकार) पटना को एक पत्र लिख कर सत्र 2017-18, 2018-19, एवं 2019-20 में RTE के अंतर्गत लाभान्वित बच्चे की लंबित राशि निर्गत करने के संबंध में आग्रह किया है।

शमायल अहमद ने शिक्षा मंत्री को पत्र द्वारा अवगत कराया की पिछले 5 माह से स्कूल की फीस नहीं आ रही है। क्योंकि जनवरी-फरवरी मे राज्य के सभी सरकारी एवं निजी विद्यालय कपकपी ठंड के कारण बंद थे और मार्च महीने से कोविड-19 के कारण अभी तक विद्यालय लगातार बंद है इसके कारण स्कूलों को फीस नहीं आ रही है और अब लगता है कि आगे भी एक दो महीने आने की संभावना नहीं है। जिसके कारण बिहार के हजारों विद्यालय बंद के कगार पर है। और विद्यालय अपने यहां काम कर रहे 5 लाख से ज्यादा कर्मियों को वेतन नहीं दे पाएंगे इसके कारण उनके परिवारों को काफी कठिनाइयां आएंगी।
शमायल अहमद ने शिक्षा मंत्री से आग्रह किया है के निजी विद्यालयों के बिजली बिल, वाहन टैक्स, बिल्डिंग टैक्स एवं वाहनों के ऋण की किश्त को माफ करने केआदेश जारी किए जाएं ताकि विद्यालय बंद ना हो सके अन्यथा लाखों बच्चे शिक्षा से वंचित हो जाएंगे एवं लाखों कर्मी बेरोजगार हो जाएंगे।

अन्नपूर्णा रसोई को मिला मस्करा ट्रस्ट का साथ ।

जनबोल न्यूज

 

“रामेश्वर लाल गोविंद प्रसाद मस्करा”चेरिटेबल ट्रस्ट के संयोजक श्री रवि मस्कारा द्वारा मा अन्नपूर्णा रसोई के संचालक श्री रंजीत सिंह एवं श्री आलोक जी को राशन का सहयोग किया गया।

सभी जानते हैं कोरोना के इस जंग में कई लोग भूखे हैं जिनको माँ अन्नपूर्णा रसोई के सदस्य श्री रंजीत सिंह की अगुवाई में दोनों समय खाना खिलाने का काम करते हैं।दूसरी तरफ़ मस्कारा ट्रस्ट भी जरूरतमंदों को राशन देने का कार्य कर रही है।

आज बहुत ही सुंदर दृश्य दिखाई दिया जब श्री रवि मस्कारा ने अन्नपूर्णा रसोई जाकर राशन सहयोग किया।उनके साथ खाना पैक कराने में सहयोग किया।रंजीत सिंह ने कहा कि यह कोरोना काल बुरा समय है इस समय जो जहाँ है वहीं जितना हो सके कमजोर की मदद करनी चाहिए।

