जनबोल न्यूज

राजधानी पटना से सटे नौबतपुर NH139 मुख्य मार्ग पर नौबतपुर पुलिस द्वारा वाहन जांच के दौरान नौबतपुर पुलिस ने वाहन नंबर (HR 38Q 0264) एक कंटेनर से 44 पशुओं को बरामद किया गया। वहीं कंटेनर को जब्त कर चालक को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है।

आपको बता दें कि घटना के संबंध में नौबतपुर थानाध्यक्ष दीपक सम्राट ने बताया कि नौबतपुर पुलिस द्वारा वाहनों की जांच की जा रही थी। इसी दौरान पालीगंज की ओर से पटना की तरफ जा रहे एक कंटेनर को नौबतपुर पुलिस ने रुकने का इशारा किया गया। वाहन चालक ने गाड़ी को कुछ दूरी पर जाकर रोक दिया तथा पुलिस को देखकर वाहन चालक भागने की कोशिश करने लगा जिसे पुलिस ने दौड़कर पकड़ लिया।

पुलिस ने जब कंटेनर की तलाशी ली तो उसपर 44 मवेशी पाए गए। जिसमे 5 मवेशी के दम घुटने से मौत हो गई। सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार सभी पशु दुल्हिनबाजार थाना क्षेत्र से लादकर कोलकाता के लिए ले जाया जा रहा था। वाहन चालक फुलवारी थाना इलाके के बताया जा रहा है। पुलिस द्वारा वाहन को अपने कब्जे में कर लिया गया है। पुलिस ने चालक को थाना लाया एवं पशुओं को उतारकर सुरक्षित स्थान पर रखा है। फिलहाल पुलिस मामले की छानबीन करने में जुटी हुई है।

जनबोल न्यूज

राजधानी पटना के बिक्रम थाना क्षेत्र में आज बाइक सवार अपराधियों ने लूट कि घटना को अंजाम दिया है। जिसमे 80000 हजार रुपए लूटे जाने की जानकारी मिल रही।
आपको बता दें कि बिक्रम थाना क्षेत्र के चौठिया गाव निवासी राजनधारी सिंह बिक्रम बाज़ार स्तिथ पंजाब नेशनल बैंक से 80000 रुपए निकाल कर पैदल ही अपने घर जा रहे थे। तभी बाइक सवार अपराधियों ने उनपर मिर्ची स्प्रे मार कर पैसे से भरा झोला लेकर भाग निकले। उन्होंने बिक्रम थाना में अपराधियों के खिलाफ मामला दर्ज करवाया है। फिलहाल बिक्रम पुलिस मामले की जांच करने में जुट गई है।

जनबोल न्यूज

राजधानी पटना के बिक्रम इलाके में तालाब से एक महिला की लाश मिलने से इलाके में सनसनी फैल गई है। वहीं मृत महिला नालंदा जिले की रहने वाली बताई जा रही है।
आपको बता दें कि राजधानी पटना के बिक्रम क्षेत्र के रानी तलाब में एक महिला का छत विछत लाश को पुलिस ने बरामद किया किया है। वहीं स्थानीय लोगों का कहना है कि महिला के शरीर पर कई घाव का निशान है।

मृत महिला नालंदा ज़िले की रहने वाली है। जिसकी शादी परसा के बीबीगंज में पांच साल पहले हुई थी। मृत महिला के परिजनों का कहना है कि उसका पति लगतार दो लाख रुपये के लिए दबाव बना रहा था। उसका पति बोलता था कि दो लाख रुपया दो नहीं जान मार देंगे। वहीं परिजनों का आरोप है कि पैसे नहीं देने की वजह से उनकी उनकी बेटी की हत्या उसके पति ने ही की है और लाश को फेंक दिया है। फिलहाल पुलिस ने महिला के शव को कब्जे में ले लिया है। पुलिस मामले की जांच कर रही है।

