भारतीय किसान नेता सहजानंद सरस्वती (Sahjanand Saraswati ) का आज महाप्ररायण दिवस है। 26 जून 1950 के दिन हीं इनका महाप्रयाण बिहार के मुजफ्फरपुर में जमींदारी प्रथा के खिलाफ लड़ते हुए हुआ था। स्वामी सहजानंद सरस्वती का जन्म मुल रूप से उत्तर प्रदेश के जिला गाजी पुर के गॉव देवा में 22 फरवरी 1889 में एक किसान परिवार में हुआ था।

नौरंग राय से सहजानंद सरस्वती बनने का सफर

सहजानंद सरस्वती (Sahjanand Saraswati ) का असली नाम नौरंग राय है। उनका जन्म भूमिहार समाज से तालुक रखनेवाला परिवार में हुआ। उनेक पिता का नाम बेनी राय था वे मुल रूप से कृषि पेशे से जुड़े हुए थे। जब नौरंग राय 3 वर्ष के थे तो इनकी माता का देहानंत होगया था। माता के देहांत के बाद इनका लालन-पालन इनकी चाची नें की। नौरंग राय के भटकाव की स्थिति को देखते हुए साल 1905 में इनकी शादी करवा दी गई। शादी के एक वर्ष बाद हीं इनकी पत्नी का देहांत होगया। पहली पत्नी के मृत्यु के बाद परिवार चाहता था कि नौरंग राय दुबारा वैवाहिक जीवन जीने के लिए शादी करे। परिवार के इस दबाव से विरक्त नौरंग राय विद्रोह कर परिवार, रिश्तेदार और समाज की परवाह किये बिना शादी से मना कर दिया और भागकर काशी चले गये। काशी में आदि शंकराचार्य की परंपरा के स्वामी अच्युतानन्द से दीक्षा लेकर संन्यासी बन गए। बाद के दो वर्ष उन्होंने तीर्थों के भ्रमण और गुरु की खोज में बिताया। 1909 में पुन: काशी पहुंचकर दंडी स्वामी अद्वैतानंद से दीक्षा ग्रहणकर दंड प्राप्त किया और दंडी स्वामी सहजानंद सरस्वती बने।

जब ब्रह्मणों ने दंड धारण करने पर सवाल

जब नौरंग राय दंड धारण करके सहजानंद सरस्वती ( Sahjanand Saraswati ) बने तो समाज में फैली जातिवाद उन्हें भी नहीं छोड़ा।
दरअसल काशी के कुछ ब्रह्मों ने उनके संन्यास पर सवाल उठा दिया। उनका कहना था कि ब्राह्मणेतर जातियों को दंड धारण करने का अधिकार हीं नहीं है। स्वामी सहजानंद ने इसे चुनौती के तौर पर लिया और विभिन्न मंचों पर शास्त्रार्थ कर ये प्रमाणित किया कि हर योग्य व्यक्ति संन्यास ग्रहण करने की पात्रता रखता है।
अपने साथ हुए भेदभाव से आहत सहजानंद सरस्वती नें भूमिहार-ब्रह्मण परिचय नामक ग्रंथ लिखा जो आगे चलकर ब्रह्मषि वंश विस्तार के नाम से सामने आया। संन्यास के उपरांत उन्होंने काशी और दरभंगा में कई वर्षो तक संस्कृत साहित्य, व्याकरण, न्याय और मीमांसा का गहन अध्ययन किया। साथ-साथ देश की सामाजिक-राजनीतिक स्थितियों का अध्ययन भी करते रहे।

 

