मोतिहारी : पटरी पर लॉटने लगी जिंदगी,फिर शुरू हुआ जल जीवन हरियाली योजना के तहत तालाब खन्न

जनबोल न्यूज

मोतिहारी,

कोरोना महामारी के कारण जारी लॉकडाउन के बीच पर्यावरण संरक्षण और जल संरक्षण के साथ ऊर्जा संरक्षण एवं अन्य जनहितकारी उद्देश्यों की प्राप्ति हेतु क्रियान्वित जल-जीवन-हरियालीअभियान के तहत तालाबों का निर्माण एंव जीर्णोद्धार भी किया जाना है।तदनुसार मनरेगा के सौजन्य से वर्तमान में सभी प्रखंडों के चिन्हित स्थलों पर समेकित रूप से दो सौ पांच तालाबों का जीर्णोद्धार कार्य प्रगति पर है। तालाबों के जीर्णोद्धार कार्य में वर्तमान में कुल आठ हजार पांच सौ श्रमिक संलग्न है।जीर्णोद्धार कार्य में वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए भौतिक दूरी एंव साफ सफाई का भी ध्यान रखा जा रहा है।

Reported By

Om Prakash Gupta

Tejaswi yadav yatra गोपालगंज जाने की जिद्द में तेजस्वी और पुलिस के बीच रस्सा कस्सी जारी ।

Janbol News

गोपालगंज तिहरे मर्डर केस को लेकर बिहार में हंगामा जारी है। विधायक अमरेंद्र पाण्डेय की गिरफ्तारी अब विपक्ष के लिए प्रतिष्ठा का प्रश्न बनता जा रहा है। दरअसल

राजद विधायकों के साथ तेजस्वी यादव गोपालगंज जाने के लिए शुक्रवार सुबह 10:05 बजे घर से निकले हीं थे कि  उनकी कार के सामने पुलिस ऑफिसर खड़े हो गए। राबड़ी आवास के बाहर बड़ी संख्या में पुलिस बल की तैनाती कर दी गयी है।  तेजस्वी यादव ने गोपालगंज हत्याकांड में जदयू विधायक की गिरफ्तारी न होने पर गोपालगंज जाने की बात कही थी। तेजस्वी ने पुलिस को दो दिन का अल्टीमेटम भी दिया था। हालांकि कोरोना संक्रमण और लॉकडाउन के चलते प्रशासन ने तेजस्वी को गोपालगंज जाने की इजाजत नहीं दी थी।

इसके बाद शुक्रवार सुबह तेजस्वी यादव और राजद के प्रदेश अध्यक्ष जगदानंद सिंह एक कार में बैठकर गोपालगंज जाने के लिए निकले थे। गेट से बाहर आते ही पुलिस अधिकारियों ने कार को घेर लिया। डीएसपी कार के सामने खड़े हो गए। पुलिस और प्रशासन के अधिकारी तेजस्वी को यात्रा न निकालने के लिए समझा रहे हैं। तेजस्वी गोपालगंज जाने की जिद पर अड़े हुए हैं। तेजस्वी ने कहा कि अपराधियों को छूट है और विधायकों को पीड़ित परिवार से मिलने से रोका जा रहा है।

तेजस्वी के साथ राबड़ी देवी, तेज प्रताप यादव और पार्टी के विधायक भी गोपालगंज जाने के लिए तैयार हैं। राबड़ी आवास के बाहर सैकड़ों की संख्या में लोग जुटे हुए हैं। पुलिस और राजद विधायकों के बीच रस्साकशी भी हुई। विधायकों ने बैरिकेडिंग गिरा दिए। इसके बाद गाड़ियों का काफिला धीरे-धीरे आगे बढ़ा। लेकिन, जल्द ही कारों को पुलिस ने दोबारा रोक दिया।

 

बिहटा में ट्रक व्यवसायी की गोली मारकर हत्या।

जनबोल न्यूज

 

गुरुवार की देर शाम बिहटा थाना क्षेत्र के डुमरी गांव के पुल पर बैठे ट्रक व्यवसायी को गोली मारकर हत्या कर दिए जाने का मामला प्रकाश में आया है।घटना के बाद परिजनों में कोहराम मच गया वही गांव में दहशत वयाप्त हो गयी ।

मृतक की पहचान बिहटा के डुमरी निवासी स्व मुक्कू राय का 22 वर्षीय पुत्र राजा बाबु के रूप में की जा रही है ।सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार राजा बाबु का ट्रक सहित अन्य कई व्यवसाय है ।

गुरुवार की शाम गांव के बाहर इवनिग वॉक करने के बाद ग्रामीणों के साथ डुमरी गांव के बाहर स्थित पुल पर बैठ कर आपस मे बातचीत कर रहा था ।संध्या करीब नौ बजे हथियारबंद तीन युवा अपराधी पुल पर पंहुच अचानक गोलीबारी शुरू कर दिया ।गोलीबारी की घटना के बाद आसपास बैठे लोग फरार हो गए।वही गोली की आवाज सुन ग्रामीणो ने पंहुचा तो देखा कि राजा बाबु मुख्य मार्ग पर मृत अवस्था मे गिरे है। और उनके सर एवं अन्य जगहों से खून की धारा निकल रही है ।

बिहटा पुलिस ने पंहुच शव को कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम हेतु पटना भेजकर मामले की छानबीन करते हुए अभियुक्त की गिरफ्तारी में जुट गई है ।
गोली की आवाज से दौड़े ग्रामीण- देर शाम करीब नौ बजे डुमरी पुल के समीप गोली की अचानक तेज आवाज के बाद ग्रामीण हतप्रभ रह गये ।जबतक ग्रामीणों ने पंहुच कर कुछ समझ पाते कि देखा कि राजा बाबु मृत होकर बीच सड़क पर गिरे है ।
बताया जाता है कि राजा बाबु की जन्म के बाद उनके सर से पिता का साया उठ गया था ।राजा बाबु का एक और भाई बिट्टू कुमार है।
तीन लोगों ने मिलकर मारी गोली- प्रत्यक्षदर्शियों के अनुसार पुल पर बैठने के समय अचनाक नकाबपोश तीन लोग आये थे।

एक अपराधी ने राजा बाबु के साथ गाली गलौज करते हुय बोला कि साला बहुत रंगदार बन रहा है मेरे साथ लड़ने के बाद कोई जिंदा नही रहता है अब तू भी नही बचेगा।गाली के बाद अंधाधुंध फायरिंग करते हुय राजा बाबु को मौत की नींद सुला कर फरार हो गया ।

 

 

