decision about extension of lock down in India : लॉकडाउन बढ़ेगा या नहीं फैसले का दिन फाइनल हुआ।

Janbol News

देश में कोरोना वायरस के बढ़ते मामले के बीच प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज विडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए सर्वदलीय बैठक किया।

बैठक में प्रधानमंत्री  ने देश में लॉकडाउन को और आगे बढ़ाने के संकेत दिए हैं।

पीएम ने इस दौरान कहा कि वह 11 अप्रैल को फिर से सभी राज्यों के सीएम से बात करेंगे।

सांसदों के साथ बातचीत के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि देश में स्थिति ‘सामाजिक आपातकाल’ के समान है ।

इसके लिए कड़े फैसलों की जरूरत है और साथ हीं हमें सतर्क रहने की भी जरूरत है।

राज्यों, जिला प्रशासन और विशेषज्ञों ने वायरस के प्रसार को रोकने के लिए लॉकडाउन को आगे बढ़ाने का सुझाव दिया है।

यह भी पढ़ें : Market में अब आ चुका है कोरोना , कोविड और लॉकडाउन बच्चा

कई राज्यों ने की थी लॉकडाउन बढ़ाने की अपील 

यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ, तेलंगाना के सीएम चंद्रशेखर राव, मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान ने लॉकडाउन बढ़ाने का आग्रह किया था । माना जा रहा है कि अब पीएम मोदी देश के सीएम के साथ एक अन्य बैठक के बाद के बाद लॉकडाउन पर कोई फैसला ले सकते हैं। सब की निगाहें 11 अप्रैल को प्रधानमंत्री मोदी के साथ मुख्यमंत्रीयों के साथ  बैठक पर टिकी है।

child name in India : अब बच्चों का नाम भी रखा जाने लगा , लॉकडाउन ,कोरोना और कोविड

देश में फिलहाल 21 दिनो के लिए लॉक डाउन है। लॉक डाउन क्यों है ?

वही COVID19 और corona बिमारी का खौफ जो एक दूसरे से मिलने जुलने से फैल रहा है।

हममें से ज्याद लोग लॉक डाउन से उबने लगे हैं लेकिन एक परिवार ऐसा भी है जो ताउम्र लॉक डाउन के साथ रहना चाहते हैं।

दरअसल मध्य प्रदेश के श्योपुर जिले के एक किसान ने बच्चे का नाम ‘लॉकडाउन’ रखा है।

किसान का नाम रघुनाथ माली और पत्नी का नाम मंजू है।

नवजात  का जन्म 6 अप्रैल को हुआ है जब देश भर में लॉक डाउन जारी था और यादगार बनाने के लिए बच्चे का नाम हीं लॉक डाउन रख दिया।

छत्तीसगढ़ में है कोरोना और कोविड 

ठीक लॉकडाउन की तरह 26 मार्च को छतीसगढ़ की राजधानी रायपुर में एक दंपत्ति ने जुड़वा बच्चे को जन्म दिया ।

दंपति ने अपने जुड़वा बच्चों का नाम कोरोना और कोविड रखा है।

दंपति ने ऐसा  लॉकडाउन के चलते डिलीवरी में आई मुश्किलों को यादगार बनाने के लिए किया है।

दरसअल बच्चों के जन्म के बाद आसपास के लोग  अस्पताल में भी उन्हें कोरोना और कोविड बुलाने लगे।

ऐसे में दंपति ने भी लड़की का नाम कोरोना और लड़के का नाम कोविड हीं  रख दिया।

statue of unity on olx : जब Olx पर सेल के लिए आया statue of unity ?

जनबोल न्यूज

एक तरफ पुरा देश कोरोना की महामारी से परेशान है। राष्ट्रपति से लेकर सांसद निधि तक में कटौती हो रही है।

लॉक डाउन के पहले दिन से statue of unity पर खर्च किये गए पैसों की तुलना अस्पताल पर किये जा रहे पैसों से किया जा रहा था।

एक व्यक्ति  ने इन सबसे आगे बढ़ते हुए OLX पर statue of unity को हीं Sale  पर लगा दिया।

हालांकि statue of unity बेचने  का दावा करने वाला व्यक्ति चुकि इसके लिए अधिकृत नही था इस आधार पर केस दर्ज कर दिया गया है।   ऑनलाइन विज्ञापन देने वाले व्यक्ति के खिलाफ नर्मदा जिले की केवडिया पुलिस ने एफआईआर दर्ज की है।

ओएलएक्स वेबसाइट पर दिए गए इस विज्ञापन में स्टैच्यू की कीमत 30 हजार करोड़ लगाई गई थी।

विज्ञापन में कहा गया था कि स्टैच्यू बेचकर कोरोना का इलाज करने में जुटे अस्पतालों और इसकी सुविधाओं पर होने वाले सरकार के खर्च की भरपाई की जाएगी।
आपको बता दें की स्टैच्यू ऑफ यूनिटी सरदार पटेल का स्मारक है।

इसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 2018 में किया था।

इसकी ऊंचाई 182 मीटर है और यह दुनिया की सबसे बड़ी स्टैच्यू है।

 