LPG Price hike

एक अप्रैल से नए वित्त वर्ष शुरू हुआ है। नए वित्त वर्ष में कई जरूरी चीजों के दाम बढाये गए है। खासकर  आम लोगों के लिए जरूरी रसोई गैस के एक हिस्से कॉमर्सियल रसोई गैस जिसका इस्तेमाल  बड़े होटलों और रेस्टोरेंट में किया जाता है उसके दामों में वृद्धि की गई है। कमर्सियल गैस सिलिंडर के दामों में 250 रूपये की वृद्धि की गई है। 19 किलो वाले सिलेंडर की कीमत 276.50 रुपये, जबकि 47 किलो वाले कामर्शियल सिलेंडर की कीमत 691.00 रुपये बढ़ा दी गई है। 10 किलो वाले कंपोजिट सिलेंडर की कीमत भी 15.50 रुपये बढ़ गई है। हालांकि घरेलू रसोई गैस सिलेंडर की कीमत में कोई वृद्धि नहीं की गई है।  नयी दरें एक अप्रैल 2022 से प्रभावी हो गई हैं।

कुछ दिन पहले 50 रूपये बढ़े थे घरेलु सिलेंडर के दाम

कॉमर्सियल सिलेंडर के दाम बढ़ने से पहले घरेलु सिलेंडर के भी दाम बढ़ाये जा चुके हैं। तब रसोई गैस की किमतों में 50 रूपये की वृद्धि की गई थी और एक सिलेंडर की कीमत हजार रूपये स् उपर चली गई थी। अब फिर से कॉमर्सिलय सिलेंडर की कीमते  बढ़ी है।  कॉमर्सियल सिलेंडर के दामों में वृद्धि होने से अब रेस्टोरेंट और होटलों के खाने पर इसका सिधा असर पड़ने वाला है।

Bihar board matric result : बिहार बोर्ड इंटर के रिजल्ट रिकार्ड समय सीमा के अंदर जारी करने के बाद अब मैट्रिक के रिजल्ट जारी करने की तैयारी में हैं। तैयारी की प्रक्रिया भी पूरी की जा चुकि है। कल 31 मार्च 2022 को परिणाम घोषित कर दी जायेगी। परिणाम जारी होने के बाद छात्र बिहार बोर्ड के अधिकारिक वेबसाइट biharboardonline.bihar.gov.in व biharboardonline.com , onlinebseb.in पर जाकर अपने परिणाम की जानकारी प्राप्त कर सकते हैं। इस बात की जानकारी BSEB की ऑफिसियल ट्वीटर एकाउंट से साझा की गई है।

Bihar byelection : यूपी चुनाव में 165 सीटों पर चुनाव लड़ने वाली विकास शील इंसान पार्टी के 3 विधायकों को अपने पाले में करने के बाद मुकेश सहनी को मंत्री मंडल से जरूर हटाने में कामयाब रही है लेकिन इन सब की वजह बनी बोचहां सीट को लेकर अब भी रक्षात्मक मुद्रा में नजर आ रही है। दरअसल विकासशील इंसान पार्टी के कोटे की खाली हुई बोचहां सीट पर अपने उम्मीदवार उतारने के साथ भाजपा ने उम्मीदवार को जीताने के लिए कुल 40 स्टार प्रचारक उतारने का फैसला किया है।

यह हैं स्टार प्रचारकों की सूचि

स्टार प्रचारकों की सूचि में भाजपा के बिहार प्रदेश अध्यक्ष संजय जयसवाल , सुशील मोदी, उप मुख्यमंत्री रेनु देवी, तारकिशोर प्रसाद के आलाव इन नामों को शामिल किया गया है। भूपेंद्र यादव, हरीश द्विवेदी, नित्यानंद राय, मंगल पांडे, गिरिराज सिंह,रवि शंकर प्रसाद, प्रेम कुमार, राधा मोहन सिंह, नंदकिशोर यादव, अश्विनी कुमार चौबे, नागेंद्र नाथ त्रिपाठी ,भिखूभाई दलसानिया, शाहनवाज हुसैन, राजीव प्रताप रूडी, जनक चमार, सम्राट चौधरी, रामसूरत कुमार, अजय निषाद, डॉ संजय पासवान, राजकुमार सिंह, विवेक ठाकुर, गोपाल नारायण सिंह, ओम प्रकाश यादव, राजेंद्र गुप्ता, मिथिलेश तिवारी ,राधा मोहन सिंह, प्रमोद चंद्रवंशी, पिंकी कुशवाहा, नीतीश मिश्रा, राजेश वर्मा, सिद्धार्थ शंभू, देवेश कुमार, संजीव चौरसिया, सुशील चौधरी, निवेदिता सिंह और लाजवंती झा शामिल है।

