WABetainfo

Whtsapp update : वॉटसएप चलाने वाले लोगों के लिए एप जल्द हीं एक खुशखबरी ला रहा है। अब वॉटसएप पर बड़े फाइल्स को भी शेयर करने का फिचर देने जा रहा है। दरअसल पहले से फाइल्स शेयर करने की सीमा को बढ़ा कर अब 2 जीबी करने जा रहा है। इंस्टेंट मैसेजिंग एप वॉटसएप  इससे संबंधित फिचर टेस्ट भी करना शुरू कर चुका है।

Whtsapp ने शेयर की जानकारी

अपने सेवा से संबंधित जानकारी  लगातार Whtsapp update करता रहता है। इसबार भी Whtsapp की ओर से WABetainfo ने एक iOS डिवाइस के कुछ स्क्रीनशॉट शेयर किए हैं, जहां यूजर को 2GB की फाइल साइज लिमिट का अलर्ट दिया गया है। इस लिमिट का मतलब है कि अब आप व्हाट्सएप के जरिए हाई रेजोल्यूशन वीडियो और बड़ी फाइल्स को आसानी से शेयर कर सकेंगे। यह फीचर इसलिए भी जरूरी है क्योंकि व्हाट्सएप के जरिए बड़ी फाइल्स भेजना एक मुश्किल टास्क बन जाता है।

Petrol price hike :  देश में पेट्रोल डीजल के दाम आसमान छु रहे हैं। भारतीय तेल कंपनियों नें पेट्रोल डीजल के दाम में आज  शनिवार 26 मार्च को 80 पैसे की वृद्धि की।  इसतरह से पिछले पाँच दिनों में पेट्रोल की किमतों में 3.20 रूपये की वृद्धि की गई है।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में कच्चे तेल के भाव का पड़ रहा असर

यूक्रेन पर रूसी हमले के बाद से ही कच्चे तेल के बाजार में उतार-चढ़ाव जारी है. मार्च के दूसरे हफ्ते में कच्चा तेल 139  डॉलर प्रति बैरल तक पहुंच गया था। हालांकि, बीच में गिरावट के साथ फिर 100 डॉलर से भी नीचे चला गया था।

हर रोज अपडेट होता है तेल की कीमत।

अंतर्राष्ट्रीय बाजार में क्रूड ऑयल की कीमत के आधार पर भारतीय बाजार में तेल की कीमतें हर रोज तेल कंपनियाँ अपडेट करती है। पेट्रॉल डीजल के दाम तय करने से पहले तेल कंपनियाँ हर रोज किमतों की समीक्षा करती है। इंडियन ऑयल, भारत पेट्रोलियम और हिंदुस्तान पेट्रोलियम तेल कंपनियां हर दिन सुबह विभिन्न शहरों की पेट्रोल और डीजल की कीमतों की जानकारी अपडेट करती हैं। बताते चलें की भारत में नवंबर से तेल की कीमत में स्थिरता थी जिसके बाद 22 मार्च से तेल की किमतों में वृद्धि की जा रही है। मौजूदा वृद्धि पिछले 5 दिनों में चौथी वृद्धि है।

Janbol News

Corona impact: कोरोना महामारी के प्रभाव से अब भी देश पूरी तरह से नहीं ऊबर पाया है। संभावित तीसरे वेब से पहले एक अच्छी खबर सामने आरही है। दरअसल  पुणे की एक स्टार्टअप कंपनी थिंक टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने एक खास तरह का मास्क तैयार किया है। मास्क की खासियत है कि वह संपर्क में आने वाले विषाणुओं को निष्क्रिय कर देता है। मतलब यह कोविड के विषाणुओं को भी निष्क्रिय कर देता है और रोकने में कारगर है। यह बात विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने कही है।