बिहटा से वशिष्ट कुमार की रिपोर्ट

कौड़ियां गांव में दलित परिवार पर हुए अत्याचार पर, BSP ने सरकार को लिखा पत्र।

जनबोल न्यूज

बिहटा थाना के कौड़ियां गांव में दलितों पर हो रहे अत्याचार कि जांच प्रतिवेदन बहुजन समाज पार्टी के प्रदेश प्रभारी डा मुन्ना प्रसाद कुशवाहा ने सरकार को सौंपी।
श्री कुशवाहा ने कौड़ियां गांव में हुए जानलेवा हमला और पुलिस प्रशासन कि जातिवादी मानसिकता के तहत कर रही करवाई कि घोर निन्दा किया है।
महामहिम राज्यपाल,माननीय मुख्यमंत्री,पुलिस महानिदेशक को पत्र लिखकर मांग करते हुए कहा कि 1,तत्काल थाना प्रभारी बिहटा को निलंबित किया जाए।
2, कौड़ियां गांव में दलितों के जान माल के सुरक्षा हेतु पुलिस पिकेट कि व्यवस्था किया जाए।
3, दलितों पर को झूठा मुकदमा दर्ज कर 47लोगों को अभियुक्त बनाया गया है उसे सरकार वापस लियाजाए।
4, दिनांक 22/5/2020को दर्ज प्राथमिकी संख्या 359/20का उच्च स्तरीय अधिकारियों से जांच करते हुए पुनः थाना प्रभारी अवधेश कुमार झा पर भारतीय दंड सहिता कि धारा 04के तहत प्राथमिकी दर्ज कर कानूनी कार्रवाई की जाए।
5, घायल धर्मेंद्र राम जो पी एम सी एच पटना में भरती है उसे प्रशासनिक देख रेख में समुचित इलाज की व्यवस्था कराई जाए।

बिहटा संवाददाता

वशिष्ट  कुमार

अमरेंद्र पांडेय की गिरफ्तारी के लिए यादव महासभा ने दो घण्टे का उपवास रखा।

जनबोल न्यूज

गोपालगंज हत्या कांड में जदयू विधायक कुख्यात अपराधी अमरेंद्र पांडेय और सिंदुआरी गाँव गया में यादवों पर हुये जान मारने और जमीन दखलकरने, भाजपा नेता सह ब्रह्मर्षि समाज के नेता आशुतोष पांडेय के विरोध में सभी जिला में लॉक डाउन नियम पालन करते हुये दो घण्टे का उपवास कर विरोध दर्ज कराया गया है।

अमरेंद्र पांडेय की गिरफ्तारी और कठोर सजा की माँग, हत्या कांड की न्यायिक जांच, मृतक के आश्रितों को50-50लाख और घायल को20लाख मुआबजा देने की माँग के साथ साथ नीतीश कुमार से इस्तीफे और डीजीपी बिहार गुप्तेश्वर पांडेय की बर्खास्तगी की माँग शामिल हैं।

यादवों के साथ जुल्म अत्याचार नहीं रोकी गयी तो बाध्य होकर सड़क से लेकर विधानसभा तक आंदोलन किया जायेगा, नीतीश कुमार को बिहार में चलना मुश्किल कर देगी यादव महासभा, जब से नीतीश कुमार जब से बिहार में सत्तासीन हुये हैं अपराध बढ़ी है और खासकर यादव समुदाय को चिन्हित कर हत्या करायी जा रही है।

अपराधियों से सांठ गांठ पर बनी सरकार जान बूझकर यादव समुदाय को तंग परेशान कर रही है, बिहार के डीजीपी अपने स्वजाति अपराधियों को संरक्षण प्रदान कर रहे हैं ,ईमानदारी का चादर ओढ़े कई पुलिस अधिकारी, जिलाधिकारी जाति पूछकर परेशान कर रहे हैं, यादव महासभा प्रतिपक्ष के नेता तेजस्वी यादव जी, पूर्व केंद्रीय मंत्री शरद यादव जी और केंद्रीय गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय जी से माँग करती है कि यादवों पर हो रहे अत्याचार के खिलाफ आंदोलन करें, गृह राज्य मंत्री नित्यानंद राय जी और भाजपा जदयू तथा अन्य दलों के यादव सांसदों विधायको की चुप्पी की निंदा करती है।

यादव समुदाय उन सांसदों का विरोध करेगी और चुनाव में ऐसे यादव सांसदों को वोट नहीं दिया जायेगा, गोपालगंज हत्या कांड पर प्रतिपक्ष के नेता सह पूर्व उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव द्वारा ली गयी एक्शन का यादव महासभा स्वागत करती है ।

जबतक अमरेंद्र पांडेय को गिरफ्तार नहीं किया जाता यादव महासभा अपना संघर्ष जारी रखेगा आज28,05,2020को बिहार के सभी जिलों में दो घण्टे का सांकेतिक उपवास रखकर विरोध दर्ज की गई, युवा यादव महासभा बिहार के अध्यक्ष श्री अजय यादव ने बताया कि यह आज का उपवास कार्यक्रम सफल रहा है।

आगे भी जघन्य अपराध के खिलाफ संघर्ष जारी रहेगा, किसनगंज, अरवल, पटना, छपरा, सुपौल, आरा, भगलपुर, खगड़िया, नवादा, समेत सभी जिला अध्यक्षों ने कार्यक्रम को सफल बताया, झारखंड युवा संगठन के प्रभारी श्यामनंदन कुमार यादव ने कहा कि जबतक हत्यारा बाहुबली जदयू विधायक अमरेंद्र पांडेय (पप्पू पांडेय)को गिरफ्तार नहीं किया जायेगा संघर्ष जारी रहेगा, गोपालगंज और सिंदुआरी गया की घटना का न्यायिक जांच राज्य मानवाधिकार और सेवा मुक्त न्यायाधीश से करायी जाय तथा डीजीपी बिहार गुप्तेश्वर पांडेय और गोपालगंज के आरक्षी अधीक्षक को बर्खास्त किया जाय और मृतक के आश्रितों को50-50लाख मुआबजा और घायल जेपी यादव को20लाख रुपये का मुआबजा दे राज्य सरकार श्यामनंदन कुमार यादव

पटना संवाददाता

रवि कुमार

Film Corona virus trailer

Film Corona virus trailer : रामगोपाल वर्मा ला रहे फिल्म “कोरोना वायरस” का ट्रेलर जारी देखें वीडियो