इनके बीच है मुकाबला

मुजफ्फर पुर के  बोचहां विधान सभा में होने जा रहे उप चुनाव में मुख्य मुकाबला भाजपा और राजद के बीच हीं होने की संभावना है। जहाँ राजद की ओर से विकासशील इंसान के दिवंगत विधायक मुसाफिर पासवान के बेटे अमर पासवान राजद की ओर से प्रत्याशी हैं वहीं भाजपा बेबी कुमारी को उम्मीदवार बनाया है।

Janbol News

रजौन, बांका : डीएन सिंह महाविद्यालय भूसिया के राष्ट्रीय सेवा योजना (एनएसएस) के बैनर तले आयोजित सात दिवसीय विशेष शिविर का समापन मंगलवार को रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम के साथ हो गया। जिसमें दीपनारायण सिंह महाविद्यालय के प्राचार्य, प्राध्यापक, छात्र-छात्राओं समेत एनएसएस के तमाम स्वयंसेवकों ने बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। इस दौरान दर्शक दीर्घा में बैठे सैंकड़ों की संख्या में अभिभावक, ग्रामीण एवं बच्चों ने सांस्कृतिक कार्यक्रम का जमकर आनंद लिया। समापन समारोह के मौके पर मुख्य अतिथि के रूप में दीपनारायण सिंह महाविद्यालय भूसिया के स्थापना काल के सचिव सह भूदाता डॉ. नरेश मोहन पांडेय एवं भूदाता सह सेवानिवृत्त प्रधानाध्यापक विश्वनाथ वर्मा उपस्थित थे। मालूम हो इस सात दिवसीय शिविर का शुभारम्भ 23 मार्च दिन बुधवार को आदर्श ग्राम बरौनी के सामुदायिक भवन में सेवानिवृत्त शिक्षक सह राष्ट्रपति पुरस्कार से पुरस्कृत जय नारायण प्रसाद चौधरी, कॉलेज के प्राचार्य प्रोफेसर जीवन प्रसाद सिंह, राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. राजीव रंजन सिंह, रजौन पंचायत की मुखिया रंजना देवी एवं पूर्व मुखिया विभाष चंद्र चौधरी ने संयुक्त रूप से दीप प्रज्वलित करते हुए किया था। वहीं शिविर के दूसरे दिन स्वच्छता अभियान चलाते हुए लोगों को सफाई के प्रति जागरूक किया गया। तीसरे दिन बरौनी में नशा मुक्ति को लेकर जागरूकता अभियान चलाया गया। चौथे दिन आपदा प्रबंधन सहित स्वास्थ्य पर चर्चा होने के साथ-साथ योगाभ्यास कराया गया, वहीं पांचवे दिन रविवार को निःशुल्क स्वास्थ्य शिविर लगाकर नेत्र विशेषज्ञ डॉ. एके चौधरी द्वारा लोगों का नेत्र जांच कराया गया तथा छठे दिन 28 मार्च दिन सोमवार को दीपनारायण सिंह महाविद्यालय भूसिया परिसर में पर्यावरण पर परिचर्चा के साथ-साथ पौधरोपण कार्य किया गया था। सात दिवसीय शिविर के समापन समारोह के अवसर पर आयोजित सांस्कृतिक कार्यक्रम के दौरान एक से बढ़ कर एक नृत्य, गीत, संगीत, नाटक, एकांकी तथा कॉमेडी प्रस्तुत कर एनएसएस के छात्र-छात्राओं ने दर्शकों को तालियां बजाने पर मजबूर कर दिया। इस क्रम में स्वच्छ भारत मिशन, दहेज प्रथा, बेटी पढ़ाओ बेटी बचाओ, पर्यावरण बचाओ, जल संरक्षण पर एकांकी प्रस्तुत कर दर्शकों को जागरूक करने का प्रयास किया गया। वहीं मौके पर मंच संचालक प्रोफेसर सुनील कुमार चौधरी, राष्ट्रीय सेवा योजना कार्यक्रम पदाधिकारी डॉक्टर राजीव रंजन सिंह, कॉलेज प्राचार्य प्रोफेसर जीवन प्रसाद सिंह, डॉक्टर अनिल कुमार राव, डॉक्टर गंगाधर सिंह, डॉ. अरुण कुमार सिंह, डॉ. अशोक प्रसाद सिंह, प्रोफेसर संजय प्रसाद सिंह, प्रोफेसर शबनम भारती, प्रोफेसर सविता कुमारी, प्रोफेसर मंजुरा आलम सहित काफी संख्या में अन्य लोग उपस्थित थे। राष्ट्रीय सेवा योजना के कार्यक्रम पदाधिकारी डॉ. राजीव कुमार सिंह ने जानकारी देते हुए बताया कि इस सात दिवसीय शिविर को सफलतापूर्वक सम्पन्न कराने में महाविद्यालय के प्राचार्य सहित तमाम प्राध्यापक, शिक्षक-शिक्षकेत्तर कर्मी, छात्र-छात्राओं एवं एनएसएस के सभी स्वयंसेवकों का महत्वपूर्ण योगदान रहा। इसके लिए डॉ. सिंह ने सभी के प्रति अपनी कृतज्ञता व्यक्त की है। वहीं मंगलवार को सांस्कृतिक कार्यक्रम में एनएसएस के स्वयंसेवक एवं महाविद्यालय के छात्र-छात्राओं ने बढ़ चढ़कर हिस्सा लिया। जिसमें नयन, प्रणव, साक्षी, सुगंधा, निशा, प्रेरणा, रीना, सोनी, दीपा, रेशम, शालू, कामना भारती आदि द्वारा रंगारंग सांस्कृतिक कार्यक्रम की भव्य प्रस्तुति की गई।