ऐसे करता है मॉस्क काम

कोरोना के प्रभाव  (Corona impact ) को कम करने के लिए मॉस्क एक जरूरी हथियार है यह बात कोरोना महामारी के पहले दौर से कही जा रही है। अब जब थिंक टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड ने नये तरह का मॉस्क लाया है तो यह कैसे काम करता है जानना बेहद दिलचस्प होगा। विज्ञान एंव प्रद्योगिकी विभाग की जानकारी के अनुसार इस मास्क को बनाने में जो विषाणुरोधी लेप का इस्तेमाल किया गया है वह विषाणुओं को निष्क्रिय कर देता है। यह एजेंट सोडियम ओलेफिन सल्फोनेट है और यह साबुन बनाने में उपयोग होता है। दरअसल एजेंट के संपर्क में आते ही विषाणुओं की बाहरी पड़त नष्ट हो जाती है जिससे वह निष्क्रिय हो जाता है। इस एजेंट का व्यापक उपयोग सौन्दर्य प्रसाधन सामग्री में किया जाता है। विज्ञान एवं प्रौद्योगिकी विभाग ने आगे कहा कि यह विषाणुरोधी मास्क कोविड-19 के खिलाफ जंग में महत्वपूर्ण भूमिका निभायेगा।

अपने इजाद के बारे में क्या कहती है कंपनी ?

कोरोना माहामरी से लड़ने के लिए  तैयार किये गये खास तरह के मॉस्क के बारे में  स्टार्टअप कंपनी थिंक टेक्नोलॉजी इंडिया प्राइवेट लिमिटेड के संस्थापक शीतलकुमार जामबाद ने कहा, “ हमने महसूस किया कि मास्क संक्रमण रोकने में सार्वभौमिक रूप से एक बड़ा औजार बन जाएगा। लेकिन उस समय उपलब्ध और आम लोगों की पहुंच में आने वाले ज्यादातर मास्क घर में बने थे और अपेक्षाकृत कम गुणवत्ता के थे।  ऐसे में उच्च गुणवत्ता की मास्क बनाने की जरूरत ने हमें परियोजना को हाथ में लेने को प्रेरित किया । यह संक्रमण को फैलने से रोकने की एक बेहतर पहल है। ”

LPG DISTRIBUTER SELECTION

Janbol News

LPG DISTRIBUTER SELECTION:उपभोक्ता के लिए अच्छी खबर है। अब उपभोक्ता जब मन चाहे अपना डिस्ट्रीब्यूटर खुद चुन सकते हैं। सरकार ने यह छूट (अधिकार) उपभोक्ता को दे दी है।  मतलब यह कि गैस सिलिन्डर खाली होने पर फिर से रिफिल करवाने के लिए अपने एरिया के अंदर अपने पसंद का बेस्ट डिस्ट्रीब्यूटर से भरवा सकते हैं, जो उस एरिया के अंदर अच्छी सर्विस देता होगा। इस योजना के पहले चरण में इस सुविधा का फायदा  गुड़गांव, चंडीगढ़, पुणे,कोयंबटूर और रांची में रहने वाले उठा सकेंगे। इसके बाद बाकी जगहों पर जल्द ही इसे लॉन्च किया जा सकता है। यह जानकारी पेट्रोलियम और प्राकृतिक गैस मंत्रालय ने आज ट्वीट कर दी है।

डिस्ट्रीब्यूटरों के बीच बढेगा कंप्टीशन

नई व्यवस्था के तहत सरकार डिस्ट्रीब्यूटरों की रैंकिंग करके बुकिंग साईट पर डाल रही है। बुकिंग करते समय उपभोक्ताओं को बुकिंग साईट पर यह रैंकिंग दिखेगा और वहीं से वे चुनाव ( LPG DISTRIBUTER SELECTION) भी कर सकेंगे । अभी पटना में टॉप तीन LPG गैस सिलिंडर प्रोवाइडर हैं, इंडेन गैस, हिन्दुस्तान पेट्रोलियम और भारत पेट्रोलियम। आप इनमें से कोई भी डिस्ट्रीब्यूटर का चुनाव कर सकते है। अलग-अलग एरिया के हिसाब से डिस्ट्रीब्यूटरों की रैंकिंग अलग-अलग हो सकती है। सरकार की इस व्यवस्था से डिस्ट्रीब्यूटरों के बीच कंप्टीशन बढेगा जिससे ग्राहकों को अच्छी सर्विस मिलेगी।

अभी LPG गैस सिलिंडर का क्या रेट चल रहा है?