शनिवार को विज्ञापन olx पर आया  था

केवडिया पुलिस स्टेशन के अधिकारियों के मुताबिक, किसी अनजान व्यक्ति ने शनिवार को यह विज्ञापन दिया था।

मीडिया में   खबर आने के बाद स्मारक की देखरेख करने वाले अधिकारियों को इसका पता चला।

उन्होंने पुलिस से संपर्क किया, जिसके बाद कार्रवाई की गई।

विज्ञापन देने वाले के खिलाफ आईपीसी के तहत धोखाधड़ी, महामारी कानून और आईटी कानून के तहत मामला दर्ज किया गया है।

 

मुखिया बादल के द्वारा किया गया आइसोलेशन वार्ड का शुभारंभ |

नवादा जिला अंर्तगत मेसकौर प्रखण्ड के आर्दश राजकीय मध्य विद्यालय बैजनाथपुर में बारत पंचायत मुखिया कन्हैया कुमार बादल के द्वारा आइशोलेसन सेंटर का शुभारम्भ किया गया

आइसोलेशन सेंटर वैसे व्यक्ति के लिये बनाया गया है जो बाहर परदेश से अपने गाँव आए हैं और इधर उधर घूमते फिर रहे हैं | बताते चलें कि 1 चिकित्सकों के अनुसार बिहार से जो भी बाहर से आ रहे हैं।

सभी को स्थानीय सरकारी विद्यालय में बने आइसोलेशन वार्ड में 14 दिनों तक रहने को सलाह दिया जा रहा है | कन्हैया कुमार बादल का कहना है की कोरोना से संक्रमित व्यक्ति की पहचान के लिये आइसोलेशन सेंटर का निर्माण किया गया है

जिसमें बाहर से आ रहे व्यक्ति को सेंटर मेंं आइसोलेट कर उनकी जाँच करने के बाद हीं उनको अपनें घर व परिवार के पास भेजा जायेगा मेसकौर प्राथमिक स्वास्थ केंन्द्र की जाँच टीम लगातार बाहर से आ रहे लोगों की जाँच में जुटी हुई है वहीं इस सेंटर में बादल मुखिया के तरफ से खाने पीने की सुविधा भी मुहैया कराया जा रहा है |

बादल मुखिया की कोशिश है। की अपने पंचायत में कोई भी मरीज कोरोना से संक्रमित ना हो इसके लिये लगातार प्रयास जारी है बादल मुखिया की इस कार्य के लिए स्थानीय प्रशासन और स्थानीय लोग स्थानीय ग्रामीण भी खुब सराहनीय बताया |

चंदन कुमार

नवादा

लॉकडाउन में डाक विभाग की अनोखी पहल।

 

 

नवादा डाक विभाग अब सिर्फ पत्र बांटने का काम नहीं करता बल्कि विपरीत परिस्थितियों में सामाजिक कार्यों का भी बखूबी निर्वहन करना जनता है।  बिहार के पोस्ट मास्टर जनरल अनिल कुमार के निर्देशन में पूरे बिहार में एक अनोखी पहल शुरू की गई है।

विश्वव्यापी कोरोना वायरस के खिलाफ जारी जंग को लेकर घोषित लॉकडाउन में रियायती कीमतों पर लोगों को खाद्दान्न सामग्री उपलब्ध करा रहा है |

बुधवार को नवादा के हिसुआ उप डाकघर के पास इसकी शुरुआत की गई इस मौके पर पार नवादा डाकघर पोस्ट मास्टर जितेंद्र कुमार ने कार्यक्रम की शुरुआत करते हुए स्थानीय मुहल्ले वासियों को चावल, दाल, आटा, आलू , दूध सहित अन्य सामग्री को रियायत कीमत पर उपलब्ध कराया।

पोस्ट ऑफिस की इस व्यवस्था के पहले ग्राहक बने भाजपा नगर अध्यक्ष सह वार्ड पार्षद अशोक चौधरी इस मौके पर खरीदारी करने वाले स्थानीय लोगों ने बताया कि इस व्यवस्था से लॉकडाउन को सफल होने में मदद मिलेगी पार नवादा डाकघर के पोस्टमास्टर जितेंद्र कुमार ने बताया कि पोस्ट मास्टर जनरल के इस अभियान से लोगों को सहूलियत मिलेगी तथा केंद्र सरकार को कोरोना के विरुद्ध जारी जंग में सफलता मिलेगी |

कार्यक्रम के दौरान रामजी राय, सुरेंद्र कुमार , जय कुमार सिंह, अभय शंकर, अनिल शर्मा सहित अन्य डाककर्मी मौजूद रहे |

 

 

राकेश कुमार चंदन

नवादा

नवनियुक्त पदाधिकारियों को अजय पासवान ने बधाई दिया ।

भाजपा प्रदेश अध्यक्ष द्वारा नवनियुक्त प्रदेश के पदाधिकारियों के घोषणा के बाद  भाजपा जिलाध्यक्ष अरवल अजय पासवान जी, महामंत्री शंकर सिंह, श्रीकांत शर्मा, जिला मीडिया प्रभारी चंदन चंद्रवंशी, प्रदेश कार्यसमिति सदस्य किसान मोर्चा हरेंद्र नारायण सिंह, कन्हैया चंद्रवंशी,युवा प्रदेश प्रवक्ता ओम प्रकाश यादव, जिला उपाध्यक्ष प्रमिला सिन्हा, मंत्री केशांति देवी, शेषनाग ठाकुर ,मृत्युंजय यादव एवं जिला के सभी भाजपा कार्यकर्ताओं ने खुशी जाहिर करते हुए बधाई एवं शुभकामनाएं दी!