Janbol News

कोरोना के लॉक डाउन में लोगों ने अपनी अपनी क्रिएटिविटी को सोशल मीडिया पर खुब साझा किया है। फिल्मी दुनिया के मशहुर फिल्मकार रामगोपाल वर्मा भी कोरोना के दौरान की गयी अपनी क्रिएटिविटी Film Corona virus trailer  अपने ट्वीटर पर साझा किया है। दरअसल राम गोपाल वर्मा Corona virus नाम से हीं फिल्म ला रहे हैं. इस फिल्म की ट्रेलर जारी की गयी है। खास बात यह की रामगोपाल वर्मा ने दाबा किया है कि यह पूरी फिल्म कोरोना पीरियड में जारी लॉक डाउन में हीं सूट की गयी है। उन्होंने अपने ट्वीट में कहा है कि “जब बाकी लोग घर का पोंछा लगाने, खाना बनाने, बर्तन धोने और कपड़े सुखाने जैसे काम कर रहे थे, तब मैंने एक फिल्म बना दी।

एक अन्य ट्वीट में फिल्म के बारे में जानकारी देते हुए रामगोपाल वर्मा लिखते हैं। फिल्म कोरोना के कारण हमारे दिलों में बैठे डर के बारे में है। वे लिखते हैं, “कोरोनावायरस हॉरर फिल्म नहीं है। यह उस हॉरर के बारे में है, जो हम सभी के अंदर हैं। यहां तक कि हमारे ग्रेट लीडर्स और ब्यूरोक्रेट्स में भी, जिसे सिर्फ उतना ही जानते हैं, जितना हम जानते है, जो कि कुछ भी नहीं है।” इसकेसाथ हीं  youtube पर जारी वीडियो का लिंक भी साझा किया है जिसे आप आसानी से ट्रेलर को देख पायेंगे.

यह है Film Corona virus trailer

फिल्म के चार मिनट के ट्रेलर जारी की गयी है। जारी ट्रेलर में एक परिवार की कहानी दिखाई दे रही है जो कि लॉकडाउन के कारण साथ रह रहे हैं। हालात तब संदिग्ध हो जाते हैं, जब एक सदस्य में फ्लू जैसे लक्षण दिखाई देते हैं। तेलुगु में बनी यह फिल्म अभिनेता श्रीकांत अयंगर पर पिक्चराइज है। अगस्त्य मंजू ने इसका निर्देशन किया है।

 

शर्मनाक भूख से महिला की मौत

shrmik express : शर्मनाक : श्रमिक ट्रेन से आरही महिला भूखे और प्यासे दमतोड़ी,दिल दहलाने वाला video viral

जनबोल न्यूज

भारत में मानवता इतना  बदना पहले नहीं हुयी थी। हर रोज पैदल बिहार आरहे लोग तो आपने देखा और सुना हीं होगा। हर रोज गाड़ी और ट्रेन की चपेट में आने से महिला की मौत की खबर भी आपने सुना होगा। लेकिन आज जो विडियो वायरल हो रही है वह बेहद हीं शर्मनाक है। दरअसल श्रमिक एक्सप्रेस से कटिहार लौट रही महिला ने दम इसलिए तोड़ दिया क्योंकि उसे खाना और पानी नहीं मिल पाया था.

दरअसल जिस महिला की मौत हुयी है उस महिला का नाम अरवीना खातून (35) था। वह कटिहार की रहने वाली थी। महिला अपनी बहन और जीजा के साथ श्रमिक एक्सप्रेस से अहमदाबाद से बिहार आ रही थी। बीते रविवार वह ट्रेन में सवार हुई। खाना और पानी न मिलने के चलते ट्रेन में महिला की स्थिति खराब हो गई।

सोमवार को दोपहर करीब 12 बजे महिला की ट्रेन में मौत हो गई। ट्रेन मुजफ्फरपुर जंक्शन पर दोपहर के करीब तीन बजे पहुंची। तब रेलवे पुलिस ने महिला का शव ट्रेन से उतारा। महिला के शव को जब प्लेटफॉर्म पर रखा गया, तब उसका ढाई साल का बच्चा करीब पहुंच गया। वह मां के पास खेलने लगा। उसे जगाने की कोशिश करने लगा।

देखिये वीडियो

मिटने जा रहा इतिहास

मिटने जा रहा इतिहास : लालू सरकार ने बंद करवायी थी चीनी उत्पादन, अब नीतीश सरकार बेंच रही जमीन!

जनबोल न्यूज

मिटने जा रहा इतिहास- कोरोना महामारी के कारण हर रोज प्रवासी मजदूर बिहार लौट रहे हैं. बिहार का बुद्धिजीवी वर्ग micro blogging site twitter पर #industriesinbihar trend करवा रहे हैं । बिहार सरकार भी बिहार में इंडस्ट्रीज लाना चाहती है यह कहते हुए उद्योग मंत्री श्यामरजक 8 बंद परे चीनी मिलों की जमीन को बियाडा को सौंपना चाहते है ताकि नये उद्योग बिहार में आये। निगम की 8 इकाइयों की 2442.41 एकड़ जमीन बिहार औद्योगिक विकास प्राधिकार (बियाडा) को हस्तांतरित कर दिया। इसमें लोहट, हथुआ, बनमखी, वारसलीगंज, गोरौल, गुरारु, न्यू सीवान और सीवान है। उद्योग विभाग ने मंगलवार को यह अधिसूचना भी जारी कर दी है ।

चीनी मिलों को शुरू करने की उठ रही थी मांग

जहां आम आवाम चीनी और जूट मिलों को शुरू करने की मांग कर रही है वहीं सरकार इसके ठीक उलट चीनी मिलों के अवशेष को हीं खत्म कर रही है ऐसे में मिटने जा रहा इतिहास । बिहार में कब उद्योग आयेगा या नहीं यह कहना बहुत मुश्किल है. हाँ इतना जरूर है जमीन देने की घोषणा के साथ सरकार अब पुराने उद्योग बंद क्यों हैं इस प्रश्न से पल्ला झाड़ लेगी। जमीनों का क्या होगा किस रेट पर सरकार बेंचेगी किस रेट पर सरकार की जेब गर्म होगी यह अंतर होने की संभावना पहले हीं जारी है।