जनबोल न्यूज

करगहर सासाराम चौथा पथ मंगलवार को करगहर प्रखंड मुख्यालय के समीप आमने सामने के अनियंत्रित अल्टो कार की बाईक से टक्कर हो गई।हादसे में बाईक सवार तीन लोग घायल हो गए।सभी घायलों को ग्रामीणों के मदद से पीएचसी पहुंचाया गया।जहाँ के चिकित्सकों ने प्राथमिक उपचार करने के बाद सभी घायलों की गंभीर स्थिति देखकर बेहतर इलाज हेतु सदर अस्पताल सासाराम रेफर कर दिया।

तीनों बाईक सवार घायल थाना क्षेत्र के बड़की खरारी गांव निवासी 70 वर्षीय राम लाल बैठा,उनके 52वर्षीय पुत्र बुटन बैठा,तथा उनके लड़की के 11वर्षीय पुत्र अंकित कुमार बतायें जाते है। जो अंकित कुमार को बाईक से लेकर उसके गांव नोनार जा रहे कि यह हादसे करगहर प्रखंड मुख्यालय के समीप सामने से आ रही अनियंत्रित अल्टो कार और बाईक की टक्कर हो गई।टक्कर होने के बाद अल्टो कार चालक अपनी गाड़ी वहाँ से निकाल कर लाकर सेमरी मोड़ के समीप खड़ा कर भाग निकला। जबकि अल्टो कार और बाईक भी क्षतिग्रस्त हो गई।सूचना पाकर पहुंची पुलिस अल्टो कार व बाईक को अपने कब्जे में लेकर अल्टो कार मालिक का नाम गाड़ी नम्बर से निकालने में खबर लिखे जाने तक जुटी थी।

जनबोल न्यूज

एक तरफ पूरा देश कोरोना जैसी वैश्विक महामारी से परेशान है और सरकार और जिला प्रसाशन लोगो को घर मे रहने के लिए जागरूक कर रही ऐसे में शराब कारोबारियों में तनिक भी डर नही है । वह लोग निडर होकर अपना कारोबार करने में मस्त है। । जी हां हम ऐसा इसलिए कह रहे है क्योंकि रविवार को दानापुर रेलमंडल के रेल० पी०पी० बिहटा में गाड़ी सख्या 03202 डाउन लोकमान्य तिलक टर्मिनल-राजेंद्र नगर कुर्ला एक्सप्रेस से कोच न०- S- 10 के गेट के पास से जीआरपी के जवानों के द्वारा चेकिंग के दौरान लावारिस हालत में 48 पीस टेट्रा पैक 08 pm का विष्कि अंग्रेजी शराब बरामद किया गया है। जो सभी 180ml का (उत्तरप्रदेश) द्वारा निर्मित है। जबकि पुलिस को देखते ही तस्कर फरार हो गया ,जिस सम्बन्ध में केश दर्ज किया गया है।

जनबोल न्यूज

कोरोना संक्रमण के बढ़ते फैलाव से पहले ही लोग डरे व भयवीत है और उपर से जिला प्रशासन एंव निगम प्रशासन की लापरवाही से मन्दिरीवासी कोरोना से मरने वाले लोगों के शव को मन्दिरी से सटे बाँसघाट विघुत शव दाह गृह के बगल मुख्य मार्ग से सटे जगह पर जलाने से भयवीय व डरे हुए है कि कहीं कोरोना से मरे लोगों के शव मुहल्ले से सटे जलने से इसका संक्रमण पुरे मन्दिरी मुहल्ले में न फैल जाये।इस सम्बन्ध में स्थानीय मुहल्लेवासियों ने जिलाधिकारी पटना से लिखित शिकायत करने के बावजूद इस पर रोक नहीं लग सका है।