जिलाध्यक्ष अजय पासवान ने कहा कि ऊर्जावान पदाधिकारियों का पद पर मनोनयन पार्टी हित के लिए सार्थक एवं उपयोगी सिद्ध होगा, संगठन महामंत्री का दायित्व पुनः विस्तार होने पर नागेंद्र जी को एवं सह संगठन मंत्री शिवनारायण जी प्रदेश उपाध्यक्ष राजेंद्र सिंह, मिथिलेश तिवारी,प्रमोद चंद्रवंशी, श्रीमती पिंकी कुशवाहा ,प्रदेश मंत्री अमृता भूषण, अजय यादव, पूनम शर्मा ,क्षेत्रीय संगठन मंत्री मगध भोजपुर और रोहतास का दायित्व अभय गिरी जी को एवं जिला प्रभारी सी डी सिंह को मिलने पर ढेर सारी शुभकामनाएं एवं बधाई दिए!

प्रधानमंत्री जी के द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू को मिलकर सफल बनाने के लिए लोगों से अपील की।

Motihari:- मोतिहारी के संग्रामपुर में ट्रक-पिकअप में टक्कर, बाल-बाल बचे चालक

Janbol News

शनिवार को मोतिहारी के संग्रामपुर में ट्रक और पिकअप में टक्कर मार दी।

जिसमें दोनों के चालक बाल-बाल बच गए है।

अरेराज केसरिया SH-74 पर पिकअप और ट्रक आपस मे टकरा गए।

टक्कर में केवल गाड़ियाँ छतिग्रस्त हुईं हैं।

दोनों गाड़ी के चालक बाल -बाल बचे हैं।

 

आलोक सिंह की रिपोर्ट

Corona Updates:- भारत में कोरोना फैलने के पीछे भाजपा की सरकार ज़िम्मेवार- धनेश्वर महतो

Janbol News

शनिवार को भारतीय मित्र पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष धनेश्वर महतो ने प्रेस वार्ता की।

जिसमें उन्होंने कहा कि-

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 22 मार्च को जनता कर्फ्यू लगाने का कहा है।

अब सवाल ये उठता है कि क्या एक दिन घर में बंद होने से कोरोना वायरस नहीं होगा।

क्या अगले दिन वह घर से बाहर निकलेगा तो कोरोना वायरस नहीं खेलेगा।

जिस व्यक्ति को कोरोना वायरस है वह अपने घर में रहेगा तो क्या उसके परिवार वाले को कोरोना वायरस नहीं होगा।

उन्होंने कहा कि-

बहुत बेतुका मोदी जी का प्रमाण होता है।

देश की भोली-भाली जनता थोड़ा साफ सोचे कि मोदी जी की बात में कितनी दम है।

मोदी सरकार बिना सोचे-समझे बिना रणनीति तैयार करती है

श्री महतो ने कहा कि-

हिंदुस्तान में कोरोना वायरस कैसे आया इसकी जिम्मेदार भारतीय जनता पार्टी की सरकार है।

क्योंकि जब चाइना के अंदर कोरोनावायरस खेल रहा था उसी टाइम में भारत सरकार को कदम उठाना चाहिए था।

विदेश की कोई भी नागरिक भारत में प्रवेश करता है तो उसकी पहले पूरी जांच हो।

उसके बाद ही देश के अंदर आने दिया जाए।

लेकिन नहीं बड़े आसानी से हर व्यक्ति को एंट्री मिली।

भारत में कोरोना वायरस उसी का खामियाजा है।

मोदी सरकार पहले काम करती है बाद में सोचती है कि हम ने सही किया या गलत किया।

जैसे याद होगा आपको नोटबंदी से देश को कितना नुकसान हुआ यह पूरे देश की जनता जानती है।

जीएसटी लगाने से देश को कितना क्षति हुआ हर व्यक्ति-व्यापारी जानता है।

नागरिकता संशोधन कानून को लाने से देश में कितने दंगे-फसाद हुए यह पूरा देश जानता है।

मोदी सरकार बिना सोचे-समझे बिना रणनीति तैयार करती है।

एक हिटलर की तरह फरमान जारी कर देती है।

बाद में उसे फजीहत उठानी पड़ती है।

जैसे कहावत है अनाड़ी का खेलना खेल का सत्यानाश, उसी प्रकार मोदी सरकार जब से देश में सत्ता में आई है तब से देश का दर्द बढ़ा है।

इन्हीं के मंत्री फाइव स्टार होटलों में पार्टियां करते हैं

Corona से बचाव के लिए NSS ने चलाया जागरूकता अभियान

Janbol News

कोरोना वायरस से बचाव के लिए शुक्रवार को राष्ट्रीय सेवा योजना बी एस

काॅलेज दानापुर इकाई द्वारा जागरूकता अभियान चलाया गया।

जिसका नेतृत्व एन एस एस सदस्य सिद्धार्थ भारद्वाज ने किया।

सिद्धार्थ ने कोरोना से बचाव को लेकर प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी द्वारा 22 मार्च को जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील की।

