आजाद हिंद फौज की कैप्टन डा. लक्ष्मी सहगल के स्मृति दिवस के मौके पर एडवा ने सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था को मजबूत करने की मांग को लेकर बिहार समेत पूरे देश में मांग दिवस मनाया.

आजाद हिंद फौज की कैप्टन डा. लक्ष्मी सहगल के स्मृति दिवस के मौके पर आज 23 जुलाई को अखिल भारतिय जनवादी महिला समिति (एडवा) के आहवान  पर सार्वजनिक स्वास्थ्य व्यवस्था को सार्वभौम करने, सभी का करोना जांच मुफ्त करने, सभी निजी अस्पताल में मुफ्त करोना इलाज का सुविधा, करोना योद्धा डॉक्टर, नर्स, आशा कर्मी को पर्याप्त सुविधा मुहैया कराने, निजी अस्पताल को सरकारीकरण करने, स्वास्थ्य को बाजार में बेचने पर रोक लगाने, स्वास्थ्य पर केंद्रीय बजट का अधिक से अधिक खर्च करने आदि मांगों को लेकर एडवा के देशव्यापी कार्यक्रम के तहत लॉकडाउन का पालन करते हुए बिहार के विभिन्न हिस्सों में प्रदर्शन किया गया।

पटना में एडवा की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष रामपरी के नेतृत्व में मांगो का पोस्टर लेकर होम प्रोटेस्ट  किया गया, जिसमें कल्पना कुमारी बिहार राज्य चिकित्सा जन स्वास्थ्य कर्मचारी संघ के महामंत्री विश्वनाथ सिंह, एसएफआई के कुमार निशांत आदि शामिल हुए। एडवा नेत्री रामपरी ने कहा कि कोविड-19 महामारी पूरे समाज को ठीक होने से ही खत्म हो सकता है, जिसके लिए केवल सार्वजनिक स्वास्थ्य सेवा हीं  कारगर है। स्वास्थ्य जब बाजार के हवाले होगा तो इसमें सिर्फ मुनाफा हीं देखा जाएगा। इसमें 90% जनता के लिए कोई जगह नहीं होगा। उन्होंने बिहार की बदहाल स्वास्थ व्यवस्था पर चिंता व्यक्त करते हुए स्वास्थ मंत्री मंगल पांडेय का बर्खास्तगी की मांग की।

4Shares

Leave a Reply