मोतीहारी संवाददाता

ओ पी गुप्ता

मोदी राज में “श्रमिकों का तो भगवान ही मालिक है” -नमिता नीरज सिंह

जनबोल न्यूज

सर्वविदित है कि केंद्र सरकार द्वारा लॉक डाउन-4 की घोषणा कर दी गई है, जिसकी तिथि 31 मई तक निर्धारित की गई है। वैश्विक महामारी की इस विकट परिस्थिति में सबसे ज्यादा मार मजदूरों एवं श्रमिकों को झेलना पड़ा है। अगर हम विश्लेषण करें तो विगत 15 वर्षों में राज्य सरकार ने रोजगार एवं उद्योग- धंधे के मुद्दे को नजरअंदाज कर रखा है। राज्य में ना ही किसी बड़े पैमाने पर सरकारी नौकरी की बहाली की गई और ना ही बिहार की इतनी बड़ी जनसंख्या को देखते हुए कोई उद्योग-धंधे स्थापित किए गए। पलायन का जोर निरंतर जारी रहा और एक बड़ी संख्या में राज्य से लोग पलायन कर भारत के विभिन्न क्षेत्रों में रोजी-रोटी की जुगाड़ में निकल पड़े। आज आलम यह है कि लाखों की संख्या में हमारे श्रमिक-मजदूर भाई बिहार से बाहर अपने परिवार की पेट पालने के लिए कार्य कर रहे हैं। आज जब लॉक डाउन की वजह से उद्योग-धंधे बंद हो गए हैं, दुकानें बंद हो गई। तब इन लाचार श्रमिकों के पास अपने जीवन यापन के लिए कोई साधन ना रहा। एक तो कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने की जद्दोजहद तो दूसरी तरफ अपने परिवार की पालन पोषण का भीषण जिम्मेवारी। मजदूर-श्रमिक आखिर जाएं तो कहां जाएं? वर्तमान राज्य सरकार ने तो सीधा ही कह दिया कि किसी भी कीमत पर श्रमिकों की घर वापसी नहीं होगी। हालांकि नेता प्रतिपक्ष तेजस्वी यादव के मैदान में डटे रहने की वजह से अंततः राज्य सरकार को झुकना पड़ा और गरीब मजदूरों की घर वापसी का मार्ग प्रशस्त हुआ। लेकिन बात यहीं खत्म नहीं होती, घर वापसी का फरमान तो मिल गया लेकिन यह गरीब मजदूर सैंकड़ों-हजारों किलोमीटर की दूरी तय कर आखिर घर आए तो कैसे आएं? बसों की समुचित व्यवस्था का नहीं होना, ट्रेनों मैं रिजर्वेशन की उचित व्यवस्था का अभाव। आखिरकार गरीब श्रमिकों ने यह ठान ही लिया कि अब चाहे जो भी हो घर तो पहुंचना ही है। मन में एक आस लिए असंख्य मजदूर सड़क मार्ग, पटरियों के सहारे, साइकिल, ठेला इत्यादि में अपने परिवार के साथ निकल पड़े। उन्हें बस आस थी कि किसी तरह घर पहुंचा जाए और सैंकड़ों-हजारों किलोमीटर की दूरी तय करते हुए वे अपने घर के लिए निकल पड़े। उनका सामना रास्ते में कहीं पुलिस के डंडों से हुआ तो कहीं मौसम की बेरुखी की मार – कभी चिलचिलाती धूप तो कभी वर्षा की बूंदे। कई मजदूर तो रास्ते में ही भूख से तड़प तड़प कर जान गवां दिए और कई सड़क दुर्घटना में मौत के मुंह में समा गए। अगर देखा जाए तो वैश्विक महामारी, सरकार का पल्ला झाड़ना, मौसम की बेरुखी, भुखमरी की स्थिति एवं सड़कों पर असामयिक घटना का होना श्रमिकों के लिए अपार पीड़ादायक रहा। अंत में मैं आप सभी से यह पूछना चाहती हूं कि आखिर ये बेबस एवं लाचार मजदूर करे तो क्या करें? इनका तो भगवान ही मालिक है ।

ICC recent decision : अब क्रिकेट में थुक लगाकर गेंद चमकाने पर लगी बैन ।

जनबोल न्यूज

क्रिकेट के तीनों फार्मों से आप बाकिफ होंगे T-20 One day and Test  Match। तीनों  फार्मेट के इस खेल में अक्सर गेंदेबाज को आप रूमाल से गेंद को पोंछते या कई बार लार या थुक का इस्तेमाल कर गेंद साफ करते देखें होंगे । आपने कभी सोंचा है आखिर इसतरह की हरकत गेंदेबाज क्यों करते हैं ? दरअसल गेंदेबाज गेंदों के चमक को बरकरार रखने के लिए इसतरह के तरिकों का इस्तेमाल करते हैं। वर्तमान में यह खेल बाकि खेलों के जैसा हीं कोरोना महामारी के कारण बंद जरूर है लेकिन एक बड़ी खेल से जुडी हुयी की गयी है। दरअसलअनिल कुंबले की अगुआई वाली आईसीसी क्रिकेट कमेटी ने गेंद चमकाने में थूक या लार के इस्तेमाल पर रोक की सिफारिश की है। हालांकि, कमेटी ने पसीने के इस्तेमाल से बॉल शाइनिंग को सुरक्षित माना है।  कोरोना संक्रमण के दौड़ से गुजर रही दुनिया में इस बिमारी से बचने के आलावा लार , या थुक के साथ एक दूसरे में फैलने वाली बिमारियों से बचाव के लिए  इस बात पर बहस जारी है कि क्रिकेट जब फिर शुरू होगा तो गेंद की चमक बरकरार रखने के लिए क्या पारंपरिक तरीके ही जारी रहेंगे या आर्टिफिशियल चीजों का इस्तेमाल होगा।

रोहतास : कोरेंटाइन सेंट्रर में जारी है योग, ताकि प्रवासियों का बढ़े रोग प्रतिरोधक क्षमता !