पटना में 14.2 kg वाले घरेलु (Domestic) गैस सिलिंडर की कीमत 899रू है। रेट पिछले महीने के मुकाबले 10रू कम हुआ है। वहीं दिल्ली में LPG गैस सिलेंडर के दाम 809 रुपये हैं। अगर बात व्यवसायिक गैस सिलिंडर (19KG)  की करें तो दिल्ली में इसकी कीमत मई में 1595.50रू थी जो अब 122रू सस्ता हो गया है। (स्रोत: IOC)

गैस की सब्सिडी आई या नहीं मोबाईल से ऐसे चेक करें

कई बार ग्राहकों को पता नहीं चलता कि उनकी सब्सिडी आ रही है या नहीं। अगर आ रही है तो कितनी आ रही है। अब दो मिनट में आप जान सकेंगे की आपकी सब्सिडी कितनी आई है। सब्सिडी चेक करने के दो तरीके हैं। पहला है इंडेन, भारत गैस या एचपी के साथ रजिस्टर्ड मोबाइल नंबर के जरिए और दूसरा है LPG ID के जरिए, ये ID आपके गैस पासबुक में लिखी होती है।

5G impact on environment

Janbol News

हर चर्चा के शुरू होने से पहले की एक पटकथा होती है। कोरोना महामारी की दूसरी लहर ने जब उफान पकड़ा तो रोज हजारों लोग मरने लगें । अस्पतालों में बेड और ऑक्सीजन के लिए हाहाकार मचा तो कहानी शुरू हुयी कि कहीं देश में शुरू हो रहा 5जी सेवा  ( 5G Service )  तो नहीं है हाहाकार की वजह? सवाल उठाया जाने लगा, अलग- अलग तर्क दिये जाने लगें कि 4 जी के कारण छोटे छोटे जीव मारे गये। कहीं 5जी सेवा (5G Service)  इंसान को तो नहीं निगलेगा? चर्चा सोशल मीडिया से शुरू हुआ तो अभिनेत्री से पर्यावरणविद बनीं जूही चावला भी मैदान में उतर गयीं। कोर्ट में 5जी नेटवर्क को चुनौती तक दे डालीं । हालांकि कोर्ट ने पेटिशन खारिज करते हुए 20 लाख का जुर्माना तक लगा दिया। साथ हीं कोर्ट ने टिप्पणी की कि ये सिर्फ एक पब्लिसिटी स्‍टंट था जिसमें मीडिया का ध्‍यान अपनी तरफ खींचने की कोशिश की गई थी । खैर केस का परिणाम जो भी रहा हो लेकिन बड़ा सवाल है कि क्‍या वाकई पर्यावरण और जानवरों के लिए खतरनाक है 5जी सर्विस ? ( Is 5G service really dangerous for the environment and animals? )

क्या होंगे 5 जी के फायदे?