जानिये कब शुरू हुआ था कौन चीनी मिल !
  • मिटने जा रहा इतिहास पढ़ कर जान लें ।
  • दरभंगा सुगर कंपनी के तहत वर्ष 1914 में स्थापित लोहट चीनी मिल वर्ष 1996 से बंद पड़ी है। बंद मिल को चालू करने के दिशा में वर्ष 2012 में नीतीश सरकार द्वारा लोहट चीनी मिल चलाने के लिए डालमियां समूह को स्वीकृति प्रदान किया गया था। लेकिन सरकारी प्रयास अबतक विफल साबित रहा हैं। मिल बंद होने से अब  गन्ना उत्पादक अपने गन्ना को नेपाल ले जाकर बेंचते हैं।
  • गोपालगंज का हथुआ चीनी मिल 1996-97 सत्र में गन्ने की पेराई से बंद पड़ा है। इस चीनी मिल को दोबारा चालू करने के लिए प्रदेश की नीतीश सरकार से लेकर देश के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तक ने दावे किए। बावजूद इसके गोपालगंज का यह हथुआ चीनी मिल आज भी अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है। इस चीनी मिल से आसपास के 800 गांव के किसानों को फायदा  होता था इस चीनी मिल में कुल 2400 कर्मी कार्यरत थे।
  • पूर्णिया का बनमखी चीनी मिल इसकी स्थापना 1955 में हुई थी। 1970 में चीनी मिल के शुरू होने के बाद सीमांचल में गन्ने का उत्पादन जोर-शोर से शुरू हुआ। इससे किसानों को आर्थिक मजबूती मिली थी। 1970 से 1990 ईस्वी तक इस इलाके के समृद्धि की पहचान बनमनखी चीनी मिल के बंद होते ही लाखों किसानो से लेकर कामगार बेरोजगार हो गये. 1990 में घाटा की बात कहकर लालू यादव की सरकार ने चीनी मिल को सदा के लिये बंद कर दिया. हर बार सियात के नजरों में मुद्दा बनने के बाद भी अबतक न लालू न नीतीश की सरकार इसकी तस्वीर को बदल पायी अब 119 एकड़ जमीन हीं झीनने की तैयारी है ।
  • नवादा का वारिसलीगंज चीनी मिल 1933-34 में खुलने वाले इस चीनी मिल की चीनी पूरे देश में मशहूर थी. मोहिनी सुगर मिल के मालिक करमचंद थापड़ ने पंजाब से आकर इसे खोला था. एक समय तो इसका सलाना उत्पादन 8000 मीट्रिक टन से भी ज्यादा था, 1200 से ज्यादा कर्मचारी इसमें अपनी सेवा देते थे. नवादा ही नहीं शेखपुरा, गया और नालंदा के किसान इसे लाभान्वित होते थे.वारिसलीगंज प्रखंड का सुप्रसिद्ध चीनी मिल 1992-93 में पूरी तरह बंद हो गया बाकि चीनी मिलों के तरह इसके भी बंद होने का कारण मिल का घाटा बताया गया।
  • वैशाली कागोरौल चीनी मिल – घाटे का शौदा एक ऐसा शब्द बिहार के चीनी मिलों के लिए साबित हुआ किलगभग हर मिल को बंद करने से पहले यही राग अलापी गयी और इस मिल के साथ भी यही हुआ। अब सरकार इसकी जमीन जो  27 एकड़ भूखंड पर फैले को भी नये उद्योग के नाम पर बेंचने की तैयारी में है। 
  • गुरारू चीनी मिल गया -1953 ई. में इस मिल को स्थापित करने वाले लाल गुरुशरण लाल ने इस मिल में चीनी बनाने का काम सन् 1934 ई. से शुरू किया, जो 1948 में निर्बाध रूप से चला। लेकिन स्वतंत्रता के बाद मिल पर संकट के बादल छाने लगे। 1949 से 1950 तक पहली बार मिल में चीनी का उत्पादन बंद किया गया। इसके बाद चीनी मिल कई दफे बंद हुई। फिलहाल 1974 से मिल चीनी निगम के हाथ में है। लेकिन 1991 से मिल में पूरी तरह से उत्पादन बंद होगये.
  • न्यू सीवान चीनी मिल– 1918 में  न्यू सीवानचीनी मिल शुरू हुयी।  प्राचिनता की बात करें तो यह बिहार का तिसरा सबसे पुरानी चीनी मिलों में से एक था। लेकिन अब बदहाली के कगार पर खण्डहर में तबदील हैजिन 15 चीनी मिलों को सरकार 1977 से 1985 के बीच अधिग्रहीत की थी उसमें न्यू सीवान चीनी मिल भी शामिल थी। बाकियों के तरह लागत ज्याद और आमदनी कम के रोना रोते हुए सरकार इस चीनी मिल से भी उत्पादन बंद कर दी. 

Posted By

Bala Patanpuria 

ऑल इंडिया पेंटिंग कॉम्पटीशन के, टॉप 20 आर्टिस्टों में में चुना गया बिहटा का लाल सुमित सिन्हा

जनबोल न्यूज

बिहटा

बिहार के राजधानी पटना के एक गाँव बिहटा थाना अंतर्गत श्रीरामपुर गाँव का एक छोटे से परिवार का रहने वाला एक लड़का सुमित सिन्हा को ऑल इंडिया पेंटिंग कॉम्पटीशन में जगह मिला है। बिहार से एकमात्र ऐसा लड़का है जो ऑल इंडिया पेंटिंग कॉम्पटीशन के टॉप 20 में चुने जा चुके है। आपको बता दें कि बिहार से एक मात्र लड़के है जो इस पेंटिंग के कॉम्पटीशन में चुने जा चुके है। आपको बताते चले कि यह कॉम्पटीशन हुलाहुल फाउंडेशन मुम्बई के बड़े आर्टिस्ट के तरफ से ऑर्गनिईज किया जा रहा है ।

सुमित सिन्हा से बातचीच में उन्होंने बताया कि उनकी बचपन से ही पेंटिंग में रुचि रही है। आपको बताते चले कि उन्होंने एक हमारे देश के माननिये प्रधानमंत्री पे भी पेंटिंग बनाइ थी जिसमें उन्होंने पूरे देश को लॉक दिखाया था। दरअसल कॅरोना जैसी वैश्विक महामारी से लड़ने के लिए प्रधानमंत्री के आह्वान पर पूरा देश लॉक डाउन है। उस संदर्भ में इन्होंने पेंटिंग में दिखाया है कि जिस तरह अपनी माँ बच्चो को किसी बीमारी से बचाने के लिए अपने बच्चो को जिस तरह गोद में सिमटा कर रखती है बिल्कुल उसी तरह पूरे देश को  प्रधानमंत्री ने अपने गोद मे पूरे देश को सिमटा रखा है और चाभी उनके हाथ मे है ।

सुमित सिन्हा ने यही नही पूरे विश्व के पेंटिंग कॉम्पटीशन में भी अपना नाम आगे किया है। दरअसल सिन्हा को  पूरे विश्व में उन्हें टॉप 70 में भी चुना गया है। सिन्हा  पूरे विश्व के मैप पर अपने राज्य बिहार और अपने गाँव बिहटा का नाम दर्ज करवा रहे हैं । इस से पूरे बिहार वासियों तथा खास कर बिहटा वासियों को बहुत गर्व है।

सिन्हा ने बिहार वासियों तथा खास कर अपने गाँव बिहटा वासियों से खास कर एक गुजारिश की है कि कृपया कर के इन्हें विजय बनाने में सहयोग करे ताकि ये ओर आगे जा सके और अपने बिहार का नाम और रौशन कर सके।  इसके लिए आग्रह किया है कि  अपने इंस्ट्राग्राम के आईडी पर जा कर hulahul foundation को request भेजे और पेंटिंग को खोज कर एक लाइक और एक कमेंट जर्रूर करे ताकि इस बच्चे को नेशनल लेवल पे सलेक्ट किया जा सके और ये अपने राज्य बिहार का नाम और आगे ले जा सके ।

Reported By

Vashist Kumar

Bihar board topper :संतपॉल स्कूल देगा ,10th Topper हिमांशु राज को नि:शुल्क 12वीं तक की शिक्षा!