Janbol News

रोहतास

मानव शरीर को प्रयोगशाला का आधार मानकर ऋषियों के द्वारा प्रमाणित योग विद्या भारतवर्ष की एक अमूल्य संपत्ति है। जो वस्तुतः समक्ष मोक्ष साधनों में सर्वोत्तम तथा सर्वश्रेष्ठ साधन पद्धति है।योग विद्या को विश्वास मानवता के कल्याण हेतु सर्व भौम धर्म कहा गया है।यथार्थ सत्य है। जो कोई नवीन खोज का परिणाम नही है।प्राचीनतम गुप्त विद्या है जिसका ज्ञान समय के साथ विभिन्न कारणों से जनसाधारण की पहुंच से दुर होता गया।वर्तमान समय में ऐसे विचार विस्तार की आवश्यकता को देखते हुए मनुष्य के अंतरण के साथ -साथ संपूर्ण विकास की संभावना को पूर्ण कर सकें।इस उद्देश्य की पूर्ति के लेकर सरकार ने भी क्वारेंटाइन सेंटर में आए सभी प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करने की सलाह दी है ,और शारिरीक शिक्षक का प्रतिनियुक्ति कर क्वारेंटाइन सेंटर में भी सभी आए प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रही है।प्रवासी मजदूरों को कोरोना वायरस के लक्षण के जाँच के लिए प्रखंड के विभिन्न जगहों पर बनायें गये सभी क्वारेंटाईन सेंटर में रखा गया है जहाँ सुविधा के साथ शारिरीक शिक्षक का भी डियूटी लगाई गई है।जो अपने डियूटी के अनुसार प्रतिदिन सभी प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रहे हैं।राम नरेश उच्च विद्यालय डिभियाँ में आए प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रहे शारीरिक शिक्षक संजीव कुमार ने बताया कि नियमित रूप से योगाभ्यास करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में निरंतर विकास होता हैं।हमारी शरीर मन व आत्मा की शुद्धि के साथ व्यवहार और विचारों को भी यह शुद्ध रखता है।उन्होंने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर में योग क्रियाओं में सूक्ष्म व्यायाम, विरेचन क्रिया,ताड़ासन,त्रिकोणासन, हस्तपदासन,कपालभाति क्रिया आदि के अभ्यास के रोग प्रतिरोधक क्षमताओं का विकास करते हुए शरीर के समस्त अंग हृदय ,फेफड़ा,लीवर,किडनी आंत,रक्त नलिकाएं आदि स्वस्थ और सक्रिय करा रहे है।

Reported by Shamshad Alam

fine for not bearing mask : मॉस्क नहीं लगाने पर लगेंगे 1000 रूपये का जुर्माना

जनबोल न्यूज

कोरोना महामारी के कारण लॉक डाउन 4.0 जारी है। हर रोज कोरोना मरीजों की संख्या बढ़ रही है. अब यह आंकड़ा बढ़ कर एक लाख  से ज्याद हो चुका है। वर्तमान में यह आंकड़ा 1 लाख 293 तक पहुँच चुका है। इसी बीच बड़ी खबर तेलंगना राज्य से है .

तेलंगाना में हर व्यक्ति को मास्क लगाना अनिवार्य कर दिया गया  है। मुख्यमंत्री केसीआर ने कहा कि आदेश का उल्लंघन करने पर 1 हजार रु. जुर्माना वसूला जाएगा। लोग मास्क की जरूरत को समझें नहीं तो पूरे प्रदेश में टोटल लॉकडाउन करना पड़ेगा।


 

क्वारेंटाइन सेंटरों में प्रवासी लोगों को योगाभ्यास से रोग प्रतिरोधक क्षमता बढ़ाई जा रही है।

जनबोल न्यूज

 

मानव शरीर को प्रयोगशाला का आधार मानकर ऋषियों के द्वारा प्रमाणित योग विद्या भारतवर्ष की एक अमूल्य संपत्ति है। जो वस्तुतः समक्ष मोक्ष साधनों में सर्वोत्तम तथा सर्वश्रेष्ठ साधन पद्धति है।योग विद्या को विश्वास मानवता के कल्याण हेतु सर्व भौम धर्म कहा गया है।