लोगों में कोरोना वायरस से बचाव को लेकर छात्रों के साथ नगर भ्रमण कर लोगों के बीच हैंडबिल वितरण किया।

नगर भ्रमण बीबीगंज से सदर बाजार इमलीतल गोलापर तरकरिया बाजार होते हुए काॅलेज प्रांगण में जाकर समाप्त हुआ।

इस दौरान सदस्यों ने चौक-चौराहों पर रूक लोगों को कोरोना से बचाव को लेकर जानकारी देते हुए जनता कर्फ्यू को सफल बनाने की अपील की।

साथ ही कोरोना वायरस से बचाव के तरीके तथा बीमारी के लक्षण दिखने पर क्या करना चाहिए आदि के बारे में विस्तृत जानकारी दी।

मौके पर लोगों को बताया गया कि-

जब तक बहुत जरूरी ना हो, घर से बाहर ना निकले।

अगर निकलना ही पड़ा तो हाथ से किसी चीज को छूने से बचें, अगर कोई चीज हाथ से छू जाती है तो हाथ को जरूर सैनिटाइज करें।

हाथ को थोड़ी-थोड़ी देर पर जरूर धोते रहे।

सिद्धार्थ ने बताया कि जैसा कि सभी जानते हैं अभी तक इस बीमारी की कोई दवा उपलब्ध नहीं है।

ऐसी परिस्थिति में बचाव ही एकमात्र उपाय है।

हमें यह सीखना होगा कि हम कैसे बचें और लोगों को बचाएं।

जागरूकता कार्यक्रम में विकास सिंह, शुभम कुमार, शत्रुघ्न, दिव्यांशु, अभिषेक अभिमन्यू, राजा पवन आदि शामिल थे।

Corona को लेकर BDO ने प्रखंड के डीलरों के साथ बैठक की और आवश्यक निर्देश दिए

Janbol News

नारदीगंज प्रखंड के वीडियो ने कोरोना वायरस को लेकर डीलरों के साथ बैठक की।

बी.डी.ओ राजिव रंजन ने बताया कि-

कोरोना एक संक्रमित बीमारी है।

इस बीमारी से बचने के लिए प्रखंड के सभी डीलरों को अपने-अपने उपभोक्ताओं को जागरूक करने के लिए कहा गया।

वहीं खाद्य वितरण के समय ग्रुप बनाकर नहीं आने के भी दिशा-निर्देश दिए गए।

साथ ही सभी लोगों को मास्क लगाने और डिटाॅल से हाथ को सफाई करने के लिए बताया गया।

ताकि कोई भी व्यक्ति कोरोना वायरस का शिकार ना हो सके।

 

राकेश कु. चंदन की रिपोर्ट

BJP किसान मोर्चा के प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह बने प्रदेश प्रवक्ता

Janbol News

भाजपा किसान मोर्चा के निवर्तमान प्रदेश अध्यक्ष अखिलेश सिंह को बिहार प्रदेश भाजपा का प्रदेश प्रवक्ता नियुक्त किया गया है।

अखिलेश सिंह के प्रदेश प्रवक्ता नियुक्त किये जाने पर मंत्री कला-संस्कृति एवं युवा विभाग,बिहार सरकार प्रमोद कुमार,

मोतिहारी जिलाध्यक्ष भाजपा प्रकाश अस्थाना, कल्याणपुर विधायक सचिन्द्र प्रसाद सिंह, पिपरा विधायक श्यामबाबू यादव,

विधान पार्षद बब्लू गुप्ता, राष्ट्रीय कार्यसमिति सदस्य राजेन्द्र गुप्ता, ज़िला महामंत्री त्रय डॉ०लालबाबू प्रसाद, विवेकानंद पाण्डेय

मार्तण्ड नारायण सिंह, पूर्व जिलाध्यक्ष चंद्रकिशोर मिश्रा, सुनील मणि तिवारी, जिलाध्यक्ष अल्पसंख्यक मोर्चा मोहिब्बुल हक़,

मीडिया प्रभारी भाजपा गुलरेज शहजाद, निधि प्रमुख मो०कलाम, कोषाध्यक्ष भाजपा कुमार विजय टिंकू, जिला उपाध्यक्ष अनिल राय,

बसंत मिश्रा, नगर अध्यक्ष उत्तरी मंडल योगेन्द्र प्रसाद, नगर अध्यक्ष दक्षिणी मंडल रविभूषण श्रीवास्तव, जिला संयोजक आईटी

सेल पंकज सिन्हा, जिला मंत्री विनोद कुशवाहा, देवेश सिंह, राकेश गुप्ता आदि ने प्रदेश अध्यक्ष और पार्टी के शीर्ष नेतृत्व के प्रति आभार व्यक्त किया है।

उक्त आशय की जानकारी जिला मीडिया प्रभारी, भाजपा गुलरेज शहजाद ने जारी विज्ञप्ति के माध्यम से दी।

 

ओमप्रकाश गुप्ता की रिपोर्ट

Motihari में नियोजित शिक्षकों के आंदोलन का 33वां दिन, अब चौक-चौराहे पर करने लगे मास्क वितरण