जनबोल न्यूज

पटना

प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफ़ेयर एसोसीएशन के राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने बिहार बोर्ड टॉपर हिमांशु राज जो रोहतास के रहने वाले है उसको संत पॉल स्कूल जो दक्षिण बिहार का सर्वश्रेष्ठ CBSE से संबद्धता प्राप्त विद्यालय जो रोहतास ज़िला मुख्यालय सासाराम में अवस्थित है उसे वहाँ ग्यारहवी एवं बारहवीं तक की नि:शुल्क पढ़ाई एवं पुस्तक व अभ्यास पुस्तिका सहित पढ़ाने की घोषणा की है। उन्होंने संत पॉल स्कूल सासाराम के अध्यक्ष डॉक्टर एस॰पी॰वर्मा को इस बड़े सहयोग के लिए धन्यवाद दिया है।

बता दे कि बिहार बोर्ड के 10 वी बोर्ड का रिज़ल्ट शिक्षा मंत्री कृष्ण नंदन प्रसाद वर्मा एवं बोर्ड के अध्यक्ष आनंद किशोर द्वारा मंगलवार को जारी किया गया है। इस परिणाम के घोषित होने के उपरांत रोहतास जिला के जनता हाई स्कूल टेनौज का छात्र हिमांशु राज सर्वोच्च अंक प्राप्त कर टॉप पर रहा। हिमांशु राज ने टाॅप रैंक प्राप्त कर रोहतास ज़िला का परचम सम्पूर्ण  लहराया है।
प्रदेश महामंत्री डाॅ एस पी वर्मा ने दसवीं बोर्ड की परीक्षा में हिमांशु राज को सूबे में टाॅप रैंक प्राप्त करने पर बधाई देते हुए दक्षिण बिहार का श्रेष्ठ विद्यालय संत पाॅल सीनियर सेकेंडरी स्कूल में ग्यारहवीं और बारहवीं की साइंस या काॅमर्स फैकल्टी की शिक्षा नि: शुल्क प्रदान करने बातें कही है। साथ ही पठन – पाठन से संबंधित सभी खर्च विद्यालय प्रबंधन द्वारा वहन करने की बातें दुहराई गयी है।
विद्यालय के निदेशक रोहित वर्मा ने राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद को कोटि-कोटि धन्यवाद अर्पित किया जिन्होंने इस प्रतिभाशाली छात्र को उनके विद्यालय में आगे की पढ़ाई संपूर्ण करने का अवसर प्रदान किया।

आंगनबाड़ी सेविका के पुत्र ने बनाया बिहार बोर्ड टॉपर लिस्ट में जगह!

जनबोल न्यूज

मोतिहारी

बिहार बोर्ड 10वीं के परीणामों की घोषणा आज की गयी है. 80.59 % विद्यार्थीओं ने सफलता हासिल की है. बिहार बोर्ड द्वारा जारी टॉप 10 दस की सूची में मोतिहारी जिले केसंग्रामपुर प्रखण्ड के  एसएच हाईस्कूल टिकहां के छात्र शुभम कुमार ने भी टॉप 10 में जगह बनाया है। शुभम कुल 472 अंको के साथ 9 वॉ स्थान प्राप्त किया है। बताते चलें की टॉप दस की सूची में जगह बनाने वाले जिले के  एक मात्र छात्र शुभम के पिता सत्रुधन सहनी  किसान और माता शोभा देवी आंगनबाड़ी सेविका हैं.

Reported By

Om Prakash Gupta

Bihar Board Result Out : 80.59% छात्र पास, टॉपर लिस्ट में पिछड़ा नीतीश का मॉडल स्कूल!

जनबोल न्यूज

bihar board का result out होगया है। 80.59%छात्र पास हुए हैं। 96.2प्रतिशत अंक के साथ रोहतास जिले के हिमांशु राज राज्य के नये टॉपर बने हैं। हिमांशु राज को कुल 500 अंकों के परीक्षा में 481 अंक प्राप्त हुए हैं। टॉप 10 में कुल 41 बच्चों ने जगह बनाया है। इसमें एक मात्र छात्र बिहार के मॉडल शिक्षा के लिए शुरू किया गया समुलतला आवासीय विद्यालय से है।

बता दें की शिक्षा मंत्री कृष्णनंदन वर्मा ने  रिजल्ट को बोर्ड की वेबसाइट http://onlinebseb.in एवं http://biharboardonline.com पर जारी किया गया। दरअसल, कोरोना महामारी के कारण लागू लॉकडाउन की वजह से परीक्षाफल की घोषणा के लिए प्रेस कॉन्फ्रेंस का आयोजन नहीं किया गया।

15 लाख विद्यार्थी बैठे थे परीक्षा में

इस बार के बिहार बोर्ड के मैट्रिक परीक्षा में कुल 15 लाख 29 हजार 393 विद्यार्थी शामिल हुए थे. शामिल विद्यार्थियों में 7 लाख 83 हजार 34 छात्राएं एवं 7 लाख 46 हजार 359 छात्र हैं। कॉपियों का मूल्यांकन 6 मई से शुरू हुआ था और 14 मई तक चला था। इसके बाद से रिजल्ट की प्रक्रिया चल रही थी।

 

ट्रेनो के लेट पहुचने से नाराज पप्पु करेगे रेल मंत्री पर मुकदमा।

जनबोल न्यूज

 

जन अधिकार पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव राजेश रंजन “पप्पु” ने प्रेस रिलीज जारी कर बिहार सरकार से रेल मंत्री पर हत्या का मामला दर्ज कराने की मांग किये। श्री राजेश ने कहा कि दुनिया के सबसे बड़े रेल नेटवर्क में से एक भारतीय रेल आज बेपटरी हो गया है।