यथार्थ सत्य है। जो कोई नवीन खोज का परिणाम नही है।प्राचीनतम गुप्त विद्या है जिसका ज्ञान समय के साथ विभिन्न कारणों से जनसाधारण की पहुंच से दुर होता गया।वर्तमान समय में ऐसे विचार विस्तार की आवश्यकता को देखते हुए मनुष्य के अंतरण के साथ -साथ संपूर्ण विकास की संभावना को पूर्ण कर सकें।इस उद्देश्य की पूर्ति के लेकर सरकार ने भी क्वारेंटाइन सेंटर में आए सभी प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करने की सलाह दी है ।

शारिरीक शिक्षक का प्रतिनियुक्ति कर क्वारेंटाइन सेंटर में भी सभी आए प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रही है।प्रवासी मजदूरों को कोरोना वायरस के लक्षण के जाँच के लिए प्रखंड के विभिन्न जगहों पर बनायें गये सभी क्वारेंटाईन सेंटर में रखा गया है ।

जहाँ सुविधा के साथ शारिरीक शिक्षक का भी डियूटी लगाई गई है।जो अपने डियूटी के अनुसार प्रतिदिन सभी प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रहे हैं।राम नरेश उच्च विद्यालय डिभियाँ में आए प्रवासी मजदूरों को योगाभ्यास करा रहे शारीरिक शिक्षक संजीव कुमार ने बताया कि नियमित रूप से योगाभ्यास करने से रोग प्रतिरोधक क्षमता में निरंतर विकास होता हैं।हमारी शरीर मन व आत्मा की शुद्धि के साथ व्यवहार और विचारों को भी यह शुद्ध रखता है।उन्होंने बताया कि क्वारेंटाइन सेंटर में योग क्रियाओं में सूक्ष्म व्यायाम, विरेचन क्रिया,ताड़ासन,त्रिकोणासन, हस्तपदासन,कपालभाति क्रिया आदि के अभ्यास के रोग प्रतिरोधक क्षमताओं का विकास करते हुए शरीर के समस्त अंग हृदय ,फेफड़ा,लीवर,किडनी आंत,रक्त नलिकाएं आदि स्वस्थ और सक्रिय करा रहे है।

 

संवाददाता  रोहतास

मो०शमशाद आलम

प्रत्येक ग्राम एक तालाब का हुआ शुभारंभ ।

जनबोल न्यूज

 

मोतिहारी के सुगौली प्रखंड भ्रमण क्रम में जिलाधिकारी एस के अशोक ने शुकुल पाकर पंचायत के उत्क्रमित मध्य विद्यालय,चिलझपटी में अवस्थित Quarantine centre (संग रोधी केन्द्र) का निरीक्षण किया।उक्त अवसर पर उन्होंने संग रोधी केन्द्र में निश्चित अवधि तक आवासित व्यक्तियों से बातचीत की एवम् वहां पर दी जा रही सुविधाओं से अवगत हुए।संग रोधी केन्द्र में आवासित व्यक्तियों को आधार नंबर/खाता संख्या उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है ताकि जारी दिशा निर्देशों के अनुरूप उन्हें अनु मान्य लाभ दिया जा सके।

आज जिलाधिकारी महोदय की उपस्थिति में ग्राम पंचायत सूकुल पाकर अन्तर्गत राम जानकी मठ के निकट मनरेगा के तहत पोखरा उराहि कार्य का उद्घाटन पाकर मुखिया अशफाक अहमद द्वारा किया गया।पोखरा उराहि कार्य में कुल पैतीश व्यक्तियों को संलग्न किया गया है।जिनके द्वारा कार्य के दौरान वर्तमान परिस्थितियों को ध्यान में रखते हुए साफ सफाई का ध्यान रखा जा रहा है।

कार्य के दौरान भौतिक दूरी का भी पालन किया जा रहा है।कार्यस्थल पर सभी श्रमिको हेतु मास्क/साबुन आदि की व्यवस्था की गई है।आज भ्रमण क्रम में जिलाधिकारी ने स्थानीय पंचायती राज जन प्रतिनिधि से जारी निर्देशो के अनुरूप ग्राम पंचायत में मास्क/साबुन वितरण की अद्यतन स्थिति के संबंध में जानकारी प्राप्त की एवम् उक्त वितरण कार्य में तेज़ी लाने का निर्देश दिया है।आज निरीक्षण क्रम में उप समाहर्ता मेघा कश्यप भी उपस्थित थीं।

