jagdanan singh and sushil modi on taliban

जनबोल न्यूज

तालिबान अफगानिस्तान में ज्यादती करने वाला एक तबका है जो अब वहाँ की सत्ता तक पहुँच चुका है। तालिबान समस्या वैसे तो अंतर्राष्ट्रीय समस्या है। बिहार में आकर यह अंतर्राष्ट्रीय समस्या भी अब क्षेत्रिय समस्या बनकर रह गई है। दरअसल राष्ट्रीय जनतादल के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह मंगलवार को राजद कार्यालय में पार्टी के सार्वजनिक मंच पर एक भाषण दिया जिसमें उन्होने कहा कि राष्ट्रीय स्वयं सेवक संघ ( RSS )  की प्रवृति तालिबानी है। “तालिबान नाम नहीं, एक संस्कृति है. भारत में RSS तालिबानी हैं. ये लोग दाढ़ी काटते हैं। चूड़ी बेचने वाले और पंक्चर बनाने वाले को मारते हैं। इन सबके खिलाफ लालू यादव ने लंबी लड़ाई लड़ी, संघर्ष किया और इसलिए उन लोगों ने कहा- अरबपतियों की खिलाफत करता है, धार्मिक उन्मादियों के खिलाफ है, आडवाणी को गिरफ्तार करता है इसलिए लालू प्रसाद को जेल में डालो’।

जगदानंद के बयान पर पलटवार किये सुमो

राजद ( RJD) के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह द्वारा संघ को तालिबानी कहे जाने वाले भाषण पर भाजपा (BJP) नेता  सुशील मोदी ने पलटवार किया है। लालू-राबड़ी के कुशासन में बंदूक के बल पर अपहरण उद्योग चला, 100 से ज्यादा नरसंहार हुए और महिलाएँ घर से निकलने में डरती थीं। शिक्षा चौपट थी। विकास ठप था। लालू प्रसाद ने अपने दौर में बिहार को आज के अफगानिस्तान जैसा ही बना दिया था। लालू के जेल जाने पर उनकी ‘ खड़ाऊँ सरकार ‘ चलाने वाले जगदानंद को राजद में छिपा तालिबान क्यों नहीं दिखा? राजद के छोटे राजकुमार की इच्छा के मुताबिक काम करने और बड़े राजकुमार से लगातार अपमानित होने के दबाव में जगदानंद मानसिक संतुलन खो रहे हैं इसलिए वे हिंसा में विश्वास करने वाले बर्बर तालिबानियों की तुलना राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ( RSS) से कर रहे हैं। लालू परिवार की भक्ति, पुत्र मोह और वोट बैंक की राजनीति करने में जगदानंद इतना नीचे गिर जाएँगे, यह किसी ने नहीं सोचा होगा।

0Shares

Leave a Reply