क्‍या वाकई पर्यावरण और जानवरों के लिए खतरनाक है 5जी सर्विस ? ( Is 5G service really dangerous for the environment and animals? ) इस सवाल का जवाब ढूंढ़ने से पहले आइए हम जानते हैं क्या होंगे 5 जी सेवा ( 5G service ) के फायदे ?  दरअसल दुनिया के कई देश इस समय 5जी सर्विस ( 5G service )  को लॉन्‍च करने की तैयारी में जूटे हैं.। कई रिसर्चर की तरफ से इस बात को लेकर चिंता जताई जा रही है कि 5जी सेवा ( 5G service ) इंसानों और पर्यावरण के लिए खतरा हो सकता है। यही नहीं कई वैज्ञानिकों और डॉक्‍टरों की तरफ से अपील की गई है कि 5जी को रोका जाना चाहिए। हालांकि तकनीकी क्रांति के इस युग में 5जी की जरूरत इस बात से समझा जा सकता है कि 5जी ,  4जी की तुलना में 1000 गुना ज्‍यादा तेज इंटरनेट एक्सेस देने जा रहा  है।  कहा तो यह भी जा रहा कि 5जी के आने के बाद आप अपने फोन में 100 जीबी प्रति सेकेंड की रफ्तार से 4 हजार वीडियोज देख सकेंगे।

कई मनगढंत कहानी चलन में है।

क्‍या वाकई पर्यावरण और जानवरों के लिए खतरनाक है 5जी सर्विस ? ( Is 5G service really dangerous for the environment and animals? ) इसे समझने की प्रक्रिया में हमें यह भी जानना चाहिए कि 5जी को लेकर क्या मनगढ़ंत कहानिया बनाई जा रही है और क्या है उसकी मूल वजह ? वैसे तो 5जी अभी लॉन्च नहीं की जा सकी है  लेकिन जब से 5जी की लॉन्चिंग का ऐलान किया गया है तब से ही लोग कई तरह की कहानियाँ बना रहे हैं। यही नहीं लोगों का रवैया साफ- साफ 5जी के प्रति उदासीनता भरी है। 5जी सर्विस के साथ सुरक्षा को लेकर कई तरह के दावे किए जा रहे हैं। एक रिपोर्ट में तो यहाँ तक कहा गया था कि 5जी की वजह से नीदरलैंड्स में सैंकड़ों चिड़‍िया मर गई थीं। हालांकि बाद में ये खबर सिर्फ एक अफवाह साबित हुई। इस तरह की कई और फेक स्‍टोरीज मीडिया में आ चुकी हैं। दरअसल 5जी को लेकर जो चिंता जताई जा रही है वो इसकी अत्‍यधिक हाई फ्रिक्‍वेंसी की वजह से है। अनुमान लगाया जा रहा है कि इसकी फ्रिक्‍वेंसी 30 गिगाहर्ट्ज से लेकर 300 गीगाहर्ट्ज तक होने वाली है।

 एंटीना का जाल बुन रहा 5जी के लिए कहानियों का जाल

5जी सेवा पूर्ण रूप से वायरलेस होने वाली है । ऐसा करने के लिए बताया जा रहा है कि 5जी सर्विस में हर 100 से 200 मीटर की दूरी पर एक एंटीना होगा।  ऐसे में ऐंटीना का जाल 5जी सेवा को उपलब्ध करवा रहा होगा। हालांकि इस सर्विस का जानवरों और पर्यावरण पर कोई प्रभाव होगा इसे लेकर दो तरह के मत हम सबों के सामने  हैं। इन दोनों मतो को जान कर हीं हम यह निर्णय ले पायेंगे कि क्‍या वाकई पर्यावरण और जानवरों के लिए खतरनाक है 5जी सर्विस ? ( Is 5G service really dangerous for the environment and animals? )

पहली मत वायरलेस कंपनियों और अमेरिकी संस्‍था सीडीसी की है। सीडीसी  के  तरफ से जनता को भरोसा दिलाया गया है कि 5जी नेटवर्क पूरी तरह से सुरक्षित है।

दूसरी मत  वर्ल्‍ड हेल्‍थ ऑर्गनाइजेशन के तहत आने वाली इंटरनेशनल एजेंसी फॉर रिसर्च ऑन कैंसर (IARC) ने की है।  अमेरिका की नेशनल टॉक्‍सीकोलॉजी प्रोग्राम (NTP) की तरफ से हुई स्‍टडी में इस बात के सुबूत मिले हैं कि सेलफोन की ज्‍यादा फ्रिक्‍वेंसी कैंसर के खतरे को बढ़ाती है। हालांकि अभी कोई पुख्ता सुबूत नहीं मिले हैं कि 5जी की वजह से जानवरों को कोई नुकसान पहुंचता है भी है या नहीं ?