प्रवासी मजदूरों के लिए चल रहे स्पेशल ट्रेन को 9 दिनों में भी अपने गंतव्य तक नही पहुँचना शर्मनाक है।ट्रैन की देरी के कारण बोगी में ही भूख से तड़प के दम तोड़ रहे मजदुरो के जिम्मेवार रेल मंत्री पीयूष गोयल है।

इसलिए बिहार सरकार द्वारा रेल मंत्री पर हत्या का मामला दर्ज किया जाए। राजेश रंजन ने प्रवासी मजदूरों के रहने के लिए बने कोरन्टीन सेंटर की बदहाल व्यवस्था पर भी सरकार से सवाल पूछे उन्होंने कहा कि कोरंटिन सेंटर में भी प्रवासी मजदूर दम तोड़ रहे हैं।

वर्तमान सरकार का प्रवासी मजदूरों के प्रति संवेदनहीन होना निंदनीय हैं। कोरन्टीन सेंटर में न तो ठीक से खाना मिल रहा है,न बिजली है, न ठीक से जाँच हो रही है,ऐसे में कोरोना होने से पहले व्यवस्था की सुस्ती से प्रवासी मजदूर तनाव में जी रहे हैं।

पटना संवददाता

रवि कुमार

पटना की  9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की टीमे बंगाल राहत कार्य मे जुटी ।

जनबोल न्यूज

 

9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की 04 टीमें पश्चिम बंगाल के पूर्व मेदिनीपुर, उत्तर एवं दक्षिण 24 परगना और हावड़ा जिलों में चक्रवाती तूफान “अम्फान” से तबाही के बाद राहत व बचाव ऑपेरशन में दिन-रात मुस्तैदी से जुटी हुई है। वर्तमान में एनडीआरएफ की कुल 38 टीमें पश्चिम बंगाल में राहत व बचाव कार्य में जुटी हुई है।

विजय सिन्हा, कमान्डेंट ने कहा कि बल मुख्यालय नई दिल्ली के निर्देशानुसार 9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ बिहटा (पटना) की इन 04 टीमों को पश्चिम बंगाल के विभिन्न जिलों में चक्रवाती तूफान ‘अम्फान’ के मद्देनजर 19 मई को तैनात किया गया था।

9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की एक टीम निरीक्षक पीटर पॉल डुंगडुंग के नेतृत्व में पश्चिम बंगाल राज्य के पूर्व मेदिनीपुर जिलान्तर्गत बहुचर्चित नन्दीग्राम इलाके में ऑपेरशनल कार्य में दृढ़ता के साथ जुटी हुई हैं। एनडीआरएफ टीम नन्दीग्राम प्रखंडतर्गत महेशपुर, परुलबाडी, बसूरकटा, टेंगुआ, हरिनाथपुर आदि इलाकों में अत्याधुनिक कटिंग उपकरणों की मदद से चक्रवाती तूफान में उखड़ कर भारी तादाद में सड़कों पर गिरे पेड़ों को काटकर जल्द से जल्द सड़क नेटवर्क बहाल करने में जुटी हुई है।

मुख्य सड़क नेटवर्क बहाल करने के बाद टीम लिंक रोड से पेड़ों को हटाने में जुटी हुई है। एनडीआरएफ के बचावकर्मी चक्रवाती तूफान से उखड़ कर गिरे बिजली के खम्भों को भी अत्याधुनिक कटिंग टूल्स की मदद से काटकर एवं यथाशिघ्र हटाकर बिजली सुविधा मुहैया कराने में राज्य बिजली विभाग के कर्मचारियों को भी मदद कर रहे हैं।

उत्तर 24 परगना जिला में टीम कमान्डर ब्रह्म देव यादव के नेतृत्व में 9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की एक टीम हाबड़ा प्रखण्ड इलाके में और सब-स्टेशन आनंदपुर में चक्रवात से बाद तबाही के बाद सड़क नेटवर्क और बिजली सुविधा बहाल करने में जिला प्रशासन को लगातार मदद कर रहे हैं। उप कमान्डेंट कुलदीप कुमार गुप्ता के देखरेख में और टीम कमान्डर महेन्द्र सिंह धामी के नेतृत्व में एक टीम हावड़ा जिला में और निरीक्षक राजेश मीणा के नेतृत्व में एक टीम दक्षिण 24 परगना जिला में राहत व बचाव ऑपेरशन में मुस्तैदी से जुटी हुई है।

कमान्डेंट विजय सिन्हा ने आगे बताया कि 9वीं वाहिनीं एनडीआरएफ की इन चारों टीमों के देखरेख और प्रशासन एवं अन्य एजेंसियों के साथ कुशल समन्वय के लिए द्वितीय कमान अधिकारी रवि कान्त को भेजा गया है।

 

 

बिहटा से वशिष्ट कुमार की रिपोर्ट

कोरोना से निबटने में विफल बिहार सरकार के खिलाफ 27 मई को धरना पर बैठेंगे- उपेंद्र कुशवाहा।

जनबोल न्यूज

रालोसपा के प्रदेश मुख्य प्रवक्ता अभिषेक झा ने बताया कि रालोसपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष सह पूर्व केंद्रीय राज्यमंत्री श्री उपेंद्र कुशवाहा जी के द्वारा राष्ट्रीय लोक समता पार्टी के जिला अध्यक्षों, प्रदेश पदाधिकारियों, विभिन्न प्रकोष्ठों के प्रदेश अध्यक्ष एवम राष्ट्रीय तथा प्रान्तीय नेताओं के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लगातार सप्ताह भर तक चली बैठकों का आज समापन हो गया।

बैठक में राज्य के गरीबों व मजदूरों की स्थिति और भविष्य में उनके रोजगार पर उत्पन्न संकट पर गंभीर चिंता व्यक्त की गई।साथ ही प्रदेश में चलाये जा रहे कवरेंटीन सेंटर की बदइंतजामी में सुधार के लिए भी एक प्रस्ताव पारित कर सरकार के समक्ष सुझाव रखने का निर्णय लिया गया।
बैठक में निर्णय लिया गया कि पूर्व में रालोसपा द्वारा बिहार सरकार को दिए गए सुझावों के साथ कुछ नए सुझावों को जोड़ते हुए उनके तत्काल कार्यान्वयन हेतु मुख्यमंत्री के ध्यान को आकृष्ट करने के उद्देश्य से पार्टी राज्यव्यापि आंदोलन करेगी।
अपने आंदोलन के क्रम में दिनांक 27 मई 2020 को 11 बजे से 1 बजे तक राज्य के तमाम जिला मुख्यालओं पर सांकेतिक धरना कार्यक्रम का आयोजन होगा। धरना के उपरांत अपनी मांगों से संबंधित एक ज्ञापन भी जिलाधिकारी को सौंपा जाएगा।कार्यक्रम में पूर्ण रूप से फिज़िकल डिस्टनसिंग सहित कोरोना से बचाव के लिए आवश्यक निर्देशों को पालन किया जाएगा।