Janbol News

बिहार राज्य शिक्षक संघर्ष समन्वय समिति जिला इकाई पूर्वी चंपारण के जिला संयोजक प्रमोद कुमार यादव ने विद्यालयों

में अनिश्चितकालीन हड़ताल एवं तालाबंदी के 33वें दिन स्थानीय चरखा पार्क धरना स्थल पर सभा को संबोधित किया।

उन्होंने कहा कि-

हमारा संगठन लोकतंत्र की मर्यादा में रहते हुए अपने संवैधानिक अधिकार के लिए अहिंसक और शांतिपूर्ण आंदोलन में लगे हुए हैं।

साथ ही साथ सामाजिक सरोकार का सच्चा परिचय देते हुए चौक चौराहे और गांव-गांव

जाकरकोरोना वायरस जैसे महामारी के लक्षण एवं बचाव का उपाय बता रहे हैं।

बल्कि इससे संबंधित सामग्री सैनीटाइंजर साबुन और मास्क का भी वितरण कर रहे हैं।

लेकिन लोकतंत्र का गला घोटने वाली यह सुशासन की सरकार रोज-रोज सैकड़ों हड़ताली शिक्षकों को निलंबन कर रही है।

बावजूद इसके हमारे क्रांतिकारी शिक्षक और संगठन आंदोलन की राह पर अड़िग है।

जब तक सरकार हमारी सभी मांगों को मान नहीं लेती है।

लोगों के बीच मास्क, साबुन सैनिटाईजर आदि का वितरण

समन्वय समिति के जिला सचिव संजीत सिंह, जिला समन्वयक डा राधा मोहन यादव, जिला उपाध्यक्ष धर्मेन्द्र कुमार सिंह, विवेक

भूषण रीता गुप्ता, श्रीनिवास प्रसाद, कमलाकान्त सिंह, सज्जन यादव, रितेश रंजन आदि लोगों ने भी सभा को संबोधित किया।

इसके बाद 3:00 बजे से स्थानीय स्टेशन चौक पर जाकर कोरोना वायरस के लक्षण एवं बचाव के बारे में लोगों को बताकर जागरूकता कार्यक्रम किया गया।

और लोगों के बीच मास्क, साबुन सैनिटाइजर आदि का वितरण किया।

कार्यक्रम में सरोज रजक, ओनम सिंह, शशि कुमारी, वीना कुमारी, महफूजुर्रहमान, के डी राम, ध्रूप प्रसाद, धर्मेन्द्र यादव,

अभिषेक कुमार, कुमारी मंजू, गुड़िया कुमारी, तर्रनुम जहाँ, पूनम कुमारी, कृष्णा कुमारी, राधिका देवी, उमरावती देवी,

अरविन्द कुमार, शिव शंकर यादव, आनन्द कुमार यादव, सत्येन्द्र कुमार, नगीना राम, हरिशंकर प्रसाद, महंथ राम,

भिखारी बैठा, सुधीर यादव, अनु कुमार, सकलदेव राम, दीपक पासवान, रामाशीष बैठा, राम सागर प्रसाद, नीतेश कुमार ठाकुर,

सरिता कुमारी, उपेन्द्र कुमार, मनोज कुमार, रवीन्द्र कुमार, मो मन्जारुल, कीर्ति सिन्हा, गुड्डू सिंह सहित सैकड़ो शिक्षक उपस्थित थे।

 

ओमप्रकाश गुप्ता की रिपोर्ट

Nirbhaya को इंसाफ मिलने पर अन्ना हजारे ने तोड़ा मौन व्रत, 90 दिन से थे मौन व्रत पर

Janbol News

शुक्रवार को निर्भया के चारों दोषियों को मुकेश, अक्षय, विनय और पवन को दिल्ली की तिहाड़ जेल में फांसी दे दी गई।

इसके बाद समाजसेवी अन्ना हजारे ने अपना मौन व्रत तोड़ दिया।

वे निर्भया को न्याय दिलाने की मांग को लेकर पिछले 90 दिनों से मौनव्रत में थे।

चारों दोषियों को फांसी की खबर मिलते ही अन्ना हजारे ने शुक्रवार को संत यादव बाबा का दर्शन किया।

और जल पीकर अपना मौन व्रत तोड़ा।

20 दिसंबर से मौन व्रत पर थे अन्ना

अन्ना 20 दिसंबर से मौन व्रत में थे।

सुप्रीम कोर्ट द्वारा निर्भया के दोषियों की फांसी की सजा बरकरार रखने के बाद अन्ना मौन व्रत पर चले गए थे

जब तक दोषियों को फांसी नहीं दी जाती तब तक मौन व्रत रखेंगे।

अन्ना ने केंद्र और राज्य सरकार से मांग की थी कि

अपराधियों के मन में डर बैठे, इसके लिए महिला सुरक्षा से जुड़े और सख्त कानून बनाया जाए।