उक्त कार्यक्रम में भाग लेने के पश्चात जिलाधिकारी महोदय की अध्यक्षता में ढाका अनुमंडल सभागार में पंचायती राज जनप्रतिनिधियों/मुखिया के साथ बैठक का आयोजन किया गया।बैठक में अनुमंडल के विभिन्न पंचायतों/स्थलों पर संचालित Quarantine centres (संग रोधी केंद्रो) के क्रियान्वयन की अद्यतन स्थिति के संबंध में विस्तृत विचार विनार्श किया गया।बैठक में माननीय जनप्रतिनिधियों से बहुमूल्य सुझाव प्राप्त हुए।विस्तृत समीक्षा क्रम में आपसी समन्वय से सेवाभाव के साथ Quarantine centres (संग रोधी केंद्रो) के समुचित प्रबंधन पर बल दिया गया है।

बैठक उपरांत जिलाधिकारी ने ढाका प्रखंड के बाबा मस्तराम इंटर कॉलेज में संचालित Quarantine centre (संग रोधी केन्द्र) का निरीक्षण किया एवम् उक्त केन्द्र में निवासरत व्यक्तियों से केन्द्र में उपलब्ध सुविधाओं के संबंध ने बातचीत की।संग रोधी केन्द्र में आवासित व्यक्तियों को अपना आधार संख्या/खाता संख्या उपलब्ध कराने का अनुरोध किया गया है ताकि अनु मान्य लाभ दिया जा सके।

 

मोतिहारी संवाददाता

ओ पी गुप्ता

कंप्यूटर शिक्षकों को बिहार के माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों में जल्द से जल्द बहाल किया जाए

जनबोल न्यूज

बिहार कंप्यूटर शिक्षक वेलफेयर एसोसिएशन के बैनर तले अपनी 1 सूत्री मांगों को लेकर रिकॉर्ड 930 दिन धरना देने वाले कंप्यूटर शिक्षकों को एसटीईटी 2019 के रद्द हो जाने से काफी आघात लगा है।

महासचिव विनोद कुमार सिन्हा ने बताया कि हालांकि सरकार की शिक्षा विभाग ने हम पूर्व से अनुभव प्राप्त कंप्यूटर शिक्षकों की मांगों पर कोई विचार ना करते हुए अनुभव का लाभ नहीं दिया जबकि इसी सरकार ने बिहार तकनीकी सेवा आयोग की कनीय अभियंताओं के पद पर होने वाली परीक्षा के लिए पूर्व से संविदा पर बहाल कनीय अभियंताओं को अनुभव का लाभ देते हुए अधिकतम 5 वर्षों के लिए 25 अंक दिए साथ ही इसी वर्ष अमीन की बहाली में भी पूर्व से संविदा पर कार्यरत अमीनो को उनके अनुभव के आधार पर 5 वर्षों के लिए अधिकतम 25 अंक इसी सरकार द्वारा दिए गए।

क्योंकि यह एस टी ई टी 2019 की परीक्षा धांधली के आरोप में रद्द हो चुकी है ऐसी स्थिति में पूर्व से 5-8 सालों के अनुभव प्राप्त हम कंप्यूटर शिक्षकों को बिहार के माध्यमिक उच्च माध्यमिक विद्यालयों में जल्द से जल्द बहाल किया जाए ताकि ऑनलाइन वर्ग संचालन में यह कंप्यूटर शिक्षक बिहार के गरीब छात्र-छात्राओं की मदद कर सकें हालांकि माननीय शिक्षा मंत्री श्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा महोदय द्वारा पूर्व से कार्यरत कंप्यूटर शिक्षकों के लिए कक्षा 9वी में आवेदन करने की बात कही गई है जिससे पूर्व में से अनुभव प्राप्त समस्त कंप्यूटर शिक्षक काफी आशान्वित हैं।

 

किसान कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष श्री मति रेणु सिंह ने कहा 20 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक पैकेज देशवासियों के लिए एक धोखा है।

जनबोल न्यूज

 

आज ऑल इंडिया कांग्रेस वर्कर बिहार की अध्यक्ष एवम किसान कांग्रेस की प्रदेश उपाध्यक्ष श्री मति रेणु सिंह ने अपने बयान में बताया कि 20 लाख करोड़ रुपये की आर्थिक पैकेज देशवासियों के लिए एक धोखा है।