पटना संवाददाता

रवि कुमार

मिट्टी विवाद मे दो पक्षों के बीच हुआ झगड़ा, चली गोलियां, 1 देसी कट्टा के साथ चार लोग गिरफ्तार ।

जनबोल न्यूज

नौबतपुर- राजधानी पटना से सटे नौबतपुर में अपराधियो के तो हौसले बुलंद है। उनके लिए थोड़ी थोड़ी सी बात पर हथियार लहराना कोई बड़ी बात नही है। दबंगो द्वारा खुलेआम हथियारों का प्रदर्शन कर इलाके में दहसत फैलाया जा रहा है।

वीडियो में साफ देखा जा रहा है ।कि एक युवक मिट्टी भराई में हुए बिबाद को लेकर किस प्रकार हथियार का प्रदर्शन कर रहा है।
आपको बता दें कि मामला नौबतपुर थाना क्षेत्र के अभगिला गांव का है।

जहां दो पक्षों के लोगो के बीच कहासुनी हो गयी और दोनों तरफ के लोग आपस में भीड़ गए। दोनों पक्षों के लोगो ने गांव में अपने वर्चस्व को कायम रखने के लिए ताबड़तोड़ कई राउंड फायरिंग भी कर दी।

गोलीबारी से पूरे गांव में अफरा तफरी मच गई। हालांकि नौबतपुर पुलिस ने इस मामले में दोनों पक्ष से चार लोगों को गिरफ्तार कर लिया है। और एक देसी कट्टा भी बरामद किया है। लेकिन फिर भी गांव में दहसत व्याप्त है।

बताया जाता है कि कमलेश यादव अपने घर में मिट्टी भरवा रहा था लेकिन ज़मीन मालिक गोलू कुमार ने इसका विरोध किया जिसके बाद दोनों पक्षों में झगड़ा हो गया

नौबतपुर संवाददाता

कुंदन सिह

ज्योति के 9वीं – 12वीं तक शिक्षा का खर्च प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन ने उठाने का दावा किया ।

जनबोल न्यूज

 

प्राइवेट स्कूल्स एंड चिल्ड्रेन वेलफेयर एसोसिएशन ने ज्योति कुमारी जो गुड़गांव से दरभंगा तक साइकिल से अपने बीमार पिता को लेकर आई जिसने कीर्तिमान किया है उसे पुरस्कार के रूप में दरभंगा के सबसे प्रतिष्ठित सीबीएसई एफिलिएटिड डॉन बॉस्को स्कूल में कक्षा 9 वी से बारहवीं तक किताबों सहित निशुल्क शिक्षा देने की घोषणा की है।

उसके इस साहसी जज्बे को देखते हुए तत्काल राष्ट्रीय अध्यक्ष शमायल अहमद ने प्रसन्न होकर एवं उसके मनोबल को बढ़ाने हेतु एसोसिएशन की तरफ से ज्योति कुमारी को 5100 ₹ एवं अंग वस्त्र भेंट भी करवाया साथ ही आश्वासन दिया कि भविष्य में 9th to 12th की शिक्षा में आगे बढने में अगर कोई परेशानी होगी, तो एसोसिएशन मदद के लिए हमेशा तत्पर रहेगा|

 

 

 

इस आपातकालीन स्थिति में वीरता का प्रमाण देने वाली ज्योति कुमारी जिसने कोरोना महामारी के इस दौर में अपने साहस के बल पर अपने बीमार पिता को बीमारी एवं भूखमरी से बचाने हेतु अपने गांव, दिल्ली के गुड़गाँव से बिहार के दरभंगा जिला के सिरहुल्ली गांव साइकिल से लेकर आ गयी|

ज्योति ने साइकिल के माध्यम से दिल्ली से दरभंगा तक की 1200 किलोमीटर की यह दूरी 7 दिनों में तय की। एवं संपूर्ण देश की लड़कियों को यह दिशा निर्देश दिया है कि यदि लड़कियां ठान ले तो कुछ भी कर सकती हैं
शमायल अहमद राष्ट्रीय अध्यक्ष ने डॉन बॉस्को स्कूल के निदेशक एवं दरभंगा जिला एसोसिएशन के अध्यक्ष डॉ एस ए एच आबदी को ज्योति कुमारी को कक्षा नौवीं से बारहवीं तक पढ़ाने का सहयोग देने के लिए धन्यवाद किया और साथ ही सचिव हीरा कुमार, शमीम हैदर कोषाध्यक्ष डॉक्टर रजिया, पवन कुमार राय को भी ज्योति कुमारी के निवास स्थान पर जाकर उसे प्रोत्साहित करने के लिए धन्यवाद दिया

 

maze farmer crisis : बर्बाद होरहा है मक्का,ध्यानाकर्षण के लिए नीतीश को लिखा पत्र

Janbol News

खगड़िया

कोरोना महामारी के कारण कई तरह की फसलें खेतों में पड़ी है। बीच बीच में पानी और ओलावृष्टि लगातार फसलों को नुकसान पहूँचा रही है। ऐसे में किसान दोहरी मार के शिकार हैं। ऐसे हीं आपदा के शिकार मक्का उत्पादक किसानों के लिए  जिले के परबत्ता प्रखंड के कुल्हड़िया निवासी सामाजिक कार्यकर्ता सौरव कुमार ने मक्का किसानों को शोषण से मुक्ति दिलाने हेतु बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार को खुला खत के माध्यम से गुहार लगाया  है। उन्होंने अपने खुला पत्र के माध्यम से सरकार से मांग किया है कि कोशी के किसानों द्वारा उत्पादित पीला सोना यानी मक्के की खरीदारी सरकार द्वारा निर्धारित न्यूनतम समर्थन मूल्य पर धान की खरीदी की तरह पंचायतों में मौजूद पैक्स के माध्यम से किया जाय और किसानों को उसकी कीमत तत्काल भुगतान किया जाय।

–कहीं बिहार में भी शुरू न हो किसानों की आत्महत्या ?