अब तक 12 बार मौन व्रत पर रह चुके हैं अन्ना

इसके पहले अन्ना ने 12 बार मौन व्रत आंदोलन किया है।

अन्ना के सहयोगी संजय पठाडे ने बताया कि-

1990 में अन्ना ने 44 दिन का मौन व्रत किया था।

लेकिन इस बार अन्ना 90 दिन तक मौन व्रत रखे।

इस दौरान वह कागज पर अपनी बात लिखकर बात करते थे।

Corona को लेकर पप्पू यादव ने शुरू किया जन जागरूकता अभियान, लोगों के बीच बाटें साबुन और मास्क

Janbol News

शुक्रवार को जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पप्पू यादव ने कोरोना वायरस के प्रकोप को देखते हुए लोगों के बीच जन जागरूकता अभियान चलाया।

इस दौरान पटना के प्रेमचंद्र गोलंबर पर पटनावासियों के बीच लगभग 5000 मास्क और साबुन वितरित किया गया।

मौके पर पप्पू यादव ने कहा कि-

हमारी पार्टी के कार्यकर्त्ता पूरे पटना में घूम-घूम कर लोगों को कोरोना को लेकर जागरूक करेंगें।

और साथ में मास्क और साबुन बाटेंगे।

उन्होंने कहा कि-

यह बीमारी लाइलाज है, जरुरत हैं इससे बचाव की।

सरकार अपनी जिम्मेदारी से भाग रही है।

यह सरकार की जिम्मेवारी है कि वो लोगों के लिए मास्क और हाथ धोने के लिए साबुन या सेनिटाईज़र मुहैया करवाए।

लेकिन सरकार इसमें बिफल है।

सरकार डर का माहौल बना कर जरुरी वस्तुओं की कालाबाजारी को बढ़ावा दे रही है।

उन्होंने कहा कि-

बिहार सरकार कोरोना वायरस को लेकर लोगों को सुविधाएँ मुहैया करवाने में असफल रही है।

लेकिन सेवा ही हमारा धर्म है।

जब कभी बिहार के लोगों पर आपदा आती है उस समय जन अधिकार पार्टी के कार्यकर्ता सेवक की तरह उपस्थित रहेंगे।

इस अभियान के बारे में जानकारी देते हुए पार्टी के राष्ट्रीय प्रवक्ता प्रेमचंद्र सिंह ने कहा कि-

यह जागरूकता अभियान अगले 7 दिनों तक चलेगा।

इस दौरान पटना के अलग-अलग इलाकों में मास्क और साबुन वितरित किया जाएगा।

प्रेमचंद्र सिंह ने कहा कि-

पटना के बाज़ार में मास्क 10 से 20 गुना दाम पर बेचा जा रहा है।

और यह दुखद है कि सरकार कालाबाजारी करने वालों पर कोई करवाई नहीं कर पा रही है।

इस कार्यक्रम के दौरान प्रेमचन्द सिंह, प्रदेश अध्यक्ष, रघुपति जी, राजेश रंजन पप्पू, राजू दानवीर,

विशाल कुमार, सुग्गन जी, सहित जन अधिकार पार्टी के अन्य कार्यकर्त्ता उपस्थित रहे।

BJP बिहार की नई टीम गठित, अध्यक्ष संजय जायसवाल ने किया ऐलान

Janbol News

बिहार में इस साल होने वाले आगामी विधानसभा चुनाव को देखते हुए बीजेपी ने नई टीम बना ली है।

बीजेपी बिहार अध्यक्ष संजय जायसवाल ने आज अपनी नई टीम के ऐलान किया।

बिहार बीजेपी की तरफ से नई टीम का ऐलान कर दिया गया है।

जिसमें कुल 12 लोगों को प्रदेश का उपाध्यक्ष बनाया गया।

जिसमें अजय निषाद, ओम प्रकाश यादव, राजेंद्र सिंह, राजेंद्र गुप्ता, मिथिलेश तिवारी, राधा मोहन शर्मा,

प्रमोद चंद्रवंशी, पिंकी कुशवाहा, नीतीश मिश्रा ,राजेश वर्मा, राजीव रंजन, बेबी कुमारी शामिल हैं।

इसके साथ ही प्रदेश के संगठन महामंत्री की जिम्मेदारी नागेंद्र जी को सौंपी गई है।

जबकि प्रदेश संगठन महामंत्री शिवनारायण महतो को बनाया गया है।

जबकि प्रदेश मंत्री के रूप में बीजेपी ने कुल 12 लोगों को जिम्मेदारी सौंपी है।

जिसमें रूपनारायण मेहता, अमृता भूषण, प्रवीण ताती, सिद्धार्थ शंभू , शंभू शरण, बेबी चंकी, धर्मशिला गुप्ता,

अजय यादव, सजल झा, पूनम शर्मा, शीला प्रजापति और  संजीव छत्रीय शामिल किया गया है।

बिहार बीजेपी का कोषाध्यक्ष दिलीप जायसवाल को बनाया गया है।

जबकि सह कोषाध्यक्ष श्यामा सिंह को बनाया गया है।

AP Singh यही वकील हैं को जो निर्भया के दोषियों का केस लड़ा और अंत-अंत तक बचाने में लगे रहें

Janbol News

निर्भया गैगरेप व हत्या मामले में चारों दरिंदों को आज तड़के सुबह फांसी के फंदे पर लटकाया गया।