आर्थिक पैकेज का मतलब आर्थिक सहायता होता है न कि कर्ज देना। आज कोरोना जैसा महामारी में कौन सा लघु और कुटीर उद्योग कर्ज लेगा क्योंकि उसे पता है। कि इस महामारी में लोगों के पास पैसे नही और जब पैसे नही तो वो चीजों को खरीद नही पाएंगे ।

जब डिमांड नही रहेगी तो सप्लाई किसको करेंगे। वो इसलिए भी कर्ज नहीं लेंगे क्योंकि उनको पता है कि कर्ज के रकम को लौटना है। वो रामदेव बाबा,नीरव मोदी या अडानी परिवार से नहीं है।जिनका हज़ारो करोड़ कर्ज माफ कर दी जाती है और इनका बिजनेस अच्छे से फलते फूलते रहता है।

रेणु सिंह जी ने राहुल गांधी जी के प्रेस कॉन्फ्रेंस में कही बातों को उदाहरण दे बताया कि सरकार का रिश्ता जनता के साथ मां बेटे जैसा वात्सल्य प्रेम की तरह होना चाहिए। जिस तरह बेटे को कष्ट में देखकर माँ उसे भरपूर मदद करती है । न कि कर्ज देती है उसी तरह से मोदी जी को आज जनता का मदद करना चाहिए न कि कर्ज देने की बात करनी चाहिए।
उन्होंने स्मृति ईरानी जी द्वारा दिये गए बयानों को भी खंडित करते हुए कहा कि 80 लाख परिबार को मदद करने का मतलब है अगर एक परिवार में कम से कम 4 लोग भी हैं। तो 320 करोड़ लोगों का मदद। जब देश की जनसंख्या 130 करोड़ है तो 320 करोड़ लोगों को मदद कैसे किया।

जनता को रात दिन झुठबोलकर सरकार आंकड़ों के जाल में उलझा रही है।इतना ही नही जहां पूरा देश कोरोना महामारी से लड़ने में उलझा हुआ है वहीं हमारी वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण जी ने कोयला खदान और 6 हवाई अड्डे बेचने के लिए घोषणा कर दिए। लाल किला तो पहले से ही गिरवी है। क्या हमारे देश का कोई भी धरोहर बचेगा भी या भाजपा सरकार सारे के सारे बेंच डालेगी। जागो जनता जागो वरना किसी दिन पता चलेगा कि देश की पूरी जनता भी गिरवी रख दी गई है।

पटना संवाददाता

रजत कुमार

मोतिहारी जिलाधिकारी ने कर्पूरी ठाकुर महाविद्यालय में अवस्थित Quarantine center (संग रोधी केन्द्र) का निरीक्षण किया ।

जनबोल न्यूज

मोतिहारी जिलाधिकारी ने सदर प्रखंड के कर्पूरी ठाकुर,महाविद्यालय एवम् मॉडर्न पब्लिक स्कूल में अवस्थित Quarantine centres (संग रोधी केंद्रो) का निरीक्षण किया।निरीक्षण क्रम में जिलाधिकारी ने उक्त दोनों संग रोधी केंद्रो में निश्चित अवधि तक आवासित व्यक्तियों के भोजन/आवासन हेतु की गई तैयारियों का जायजा लिया।

उक्त अवसर पर जिलाधिकारी ने आवासित व्यक्तियों से बातचीत की एवम् उन्हें आश्वासन दिया गया कि जिला प्रशासन द्वारा निर्धारित मानकों के अनुसार उनके सुख सुविधा का पूरा ख्याल रखा जाएगा।कर्पूरी ठाकुर महाविद्यालय में अवस्थित Quarantine centre (संग रोधी केन्द्र) में निवासरत व्यक्तियों को जिला प्रशासन द्वारा संचालित परियोजना पाठशाला अभियान के संबंध में जानकारी दी गई।

कार्यक्रम से पूर्व जिलाधिकारी ने सदर अस्पताल निरीक्षण क्रम में पिकु वार्ड(PICU WARD) में उपलब्ध चिकित्सीय सुविधा एवं निबंधन काउंटर का जायजा लिया।उक्त अवसर पर स्वास्थ्य विभाग,आपदा प्रबंधन विभाग के सौजन्य से विशेष सुविधाओं से लैस तीन आपातकालीन चिकित्सीय सहायता वाहन को रवाना किया गया।