-प्रीतम कुमार राव

WABetainfo

Whtsapp update : वॉटसएप चलाने वाले लोगों के लिए एप जल्द हीं एक खुशखबरी ला रहा है। अब वॉटसएप पर बड़े फाइल्स को भी शेयर करने का फिचर देने जा रहा है। दरअसल पहले से फाइल्स शेयर करने की सीमा को बढ़ा कर अब 2 जीबी करने जा रहा है। इंस्टेंट मैसेजिंग एप वॉटसएप  इससे संबंधित फिचर टेस्ट भी करना शुरू कर चुका है।

Whtsapp ने शेयर की जानकारी

अपने सेवा से संबंधित जानकारी  लगातार Whtsapp update करता रहता है। इसबार भी Whtsapp की ओर से WABetainfo ने एक iOS डिवाइस के कुछ स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं, जहां यूजर को 2GB की फाइल साइज लिमिट का अलर्ट दिया गया है। इस लिमिट का मतलब है कि अब आप व्हाट्सएप के जरिए हाई रेजोल्यूशन वीडियो और बड़ी फाइल्स को आसानी से शेयर कर सकेंगे। यह फीचर इसलिए भी जरूरी है क्योंकि व्हाट्सएप के जरिए बड़ी फाइल्स भेजना एक मुश्किल टास्क बन जाता है।

Film on Nitish-Lalu

बिहार के राजनीति के दो धूर विरोधी लालू यादव और नीतीश कुमार की कहानी अब फिल्मी पर्दों पर उतरने जा रही है।लालू यादव के शासन काल की कहानी पहले भी प्रकाश झा की फिल्म गंगाजल और अपहरण जैसी फिल्मी के माध्यम से दिखाई जा चुकि है। इसके अलाव लालू यादव की पत्नी और बिहार की पहली महिला मुख्यमंत्री राबड़ी देवी के जीवन संघर्ष पर कुछ दिन पहले हीं वेब सिरीज महारानी आयी थी।

