udhav thackrey resign

Udhav thackrey resigns : महाराष्ट्र में जारी राजनीतिक उठापटक ने नया मोड़ लिया है। महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा दे दिया है। उद्धव ठाकरे ने इस्तीफा की घोषणा अपने फेसबुक लाइव के माध्यम से किया है। मुख्यमंत्री पद से इस्तीफे की घोषणा के साथ उन्होने विधानपरिषद पद से भी इस्तीफा दे दिया है।

राज्यपाल ने 30 जून को कहा था Floor test पास करने को।  

उधव ठाकरे की नेतृत्व वाली महाराष्ट्र की सरकार 50 विधायकों के समर्थनवापसी के कारण अल्पमत में चली गई थी।  जिसके बाद उद्धव सरकार से राज्यपाल  भगत सिंह कोश्यारी ने विधान सभा में 30 जून को 11 बजे बहुमत साबित करने को कहा था।  राज्यपाल के निर्णय के बाद उद्धव सरकार ने सुप्रीम कोर्ट का दरवाजा खटखटाया था। सुप्रीम कोर्ट ने राज्यपाल के निर्णय पर मुहर लगा दी थी जिसके बाद उद्धव ठाकरे ने इस्तीफे (Udhav thackrey resigns ) की पेशकश की है।

क्या कहा उद्धव ठाकरे ने फेसबुक लाइव ( facebook live ) में  ?

महाराष्ट्रा के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे ने लगभग 16 मिनट के फेसबुक लाइव में अपनी बात रखा है। अपने लाइव के दौरान सहयोगी पार्टी के रवैये और अपने पार्टी के रवैये का जिक्र किया है। उन्होने अपने लाइव में एनसीपी प्रमुख शरद पवार और कॉग्रेस प्रमुख सोनिया गाँधी का आभार जताया है। इसके साथ हीं उन्होने अपने सरकार द्वार किए गए कल्याणकारी योजनाओं की भी जानकारी दी । उन्होने कहा कि जब सांभाजी नगर का कैबीनेट में प्रस्ताव लाया तो एनसीपी और कॉग्रेस के लोगों ने सपोर्ट किया और हमारे लोग नदारद रहे। बागी गूट के नेता एकनाथ शिंदे के बारे में उन्होने कहा कि जिन्हें शिवसेना और बाला साहब ठाकरे ने बड़ा किया उनके बेटे को हीं इनलोगों ने नीचा दिखाया। इसके साथ हीं उन्होने शिव सैनिकों से बागी गूट के लोगों को सकुशल महाराष्ट्रा आने देने की बात कही । उन्होने लोगों से सहयोग की भी अपील की। सहयोग की अपील करते हुए उन्होने कहा मुझे सभी का साथ और सभी का समर्थन चाहिए।

 

0Shares

Leave a Reply