आज तीन वाहनों में से एक रक्सौल integrated check post पर,एक वाहन डुमरिया घाट चेक पोस्ट पर एवम् एक वाहन शहर में भ्रमणशील रहेंगे।उक्त तीन वाहनों द्वारा निर्धारित स्थलों पर प्रवासी श्रमिको को आवश्यकतानुसार आवश्यक/परिस्थितिजन्य चिकित्सीय सुविधा के अतिरिक्त पानी,ORS आदि उपलब्ध कराया जाएगा।आज आयोजित निरीक्षण क्रम में सहायक समाहर्ता श्री समीर सौरभ भी उपस्थित थे।

मोतिहारी  संवाददाता

ओ पी गुप्ता

lock down extended till 31st may : लॉक डाउन जारी है , कल से शुरू होने जारहे लॉकडाउन 4.0 में यह है अलग बात ।

जनबोल न्यूज

रविवार 17 मई का दिन लॉक डाउन 3.0 का अंतिम दिन था। इसके साथ हीं नई लॉक डाउन की घोषणा भी कर दी गयी है। नया लॉक डाउन फिर से 14 दिनों का होने जा रहा है यानि अब पूरे देश में 31 मई तक लॉक डाउन जारी रहेगा । यह देशबंदी का चौथा फेज होगा, जो सोमवार 18 मई से शुरू होगा और 31 मई को खत्म होगा। रविवार को लॉकडाउन का तीसरे फेज खत्म होने से करीब छह घंटे पहले राष्ट्रीय आपदा प्रबंधन प्राधिकरण यानी एनडीएमए ने केंद्र सरकार और राज्यों को देशबंदी जारी रखने के निर्देश दिए।  इसके बाद गृह मंत्रालय ने नई गाइडलाइंस जारी की है।

lock down 4.0 जारी होते हीं  अब लगातार 68 दिन तक बंदिशों में रहने का रिकार्ड भी हम बनाने जा रहे हैं। दुनिया के किसी भी देश में इतनी बड़ी आबादी के साथ इतने दिनों तक चलने वाला यह सबसे बड़ा लॉकडाउन है।

 31 मई तक क्या खुला रहेगा?

  • अगर राज्य सरकारों के बीच आपसी सहमति बन जाती है तो दो राज्यों के बीच यात्री बसों और गाड़ियों की आवाजाही हो सकेगी।
  • सरकारें अपने स्तर पर फैसला कर राज्यों के अंदर भी बसें शुरू कर सकेंगी।
  • स्पोर्ट्स कॉम्प्लेक्स और स्टेडियम खुल सकेंगे, लेकिन दर्शकों की इजाजत नहीं होगी।
  •  रेस्टोरेंट्स खुल सकेंगे लेकिन यहां से सिर्फ होम डिलिवरी की जा सकेगी। ग्राहक रेस्टोरेंट्स में बैठकर खाना नहीं खा सकेंगे।
  • सिर्फ वही होटल चालू रहेंगे, जहां हेल्थ, पुलिस, गवर्नमेंट ऑफिशियल्स, हेल्थ वर्कर्स और लॉकडाउन की वजह से फंसे पर्यटक रह रहे हैं।
  • बस डिपो पर चलने वाले कैंटीन, रेलवे स्टेशनों और एयरपोर्ट्स पर चलने वाली खाने-पीने की दुकानें खुली रहेंगी। 

31 मई तक यह बंद रहेंगे !

  • अंतरराष्ट्रीय और घरेलू यात्री उड़ानें बंद रहेंगी। मेट्रो रेल भी अभी शुरू नहीं होंगी।
  • सिनेमा हॉल, शॉपिंग मॉल, जिम, स्वीमिंग पूल, एंटरटेनमेंट पार्क, थिएटर, ऑडिटोरियम, असेंबली हॉल बंद रहेंगे।
  • स्कूल, कॉलेज, एजुकेशन, ट्रेनिंग, कोचिंग इंस्टिट्यूट भी 31 मई तक बंद रहेंगे। ऑनलाइन डिस्टेंस लर्निंग चलती रहेगी।
  • होटल और बार बंद रहेंगे। 
  • हर तरह के राजनीतिक, धार्मिक, सांस्कृतिक, सामाजिक कार्यक्रमों और जमावड़ों पर रोक जारी रहेगी।

ग्रीन, ऑरेंज और रेड जोन  तय करेंगे राज्य !