लालटेन में होगी लालू की जीवन कहानी

पहले बनी फिल्मी और वेब सिरिज तो चर्चा में अब भी हैं हीं। इसके अलाव बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव के उपर एक फिल्म लालटेन आने जा रही है। इस फिल्म में भोजपुरी अभिनेता यश कुमार लालू यादव के किरदार निभा रहे हैं। इसके अलाव फिल्म में राबड़ी देवी का भी किरदार हैं जिसे अभिनेत्री स्मृति सिन्हा निभा रही है।

नीतीश पर बन रही फिल्म सुशासन

बिहार की राजनीति में जब से नीतीश कुमार गद्दी संभाले हैं। नीतीश कुमार और उनके समर्थकों ने नीतीश के शासन को लालू यादव के शासन के तुलना में सुशासन नाम दिया है। अब बिहार की गद्दी तक नीतीश को पहुँचने की कहानी भी फिल्मी पर्दों पर उतरने जा रही है। दरअसल केशव मूवीज इंटरटेनमेंट सीएम नीतीश कुमार पर फिल्म सुशासन द बिगनिंग ऑफ न्यू इरा बनाने जा रही है। इस फिल्म के माध्यम से बिहार में 1990 से 2005 तक हुए राजनैतिक घटनाक्रम को दिखाया जाएगा.

Petrol price hike :  देश में पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छु रहे हैं। भारतीय तेल कंपनियों नें पेट्रोल डीजल के दाम में आज  शनिवार 26 मार्च को 80 पैसे की वृद्धि की।  इसतरह से पिछले पाँच दिनों में पेट्रोल की किमतों में 3.20 रूपये की वृद्धि की गई है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव का पड़ रहा असर

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद से ही कच्चे तेल के बाजार में उतार-चढ़ाव जारी है. मार्च के दूसरे हफ्ते में कच्चा तेल 139  डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया था। हालांकि, बीच में गिरावट के साथ फिर 100 डॉलर से भी नीचे चला गया था।

हर रोज अपडेट होता है तेल की कीमत।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत के आधार पर भारतीय बाजार में तेल की कीमतें हर रोज तेल कंपनियाँ अपडेट करती है। पेट्रॉल डीजल के दाम तय करने से पहले तेल कंपनियाँ हर रोज किमतों की समीक्षा करती है। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं। बताते चलें की भारत में नवंबर से तेल की कीमत में स्थिरता थी जिसके बाद 22 मार्च से तेल की किमतों में वृद्धि की जा रही है। मौजूदा वृद्धि पिछले 5 दिनों में चौथी वृद्धि है।

indian t20 team

जनबोल न्यूज 

T20 World cup 2021 टी20 विश्व कप के लिए भारतीय टीम का एलान हो गया है। इस बार की टी 20 विश्वकप भारत विराट कोहली की कप्तानी में खेलेगा है। इसके अलावा रोहीत शर्मा को टीम का उपकप्तान बनाया गया है। टीम में कई युवा खिलाड़ियों को जगह दिया गया है तो शिखर धवन और युजवेंद्र चहल जैसे खिलाड़ियों कोे बाहर का रास्ता दिखाया गया है। टीम में कुल 18 खिलाड़ी शामिल हैं जिसमें 15 खिलाड़ियों को प्लेंगी इलेवन में जगह देने के लिए रखा गया है तो तीन खिलाड़ी स्टैंड बाय के तौर पर रहेंगे। टीम में इंग्लैण्ड दौरे पर टीम से बाहर चल रहे आर अश्वीन को भी टी20 विश्व कप के टीम मे जगह दिया गया है ।