जिला प्रशासन और पटना नगर निगम के सहयोग से कोरोना से मरने वाले लोगों के शव को जलाने के लिए शव दाह स्थल पर एकान्त जगह पर जहाँ पर लोगों का आना जाना न हो और घनी आवादी से अलग जगह पर जलाने का प्रावधान है लेकिन जिला प्रशासन और निगम प्रशासन इन प्रावधान को ताक पर रख बाँसघाट के पास मुख्य सड़क एंव मन्दिरी मुहल्ले से सटे जगह पर ही करोना से मरे लोगों के शव रात में आकर यत्र तत्र जलाकर चले जाते है जिसके कारण संक्रमण का खतरा मन्दिरी मुहल्ले पर मंडराने लगा है।

जबकि राजापुर भट्ठा के पास से गंगा किनारे शव दाह स्थल तक जाने का रास्ता है लेकिन जाने के बजाये शहरी क्षेत्र से सटे मन्दिरी मुहल्ले के सामने बाँसघाट के पास ही लाश जलाकर चले जाते है।हर दिन रात्रि 9 बजे के बाद कोरोना के मरे लोगों के शव को जलाकर मृतक के शव का सामान भी फेंक कर चले जाते है।
जिला प्रशासन से जल्द इसके समाधान के लिए पहल करने की माँग बिहार प्रदेश राष्ट्रीय जनता दल के सचिव अजय कुमार पटेल ने की है।

जनबोल न्यूज

वैसे तो पूरा देश कोरोना के संकट काल से जुझ रहा है लेकिन बिहार कोरोना संकट के अलावा भी एक संकट से जुझ रहा है यह है जातिवाद मानसिकता से निकलने का संकट। एक तो मरीज कोरोना का हो दूसरा दलित समाज से तो,मुश्किल और भी बढ़ जाता है। पिछले दिनों पटना एम्स में जो कुछ भी हुआ वह पूरी दुनिया के सामने है।

गृह विभाग के पूर्व अंडर सेक्रेट्री की मौत बेड होने के वाबजूद तड़प-तड़प कर हो जाती है। अंडर सेक्रेट्री उमेश रजक की मौत बिहार के सुशासन के साथ समाजिक न्याय वाली सरकार मे जारी जातिवाद को उघाड़ कर सबके सामने ले आया है। हालांकि सुशासन में जारी जातिवाद का यह कोई पहला मामला नहीं है एक साल पहले गोपालगंज में व्यापारी रामाश्रय कुशवाहा की दिन दहाड़े गोली मारकर हत्या कर दी जाती है आज तक लोगों को न्याय नहीं मिलता है। दरभंगा में ज्योति पासवान की बलात्कार के बाद हत्या कर दी जाती है लेकिन अबतक उसे न्याय नही मिल पाया है। उक्त बातें प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ मुन्ना कुशवाहा ने कहा।

डॉ.कुशवाहा ने आगे कहा कि कानून व्यवस्था की लचड़-पचड़ स्थिति के अलावा जिस प्रकार से बिहार में जातिवाद चरम सीमा पर है यह दिखाता है कि 15 सालों के शासन में सुशासनी सरकार ने कितना जातिवाद घोला है। अंडर सेक्रेट्री उमेश रजक की मौत के जिम्मेदार लोगों को सरकार अविलंब सजा दे। अनुसूचित जाति जनजाति और पिछड़ा समाज के साथ यदि आजादी से 73 वर्षों बाद भी अन्याय जारी है तो ऐसे में बहुजन समाज पार्टी बिहार जिम्मेदार लोगों को चिह्नीत कर सजा नहीं देने की सूरत में बड़े आंदोलन के तरफ बढ़ने के लिए मजबूर होग।