  • राज्य सरकारें खुद ही ग्रीन जोन, ऑरेंज जोन और रेड जोन तय करेंगी। उन्हें सिर्फ केंद्र सरकार और स्वास्थ्य मंत्रालय के पैरामीटर्स का ध्यान रखना होगा। 
  • रेड और ऑरेंज जोन के अंदर जिला प्रशासन कंटेनमेंट जोन और बफर जोन तय करेगा। 
  • कंटेनमेंट जोन में पहले की तरह सिर्फ जरूरी सेवाएं जारी रहेंगी। 
  • इन जोन्स के अंदर या बाहर लोगों की आवाजाही न हो, इसका सख्ती से पालन करना होगा। 
  • कंटेनमेंट जोन के अंदर कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग और घर-घर जाकर सर्विलांस बढ़ाना होगा।

रात का कर्फ्यू जारी रहेगा

शाम 7 बजे से सुबह 7 बजे तक लोग किसी तरह की आवाजाही नहीं कर सकेंगे। जरूरी सेवाओं पर यह प्रतिबंध लागू नहीं होगा। स्थानीय प्रशासन इस बारे में जरूरी आदेश जारी कर सकता है।

मोतिहारी : जब जिला प्रशासन ने लाया मजदूर का शव तब पूर्व विधायक ने कहा धन्यवाद !

मोतिहारी 

जनबोल न्यूज 

आज सुबह मुझे चंदन पटेल का फ़ोन आया कि रवीन्द्र कुमार साह ,पिता -जग्रनाथ साह, ग्राम- बारा जयराम ,प्रखंड-चिरैया ज़िला -मोतिहारी प्रवासी मज़दूर की घर लौटने के क्रम में ट्रक पर से सोए अवस्था में गिरने से परसों आगरा MM रोड में मृत्यु हो गया । लगभग 50 लोगों के साथ दिल्ली से चिरैया के लिए चला था ।सोए अवस्था में ट्रक से गिर गया पर अन्य लोगों को रात में पता नहीं चल पाया, साथ के लोगों को दिन होने पर पता चला तब तक ट्रक वाले लोग गोपालगंज पहुँच चुके थे। आगरा से फ़ोन आने पर घर वाले को पता चला। मृतक का शव को S N MEDICAL COLLAGE आगरा में रखा हुआ है । घर वाले से शव को आगरा से लाने के लिए प्राइवेट एम्बुलेंस 30 हज़ार रूपया माँग रहा था।
मैंने अविलंब ज़िला पदाधिकारी, पूर्वी चम्पारण को सूचना दी तथा सरकारी स्तर पर ब्यवस्था कर शव को मँगवाने का आग्रह किया।तत्काल सरकारी एम्बुलेंस से मृत परिवार के एक सदस्य संजय साह को घर से बुलाकर आगरा रवाना कर दिया गया है। ज़िला पदाधिकारी, पूर्वी चम्पारण को सूचना पर तत्क्षण संज्ञान लेने के लिए धन्यवाद ।
उक्त बातें ढ़ाका मोतिहारी से पूर्व विधायक पवन जयसवाल ने कही।

Reported By

Om Prakash Gupta

मोतिहारी : बस स्टैण्ड छतौनी में जीविका ने शुरू किया प्याऊ

जनबोल न्यूज

मोतिहारी

कोरोना वायरस के कारण अलग अलग राज्यों से प्रवासी मजदूर वापस राज्य लौट रहे हैं। इसे देखते हुए जीविका संगठन द्वारा संचालित प्याऊ का उदघाटन 16 मई को  बस स्टैण्ड छतौनी में किया गया है. इसका उद्देश्य अपने राज्य वापस लौट रहे मजदूरों और छात्रों को शुद्ध पेयजल और निंबु पानी उपलब्ध करवाना बताया जा रहा है। आपको बता दें की इसी तरह का प्याऊ केंद्र केसरिया प्रखण्ड के डुमरिया घाट पर भी उपलब्ध है। जिला परियोजना  प्रबंधक जीविका द्वारा जारी प्रेस विज्ञप्ति के अनुसार आने वाले समय में जिले के अन्य हिस्सों में इस तरह के प्याऊ केंद्र खोले जाने की संभावना है।

Reported By

Om Prakash Gupta