अभी कुछ भी स्पष्ट नहीं !

5जी सेवा अभी शुरू नहीं हुयी । लॉन्च तक 5जी नहीं किया जा सका है बावजूद इसके साल 2019 और 2020 में कुछ स्‍टडीज हुईं । हालांकि स्टडीज में ऐसा कोई स्पष्ट संकेत नहीं मिला है कि  इस सेवा का जानवरों पर कोई असर पड़ेगा। जब तक कोई ठोस सुबूत नहीं मिल जाते हैं तब तक 5जी पर कुछ भी कहना सही नहीं होगा। यह सेवा जानवरों और पर्यावरण के लिए खतरा है, इसे जानने के लिए थोड़ा इंतजार करना हीं होगा। हम कह सकते हैं कि क्‍या वाकई पर्यावरण और जानवरों के लिए खतरनाक है 5जी सर्विस? ( Is 5G service really dangerous for the environment and animals? )  इसका हम सबके पास अब भी कोई ठोस जवाब नहीं है।

Reserve bank of India

Janbol News

तीन दिनों की मौद्रिक नीति समिति (MPC) की बैठक के बाद रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ( Reserve Bank of India )  ने ब्याज दरों में कोई बदलाव नहीं किया है।  रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास (Shaktikanta Das) के अनुसार  रेपो रेट (Repo rate) 4 फीसदी हीं  रहेगा।  रेपो रेट की तरह  रिवर्स रेपो रेट (R R R) को 3.35 फीसदी पर बरकरार रखा गया है।बताते चलें कि रेपो रेट वह दर होता है जिस दर पर रिजर्व बैंक दूसरे बैकों को लोन उपलब्ध कराता है।

दास के अनुसार बैठक में आर्थिक वृद्धि की निरंतरता बनी रहे इसलिए नरमी का रूख जारी रखने का निर्णय लिया गया है। उन्होंने कहा कि मॉनसून सामान्य रहने के कारण अर्थव्यवस्था की हालत में सुधार की संभावना है। आर्थिक वृद्धि को पटरी पर लाने के लिए सभी तरह के नीतिगत समर्थन की जरूरत है और मुद्रास्फीति में भी हाल के दिनों में कुछ गिरावट दर्ज की गयी है।

 हालांकि रिजर्व बैंक ऑफ इंडिया ( Reserve Bank of India )   ने चालू वित्त वर्ष में आर्थिक वृद्धि का अनुमान  10.5 फीसदी से घटाकर 9.5 फीसदी लगाया है।  खुदरा मुद्रास्फीति के 2021-2022 में 5.1 फीसदी रहने का अनुमान है। रिजर्व बैंक गवर्नर शक्तिकांत दास ने कहा कि आरबीआई 17 जून को 40 हजार करोड़ रुपये की सरकारी प्रतिभूतियों की खरीद करेगा। दूसरी तिमाही में आरबीआई 1.20 लाख करोड़ रुपये की प्रतिभूति खरीदने जा रही है। उन्होंने कहा कि अनुमान है कि देश का विदेशी मुद्रा भंडार 600 अरब डालर से ऊपर निकल जायेगा। बताते चलें कि  कोरोना वायरस संक्रमण को लेकर आरबीआई ने मार्च 2020 से रेपो रेट में कुल 115 बेसिस प्वाइंट की कटौती की है।