16 दिसंबर 2012 को हुए इस जघन्य अपराध में सजा फाइनल होते-होते लगभग साढ़े सात साल लग गये।

इसकी सबसे बड़ी वजह दोषियों के वकील एपी सिंह रहे हैं।

वकालत को पैशन और वसूल मानने वाले एपी सिंह इस केस को लड़ने के लिए निचली अदालत से लेकर सर्वोच्च अदालत तक का चक्कर लगाया।

इसके कारण उनकी कई बार आलोचना हुई, लेकिन वे इस केस से हटे नहीं डटे रहें।

विवादित बयान के चलते बने सुर्खियों में

मुकदमें के दौरान एपी सिंह कई बार विवादित बयान दे चुके हैं, जिसके कारण उनकी आलोचना हुई है।

फांसी की रात भी एपी सिंह ने विवादित बयान देते हुए कहा था कि-

12 बजे रात में लड़की को निकलना ही नहीं चाहिये।

इतना ही नहीं, एपी सिंह ने निर्भया के दोस्त के साथ घुमने पर भी सवाल उठाया था।

उन्होंने कहा था कि-

अगर मेरी बेटी रात बारह बजे अगर किसी लड़के साथ बाहर घुमने जाती तो मैं उसे फॉर्म हाउस में आग लगाकर मगर देता।

लखनऊ के राममनोहर लोहिया यूनिवर्सिटी से लॉ ग्रैजुएट एपी सिंह के पास अपराधशास्त्र में डॉक्टरेट की भी डिग्री है।

एपी सिंह 1997 में पहली बार बतौर वकील सुप्रीम कोर्ट में वकालत शुरू की थी।

2012 में वे सबसे पहले निर्भया के दोषियों के केस लड़ने से चर्चा में आये थे।

इसके अलावा, एपी सिंह डेरा सच्चा सौदा और हनीप्रित का केस लड़ चुके हैं।

केस लड़ने का कारण यह बताया था

एपी सिंह ने टीवी चैनलों से बात करते हुए कहा था कि-

ये केस लड़ना उनके वकालत का वसूल है।

यह केस मुझे मेरी मां ने लड़ने के लिए कहा था।

मैं यह केस पूरी ईमानदारी से लड़ूंगा।

उन्होंने कोर्ट पर आरोप लगाते हुए कहा था कि मुझे कोर्ट टॉर्चर कर रही है।

 

MP में गिरी कमलनाथ सरकार, फ्लोर टेस्ट से पहले कमलनाथ ने किया इस्तीफे का ऐलान

Janbol News

मध्य प्रदेश में 17 दिन से जारी सियासी घमासान का शुक्रवार दोपहर 12.30 बजे अंत हो गया।

फ्लोर टेस्ट के पहले कमलनाथ ने प्रेस कॉन्फ्रेस कर अपने इस्तीफे का ऐलान कर दिया।

उन्होंने कहा कि भाजपा को 15 साल और मुझे 15 महीने मिले।

जब हमारी सरकार बनी तो हर 15 दिन में भाजपा नेता कहते थे कि ये सरकार पंद्रह दिन-महीने भर की है।

कमलनाथ ने 16 बार अपनी उपलब्धियाँ गिनाते हुए कहा कि भाजपा को यह रास नहीं आया।

प्रेस कॉन्फ्रेस के पहले भाजपा विधायक शरद कोल ने भी इस्तीफा दे दिया।

स्पीकर एनपी प्रजापति ने कोल का इस्तीफा स्वीकार करने की जानकारी दी।

हालांकि, भाजपा ने दावा किया कि कोल ने इस्तीफा नहीं दिया है।

भाजपा का पलड़ा भारी

कांग्रेस के सभी 22 बागियों के इस्तीफे स्वीकार होने के बाद संख्या बल में भाजपा सबसे बड़ी पार्टी बन गई है।

उसके 107 विधायक हैं।

वहीं, कांग्रेस के पास स्पीकर समेत सिर्फ 92 विधायक रह गए हैं।

कांग्रेस के पास निर्दलीय और बसपा-सपा के 7 विधायकों का भी समर्थन है।

ऐसे में अगर फ्लोर टेस्ट होता है तो कमलनाथ के लिए सरकार बचाना मुश्किल होगा।

उपचुनाव में किसे जीतनी होंगी कितनी सीटें

मध्य प्रदेश में फिलहाल कुल 24 सीटें खाली हैं।

इन सभी सीटों पर 6 महीने के भीतर उपचुनाव होंगे।

अगर भाजपा की सरकार बनती है तो उसे सरकार बचाए रखने के लिए उप-चुनाव में कम से कम 9 सीटें जीतनी होंगी।

अगर कांग्रेस के सात सहयोगी उसके साथ बने रहते हैं तो उप-चुनाव में 17 सीटें जीतकर वह सत्ता में वापसी कर सकती है।

SSC ने टाली CSHL Tier- 1 की परीक्षा, नई तारीखों का ऐलान जल्द संभव

Janbol News

कर्मचारी चयन आयोग (एसएससी) ने कोरोना वायरस के तेजी से बढ़ रहे मामलों के

चलते कंबाईंड सकेंड्री लेवल प्रारंभिक- टियर 1 (सीएसएचएल) परीक्षा 2019 और

जूनियर इंजीनियर (सिविल, मेकेनिकल, इलेक्ट्रिकल और क्वांटिटी सर्वेईंग एवं कॉन्ट्रैक्ट)