अपने पत्र में आगे उन्होंने लिखा है कि पिछले दिनों आंधी-तूफान और ओलावृष्टि होने से जो फसल बर्बाद हुयी है उसकी क्षतिपूर्ति के लिए सरकार द्वारा जो अनुदान निर्धारित किया गया है वह लागत मूल्य से बहुत ही कम है। उन्होंने उसे तत्काल बढ़ाने की भी मुख्यमंत्री से मांग की है। उन्होंने राज्य सरकार को आगाह करते हुए कहा है कि यदि राज्य सरकार इस दिशा में ठोस पहल नहीं करती है तो अन्य राज्यों की ही भांति यहाँ के किसान भी आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएंगे और किसानों को मजबूरन कोविड-19 के इस पीड़ादायक स्थिति में संगठित होकर आंदोलन करने के लिए विवश होना पड़ेगा, जिसके लिए राज्य सरकार जिम्मेवार जिम्मेदार होगी।

मोतिहारी : लीची उत्पादकों के समस्याओं को लेकर आयोजित हुयी गोष्ठी!

जनबोल न्यूज

मोतिहारी

मोतिहारी के मेहसी प्रखंड में लीची उत्पादन,विपणन और समस्यायों आदि बिन्दुओं पर विचार विमर्श हेतु एक दिवसीय कृषक गोष्ठी का आयोजन किया गया।गोष्ठी का संचालन रणवीर सिंह परियोजना निदेशक,आत्मा कर रहे थे।

उक्त अवसर पर कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में सम्मिलित जिलाधिकारी शीर्षत कपिल अशोक ने कहा कि लीची उत्पादन मेहसी प्रखंड की मुख्य पहचान है एंव यहां के लीची की स्वाद विश्व प्रसिद्ध है।लीची बागान में आयोजित एक दिवसीय कृषक गोष्ठी में उपस्थित वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए लीची विपणन में आ रही समस्याएं संज्ञान में लाए जाने पर जिला पदाधिकारी महोदय ने लीची के सुगम विपणन हेतु यथोचित कारवाई का आश्वासन दिया है।

उन्होंने कहा कि यह भ्रामक धारणा है कि लीची सेवन से चमकी बुखार होता है। AES और JE चमकी बुखार से बचाव हेतु यह आवश्यक है कि बच्चो को धूप में नहीं निकलने दिया जाय,रात में बच्चो को भूखे पेट नहीं रखे एवम लक्षम परिलक्षित होने पर तत्काल चिकिस्ता की व्यवस्था की जाए।जिलाधिकारी ने कहा कि लीची ऊर्जा एवम विटामिन सी का प्रमुख स्रोत है एवम प्रतिरोधी क्षमता के विकास में सहायक होता है।

वर्तमान परिस्थितियों को देखते हुए लीची सेवन लाभदायक है।उन्होंने कहा कि जिला प्रशासन जिला से अन्य जिलों व राज्यो में लीची को उपलब्धता हेतु सशक्त तंत्र विकसित करने की दिशा में ठोस प्रयास करेगा,साथ ही प्रोसेसिंग प्लांट संस्थापन की दिशा में भी यथोचित कारवाई की जाएगी।प्रोसेसिंग प्लांट संस्थापन हेतु जिला उद्यान पदाधिकारी को अविलंब प्रभावशाली कार्ययोजना तैयार करने का निर्देश दिया गया है।

इस  अवसर पर जिलाधिकारी ने लीची उत्पादकों बातचीत की एवम् समस्याओं के यथोचित निवारण का आश्वासन दिया है।उक्त कार्यक्रम में भाग लेने के पश्चात श्री एस के अशोक,जिलाधिकारी महोदय ने मेहसी प्रखंड के बथना पंचायत में संचालित सिप बटन उद्योग के वर्तमान क्रियान्वयन स्थिति का निरीक्षण किया एवम् कुटीर उद्योग संचालक से बातचीत की एवम् संचालित उद्योग के विकाश हेतु अविलंब आवश्यक कार्रवाई का आश्वासन दिया है।

निरीक्षण क्रम में जिलाधिकारी ने बथना पंचायत में संचालित मधुमक्खी पालन से संबंधित व्यक्तियों से बातचीत की एवं इससे होने वाले लाभ से अवगत हुए।मेहसी प्रखंड भ्रमण क्रम में जिलाधिकारी ने महात्मा गांधी महाविद्यालय, मेहसी में संचालित Quarantine centre में निश्चित अवधि तक आवासित व्यक्तियों से बातचीत की एवम् वहां दी जा रही सुविधाओं से अवगत हुए।आवासित व्यक्तियों ने वार्तालाप क्रम में क्वारेंटाइन सेंटर में दी जा रही सुविधाओं के संदर्भ में संतोष व्यक्त किया।

उक्त कार्यक्रम में भाग लेने से पूर्व जिलाधिकारी महोदय ने चकिया टॉल प्लाजा के समीप केला बागान का निरीक्षण किया।निरीक्षण क्रम जिलाधिकारी महोदय केला के डंठल से रेशा उत्पादन एवम् उत्पादों के संदर्भ में अवगत हुए।उक्त अवसर पर उन्होंने किए जा रहे कार्यों की सराहना की एवम् कहा कि जीविका को केला डंठल रेशा से विभिन्न उत्पाद निर्माण कार्य में संलग्न किया जाएगा।

मौके पर अनुमंडल पदाधिकारी बृजेश कुमार, प्रखंड विकास पदाधिकारी गौरी कुमारी, अंचलाधिकारी रविशंकर, थानाध्यक्ष अवनीश कुमार आदि मौजूद थे।

मोतिहारी संवाददाता

ओ पी गुप्ता

समाजसेवी विवेक पांडेय क्वारेंटाइन सेंटरों को लगातार करा रहे है।सैनिटाइज

जनबोल न्यूज

 

करगहर विधान सभा क्षेत्र के तकरीबन सभी पंचायतों व बाजारों को सैनिटाइज कराने के बाद समाजसेवी विवेक पांडेय उर्फ सोनू पांडेय ने सभी क्वारंटाइन सेंटरों को सैनिटाइज कराने का काम शुरू कर दिया है।और लगातार सैनिटाइज करा रहे है।उन्होंने कहा कि जनता की सेवा मेरे जीवन का परम लक्ष्य है।

साथ ही उन्होंने कहा कि लोग प्रशासन के आदेश का अनुपालन करें। पुलिस व स्वास्थ्यकर्मी हम सभी की जिदगी बचाने के लिए अपना जीवन दांव पर लगा दिए हैं। ऐसी स्थिति मे उनका सम्मान करना हमारा क‌र्त्तव्य है।

अप्रवासी मजदूरों से अपील की है कि बाहर से जब भी आएं तो अस्पताल या क्वारंटाइन सेंटर पर जांच कराने के बाद ही घर में प्रवेश करें। समाजसेवी द्वारा गांवों ,बाजार व क्वारंटाइन सेंटर की सैनिटाइज कराने की सराहना हो रही है

 

संवाददाता रोहतास

मो०शमशाद आलम