unblock whtsapp chat

Janbol News

Whatsapp chat unblock: आज की तारीख में whatsapp दुनिया भर के करोडो लोगों द्वारा उपयोग में लाया जाने वाला मैसेजिंग ऐप है। जिसकी मदद से लोग अपने करीबीयों से बातें करते हैं। परंतु कई बार ऐसी स्थिति आ जाती है जब आपका कोई करीबी हीं block कर देता है। ऐसे में हम परेशान हो जाते हैं कि अब उस व्यक्ति से कैसे बातें करें? किंतु अब आपको परेशान होने की जरूरत नहीं है। यहॉ हम आपको ऐसी ट्रिक बताने जा रहे हैं जिससे आप block किये जाने के बाद भी सामने वाले व्यक्ति को मैसेज कर पाएँगे। इसके लिए (Whatsapp chat unblock)  करने के दो तरीके हैं।

नंबर-01 अपना whatsapp अकाउंट डिलीट(delete) करें

इसमें आपको अपना whatsapp अकाउंट डिलीट(delete) करना होगा। उसके बाद फिर से sign up करना होगा। ऐसा करने पर हो सकता है कि आप अपना पुराना backup खो दें। मतलब यहॉ आप विचार कर लें कि आपके लिए जरूरी क्या है? आइये जानते हैं step by step-

  • अपने फोन की whatsapp सेटिंग में जाएँ और अकाउंट पर क्लिक करें।
  • अब अपना मोबाईल नंबर सहित जानकारी भरने के बाद “delete my account” ऑप्सन पर क्लिक करें।
  • अब whatsapp बंद करके फिर से खोलें और उस पर अपना अकाउंट फिर से बनाएँ।
  • इस प्रकार से आप फिर से उस व्यक्ति को मैसेज कर पाएँगे जिसने आपको block किया था।

नंबर-02 : अपने दोस्त की मदद लें !

Whatsapp chat unblock : इस तरीके में आपको अपना whatsapp अकाउंट डिलीट करने की जरूरत नहीं है। मगर आपको अपने किसी दोस्त की मदद लेनी पडेगी। अब आपका दोस्त एक whatsapp group बनाऐगा। उस group में वह आपको और block करने वाले व्यक्ति को जोड़ दे। अब group में आपके द्वारा डाला गया हर मैसेज उस block करने वाले व्यक्ति को दिखेगा जब तक कि वह खुद उस group से निकल न जाए।

World Environment Day

Janbol News

World Environment Day 2021 : विश्व पर्यावरण दिवस हर साल 5 जून को मनाया जाता है। पर्यावरण के प्रति हम सब के कर्तव्यों को याद करने के लिए हम यह दिन मनाते हैं। हम अपने आस पास जितनी भी चीजों का उपयोग कर रहे होते हैं वह सब हमारे पर्यावरण का हिस्सा  है। जब हम हर साल 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस ( World Environment Day ) मना रहे होते हैं तो हमारा मकसद अपने आस- पास के पर्यावरण को शुद्ध करने वाले पेड़-पौधे लगाने, पेड़ों को संरक्षित करने, हरे पेड़ न काटने, नदियों को साफ़ रखने और प्रकृति से खिलवाड़ न करने जैसी चीजों के लिए जागरुक करना होता है।

कैसे तय हुआ पर्यावरण दिवस ( World Environment Day )

पर्यावरण के प्रति जागरूकता के लिए मनाये जाने वाले विश्व पर्यावरण दिवस का मनाने का सिल- सिला कैसे शुरू हुआ यह एक आम सवाल है जो लोगों के जेहन में आता है।वैसे तो साल 1972 में हीं संयुक्त राष्ट्र संघ द्वारा विश्व स्तर पर पर्यावरण दिवस मनाया गया था । लेकिन विश्व स्तर पर पर्यावरण दिवस मनाने की शुरूआत 5 जून 1974 को स्वीडन की राजधानी स्टॉकहोम से शुरू हुई। स्टॉकहोम में 5 जून-16 जून 1974 तक पर्यावरण सम्मेलन का आयोजन किया गया था । इस सम्मेलन में कुल 119 देशों के प्रतिनिधियों ने हिस्सा लिया था। इस सम्मेलन का स्लोगन था “केवल एक पृथ्वी” (“Only one Earth”)। सम्मेलन में सम्मिलित 119 देशों के प्रतिनिधियों की सहमती से  संयुक्त राष्ट्र पर्यावरण कार्यक्रम का गठन किया गया। साथ ही प्रति वर्ष 5 जून को विश्व पर्यावरण दिवस ( World Environment Day ) मनाने का निर्णय लिया गया ।