परीक्षा (पेपर 1) 2019 स्थगित कर दी है।

आयोग के अनुसार नई तारीखों का ऐलान जल्द ही किया जाएगा।

सभी प्रतियोगी और अन्य परीक्षाएं रद्द

देश में लगातार बढ़ रहे कोरोना के मामले को देखते हुए इसके प्रसार की रोकथाम के लिए सरकार कई तरह की कोशिशें कर रही हैं।

इसके लिए केंद्र ने सभी परीक्षाएं स्थगित करने के निर्देश जारी किए हैं।

जिसके बाद सभी बोर्ड परीक्षाएं, विश्वविद्यालयों की वार्षिक एवं सेमेस्टर परीक्षाएं, प्रवेश परीक्षाएं,

विभिन्न सरकारी नौकरियों की भर्ती की परीक्षाएं, आदि रद्द कर दी गई हैं।

साथ ही जिन राज्यों की बोर्ड की परीक्षाएं पूरी हो चुकी हैं,

उनकी कॉपियों के मूल्यांकन का कार्य भी 31 मार्च तक के लिए रोक दिया गया है।

Corona in Bihar:- छोटे होटल व्यवसायियों की लापरवाही बन सकती है कोरोना फैलने का कारण

Janbol News

गुरुवार को जनबोल न्यूज की टीम द्वारा मोतिहारी शहर एवं संग्रामपुर प्रखंड मुख्यालय के कई खाने-पीने के होटल का जायजा लिया गया।

ऐसे समय मे जब कोरोना को महामारी घोषित किया जा चुका है।

होटल व्यवसायियों में साफ-सफाई को लेकर लापरवाही सीधे तौर पर देखने को मिली।

होटल व्यवसायी आधे-अधुरे धुले बर्तन में ग्राहकों को खाने परोसने का काम कर रहे हैं।

जबकि ऐसे समय मे एहतियात के तौर पर केवल डीसपोजल बर्तन का उपयोग होना चाहिए।

प्रशासन को भी इस बात की कोइ सूंध नहीं है ना ही होटल व्यवसायी को किसी तरह का दिशा-निर्देश दिया गया है।

ऐसे मे कोरोना से लड़ाई पूर्ण रूप से सफल होते नहीं दिख रही है।

 

ओमप्रकाश गुप्ता की रिपोर्ट

Nirbhaya Rape Case:- आखिर मिल ही गया निर्भया को इंसाफ, लेकिन लग गए लगभग साढ़े 7 साल

Janbol News

7 साल, 3 महीने और 4 दिन के बाद वह दिन आ ही गया जब निर्भया के दोषियों को फांसी पर लटकाया गया।

शुक्रवार सुबह साढ़े पांच बजे उसके सभी दोषियों को एक साथ तिहाड़ जेल में फांसी पर लटका दिया गया।

16 दिसंबर 2012 की रात दिल्ली में छह दरिंदों ने निर्भया से दुष्कर्म किया था।

एक ने जेल में खुदकुशी कर ली थी, दूसरा नाबालिग था।

इसलिए तीन साल बाद छूट गया।

बाकी बचे चार- मुकेश (32), अक्षय (31), विनय (26) और पवन (25) अपनी मौत से 2 घंटे पहले तक कानून के सामने गिड़गिड़ाते रहे।

अंत में जीत निर्भया की ही हुई।

4 बार डेथ वारंट जारी हुए

सभी दुष्कर्मियों को निचली अदालत ने 9 महीने में ही फांसी की सजा सुना दी थी।

दिल्ली हाईकोर्ट को फांसी की सुनाई जा चुकी सजा पर मुहर लगाने में 6 महीने लगे।

इसके 2 साल 2 महीने बाद मई 2017 में सुप्रीम कोर्ट ने भी कह दिया कि फांसी ही होगी।

फिर 2 साल 10 महीने और गुजर गए।

4 बार डेथ वारंट जारी हुए।

आखिरी बार शुक्रवार को फांसी का दिन मुकर्रर कर दिया गया।

इससे पहले दुष्कर्मियों ने 15 घंटे में 6 अर्जियां लगाईं।

शुक्रवार तड़के सवा तीन बजे तक हाईकोर्ट से लेकर सर्वोच्च अदालत तक सुनवाई होती रही, लेकिन सभी अर्जी खारिज हुईं।

सुबह 5 बजे तिहाड़ जेल में फांसी की आखिरी तैयारियां शुरू कर दी गईं।

दुष्कर्मियों को फांसी के तख्ते तक ले जाया गया।

चारों के हाथ-पैर बांधे गए।

दोषी विनय रोने लगा।

फिर सभी दोषियों के चेहरे पर नकाब डाला गया और फंदे कस दिए गए।

ठीक साढ़े पांच बजे जल्लाद पवन ने लीवर खींचा और इस तरह निर्भया को इंसाफ मिल गया।

महज 7 मिनट बाद जेल अधिकारी ने चारों की मौत की पुष्टि कर दी।

30 मिनट बाद डॉक्टरों ने सभी को मृत घोषित कर दिया।