टी20 विश्वकप 2021 ( T20 World cup 2021 ) भारतीय टीम

टी20 विश्व कप 2021 (T20 World cup 2021) के टीम की घोषणा चेतन शर्मा की अगुआई वाली चयन समिति ने वर्चुअल प्रेस कॉन्फ्रेंस कर  की। इससे पहले इंग्लैंड में बीसीसीआई सचिव जय शाह, चेतन शर्मा और कप्तान विराट कोहली के बीच लंबी बैठक हुई थी, जिसमें टी20 वर्ल्ड के लिए भारतीय टीम को अंतिम रूप दिया गया था। जिन खिलाड़ियों को भारतीय टीम में शामिल किया गया वे इस प्रकार हैं- विराट कोहली (कप्तान), रोहित शर्मा (वीसी), केएल राहुल, सूर्यकुमार यादव, ऋषभ पंत (विकेटकीपर), ईशान किशन (विकेटकीपर), हार्दिक पांड्या, रवींद्र जडेजा, राहुल चाहर, रविचंद्रन अश्विन, अक्षर पटेल, वरुण चक्रवर्ती, जसप्रीत बुमराह, भुवनेश्वर कुमार, मोहम्मद शमी । टीम इन 15 खिलाड़ियों के अलावा स्टैंड बाय में श्रेयस अय्यर, शार्दुल ठाकुर, दीपक चाहर रहेंगे। इसके अलावा भारत को एक मात्र टी20 विश्वकप जीतवाने में सफल रहे महेंद्र सिंह धौनी को टीम के मेंटर के रूप में नियुक्त किया गया है।

कहाँ खेला जायेगा टी20 विश्वकप 2021

टी20 विश्वकप 2021 (T20 World cup 2021) की बात की जाये तो यह  17 अक्टूबर से 14 नवंबर के बीच यूएई और ओमान में होने वाला है जिसके लिए आज 15 सदस्यी टीम की घोषणा की गयी है।

jagdanan singh and sushil modi on taliban

जनबोल न्यूज

तालिबान अफगानिस्तान में ज्यादती करने वाला एक तबका है जो अब वहाँ की सत्ता तक पहुँच चुका है। तालिबान समस्या वैसे तो अंतर्राष्ट्रीय समस्या है। बिहार में आकर यह अंतर्राष्ट्रीय समस्या भी अब क्षेत्रिय समस्या बनकर रह गई है। दरअसल राष्ट्रीय जनतादल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह मंगलवार को राजद कार्यालय में पार्टी के सार्वजनिक मंच पर एक भाषण दिया जिसमें उन्होने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ( RSS )  की प्रवृति तालिबानी है। “तालिबान नाम नहीं, एक संस्कृति है. भारत में RSS तालिबानी हैं. ये लोग दाढ़ी काटते हैं। चूड़ी बेचने वाले और पंक्चर बनाने वाले को मारते हैं। इन सबके खिलाफ लालू यादव ने लंबी लड़ाई लड़ी, संघर्ष किया और इसलिए उन लोगों ने कहा- अरबपतियों की खिलाफत करता है, धार्मिक उन्मादियों के खिलाफ है, आडवाणी को गिरफ्तार करता है इसलिए लालू प्रसाद को जेल में डालो’।

जगदानंद के बयान पर पलटवार किये सुमो

राजद ( RJD) के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह द्वारा संघ को तालिबानी कहे जाने वाले भाषण पर भाजपा (BJP) नेता  सुशील मोदी ने पलटवार किया है। लालू-राबड़ी के कुशासन में बंदूक के बल पर अपहरण उद्योग चला, 100 से ज्यादा नरसंहार हुए और महिलाएँ घर से निकलने में डरती थीं। शिक्षा चौपट थी। विकास ठप था। लालू प्रसाद ने अपने दौर में बिहार को आज के अफगानिस्तान जैसा ही बना दिया था। लालू के जेल जाने पर उनकी ‘ खड़ाऊँ सरकार ‘ चलाने वाले जगदानंद को राजद में छिपा तालिबान क्यों नहीं दिखा? राजद के छोटे राजकुमार की इच्छा के मुताबिक काम करने और बड़े राजकुमार से लगातार अपमानित होने के दबाव में जगदानंद मानसिक संतुलन खो रहे हैं इसलिए वे हिंसा में विश्वास करने वाले बर्बर तालिबानियों की तुलना राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( RSS) से कर रहे हैं। लालू परिवार की भक्ति, पुत्र मोह और वोट बैंक की राजनीति करने में जगदानंद इतना नीचे गिर जाएँगे, यह किसी ने नहीं सोचा होगा।