कौन है इस बार पर्यावरण दिवस का मेजबान, क्या है थीम ?

साल 1974 से अब तक 5 जून ( 5 June) को मनाये जाने वाला  विश्व पर्यावरण दिवस  के मेजबान और पर्यावरण दिवस का अगला थीम तय कर दिया जाता है। साल 2021 के विश्‍व पर्यावरण दिवस  ( World Environment Day ) का थीम है “पारिस्थितिकी तंत्र बहाली” ( Ecosystem Restoration ) । इसके तहत क्षतिग्रस्त या नष्ट हो चुके पारिस्थितिकी तंत्र को बेहतर बनाने में सहयोग देना, नाजुक दौर से गुजर रहे पारिस्थितिक तंत्र का संरक्षण जैसी बातें शामिल हैं। बताते चलें कि पारिस्थितिकी तंत्र को कई तरह से बहाल किया जा सकता है। पेड़ लगाना पर्यावरण की देखभाल के सबसे आसान और सर्वोत्तम तरीकों में से एक है। इस साल मनाये जा रहे विश्व पर्यावरण दिवस की मेजबानी भारत का पड़ोसी देश पाकिस्तान कर रहा है। बताते चलें कि 2020 के पर्यावरण दिवस का थीम “जैव विविधता” (Biodiversity) था। इसके अलावा वर्ष 2019 में पर्यावरण दिवस का थीम “वायु प्रदूषण” (“Air Pollution”) और  वर्ष 2018 में “बीट प्लास्टिक पोल्यूशन” (“Beat Plastic Pollution”)  के थीम पर पर्यावरण दिवस मनाया जा चुका है।

Choski PNB Fraud Case

Janbol News

Choksi PNB Fraud Case ; पीएनबी धोखाधड़ी मामले में आरोपी  हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को आज भारत लाया जा सकता है। दरअसल डोमनिका की अदालत में 2 जून को मेहुल चोकसी के खिलाफ सुनवाई होनी है। डोमनिका की अदालत में जब तक सुनवाई नहीं होती है तब तक के लिए मेहुल चोकसी के प्रत्यर्पण पर रोक लगी है। अदालती कार्रवाई में शामिल होने के लिए आठ सदस्यीय भारतीय टीम भी पहुंच चुकी है। आठ सदस्यों वाली टीम में विदेश मंत्रालय , सीबीआई , प्रवर्तन निदेशालय और सीआरपीएफ के दो-दो अधिकारी शामिल हैं। यह टीम शनिवार को हीं चोकसी के प्रत्यर्पण के लिए निजी जेट विमान से डोमनिका पहुंच गयी थी। संभावना जतायी जा रही है कि प्रत्यर्पण की अनुमति मिलने पर इसी विमान से मेहुल चोकसी को भारत लाया जा सकता है।  बाते चलें कि हीरा कारोबारी व पीएनबी के 13500 करोड़ के धोखाधड़ी मामले में आरोपित मेहुल चोकसी बीते 23 मई को लापता हो गया था। इसके बाद 26 मई को डोमिनिका में पकड़ा गया था। मेहुल चोकसी के अधिवक्ताओं की ओर से दायर बंदी प्रत्यक्षीकरण मामले की सुनवाई करते हुए डोमिनिका की अदालत ने दो जून तक प्रत्यर्पण पर रोक लगा दी थी ।