जनबोल न्यूज

पुनपुन प्रखंड के पटना गया रेलवे लाइन में पोठी स्टेशन के एक किलोमीटर आगे धरहरा गाँव के पास बिना रेलवे क्रॉसिंग के ही पार कर रहे धरहरा गाँव के दमाद बेटी और नाती की दुर्घटना स्थल पे ही हुई । मौत घटना इतना भयावह था की ट्रेन से घिसटाते हुए लगभग दो सौ मीटर तक चला गया और पूर्व की ओर रेलवे हण्टर में गिर गया, ग्रामीणों का कहना हैं की सुबह छः बजे पटना से रांची जाने वाली जनशताब्दी एक्सप्रेस से हुई टक्कर जिसमें गाँव के ही दमाद 32 वर्ष बेटी 28 वर्ष और नाती 6 वर्ष तीनो पटना से आ रहे थे और रेलवे क्रॉसिंग ज्योही पार कर रहे थे की पटना से तेज रफ्तार से आ रही जनशताब्दी एक्सप्रेस से बहुत बुरी तरह से टकरा गई और तीनो को मौके पर ही मौत हो गई |

Janbol News

बिहार में हर स्तर पर भ्रष्टाचार चर्मोत्कर्ष पर है। गोपालगंज में सत्तर घाट पुल का ढह जाना 29वें दिन हीं इसका ताजा उदाहरण जरूर है लेकिन पहला नहीं। साल 2018 में भी इसी तरह का मामला सामने आया था भागलपुर जिले से जहाँ उदघाटन के 4 दिन बाद हीं बांध टुट गया था तब यह बहाना बनाया गया था कि चुहा ने बाँध में छेद कर दिया था। दरअसल बिहार में असली चुहा एनडीए हीं है जो जनता के जेब को लगातार काट रही है उक्त बातें बहुजन समांज पार्टी के प्रदेश प्रभारी डॉ.मुन्ना कुशवाहा ने प्रेस विज्ञप्ति के माध्यम से कहा है।

डॉ.कुशवाहा ने आगे कहा है कि सिर्फ पुल निर्माण में हीं भ्रष्टाचार नहीं जारी है बल्कि हर स्तर पर भ्रष्टाचार का बोलबाला है। बिहार में शासन नाम की कोई चीज नहीं रह गयी है यही कारण है कि बिहार के सबसे बड़े अस्पताल पीएमसीएच में कोरोना का ईलायज करवाने आयी युवती से बलात्कार हो जाता है। दवा लाने गये एक व्यक्ति की भागलपुर में मौत हो जाती एम्बुलेंस आने तक में 12 घंटे का वक्त लग जाता है। सुपौल में  रोजाना एक डॉक्टर को अस्पताल जाने के लिए ठेले में चढ़ना पड़ता है। इन चारों घटनाओं को समग्रता में देखने पर यह साफ हो जाता है कि बिहार में कानून का राज की जगह जंगलराज स्थापित हो चुका है। नीतीश और लालू के राज्य में कोई अंतर नहीं दिख रहा है। एनडीए सरकार चुनाव के रास्ते विपक्ष को कोरोना के बहाने दबा कर सत्ता में आने का सपना छोड़ फिलहाल शासन सत्ता पर ध्यान दे। वर्ना जनता तैयार है जैसे को तैसा करने के लिए ।

 

जनबोल न्यूज

रोहतास के बाउर गांव के खेत में शुक्रवार को ठनका गिरने से धान रोपाई का कार्य कर रही दो महिला मजदूर बुरी तरह झुलस गई । जिन्हें के ग्रामीणों के मदद से निजी अस्पताल में भर्ती कराया है ।

शुक्रवार की दोपहर में तेज बारिश व  वज्रपात होने लगी । जिसे देखते हुए खेतों में धान की रोपनी कर रही महिला मजदूर अपने घरों की ओर भागने लगी ।

महिला मजदूरों के समीप ही ठनका गिर गया ।जिससे दो महिलाएं झुलस गई तथा आधा दर्जन तेज आवाज और दहशत से जमीन पर गिर पड़ी ।

वज्रपात से झुलसने वाली महिलाओं में बाऊर निवासी नागा पासवान की पत्नी मनाको देवी  तथा राम दुलार पासवान की पुत्री कंचन देवी बताई गई हैं । इलाज कर रहे चिकित्सकों के मुताबिक वज्रपात से झुलसी महिलाएं खतरे से बाहर हैं ।

रोहतास संवाददाता

मो०शमशाद आलम