भारत लाये जाने के बाद गुजरना होगा कानूनी प्रक्रिया से

भारत से भगोरा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से अवैध रूप से डोमनिका में प्रवेश करने के बाद गिरफ्तारी तो कर ली गयी थी। लेकिन चोकसी की गिरफ्तारी के बाद जिस प्रकार से डोमनिका और एंटीगुआ भारत को सहयोग कर रहा है इससे लगता है कि उसे डोमनिका की अदालत में सुनवाई के बाद सीधे भारत लाया जा सकता है। बताते चलें कि भारत के दूसरे सबसे बड़े बैंक पीएनबी से 13500 करोड़ की धोखाधड़ी ( Choksi PNB Fraud Case )  का  आरोपी मेहुल चोकसी की गिरफ्तारी ( Mehul choksi arrest ) के बाद यदि भारत प्रत्यर्पित किया जाता है तो उसे यहां कड़ी कानूनी प्रक्रिया से गुजरना होगा । मेहुल चोकसी 2018 से ही भारत से फरार होकर एंटीगुआ और बरमुडा की शरण में है।

mehul choksi arrested in domnic

Janbol News

Mehul choksi arrest ; भारत से फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी गिरफ्तार कर लिया गया है। चोकसी को डोमनिका में पकड़ा गया है। वह डोमनिका से क्यूबा भागने की तैयारी में था। चोकसी के भागने की खबर एंटीगुआ मीडिया ने ब्रेक किया है।  एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी ने संकेत दिये हैं कि चोकसी को भारत भेजा जा सकता है।

फरार हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को भारत वापस लाने के लिए एंटीगुआ और भारत के अधिकारी लगातार एक दुसरे के संपर्क में हैं।

डोमनिका से वापस नहीं लेना चाहता चोकसी को एंटीगुआ  

डोमनिका में नाव के सहारे अवैध रूप से प्रवेश कर क्यूबा भागने की तैयारी में लगा मेहुल चोकसी की गिरफ्तारी हो गयी है। चोकसी की गिरफ्तारी के बाद डोमनिका एंटीगुआ भेजना चाहता था लेकिन एंटीगुआ के प्रधानमंत्री गैस्टन ब्राउनी वापस उसे लेना नहीं चाह रहे हैं। ऐसे में 13500 करोड़ रुपये के पीएनबी घोटाले का आरोपी चोकसी को संभव है भारत लाया जाये। बताते चलें कि भारत छोड़ने से पहले ही चोकसी ने  एंटीगुआ- बारबुडा की नागरिकता ली थी। भारत से भागने के बाद उसने वहीं शरण लिया लेकिन यहां से भी अवैध रूप से क्यूबा जाने की कोशिश उस पर भारी पड़ी है ।

Mehul Choksi : भारत से भगोड़े हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी , एंटीगुआ में हो गए लापता !

भारत लाये जाने के बाद गुजरना होगा कानूनी प्रक्रिया से

भारत से भगोरा हीरा कारोबारी मेहुल चोकसी को एंटीगुआ से अवैध रूप से डोमनिका में प्रवेश करने के बाद गिरफ्तारी तो कर ली गयी है। लेकिन चोकसी की गिरफ्तारी के बाद जिस प्रकार से डोमनिका और एंटीगुआ भारत को सहयोग कर रहा है जिससे लगता है कि उसे भारत लाये जाने की संभावना बढ़ गयी है। भारत के दूसरे सबसे बड़े बैंक पीएनबी से 13500 कोरोड़ के घोटाले का  आरोपी मेहुल चोकसी की गिरफ्तारी ( Mehul choksi arrest ) के बाद यदि भारत प्रत्यार्पित किया जाता है तो उसे यहां कड़ी कानूनी प्रक्रिया से गुजरना होगा । बताते चलें कि मेहुल चोकसी 2018 से ही भारत से फरार होकर दूसरे देशों के शरण में है।