Janbol News

बिहार में सियासी बयानबाजियों का दौर जारी है। अब इस बयानबाजी में संजय जायसवाल भी शामिल हो गये हैं। वे सीएम नीतीश के पुलिस के रवैये से नाराज दिख रहे हैं। संजय जयसवाल ने आज सोशल मीडिया पर एक फेसबुक पोस्ट साझा करते हुए अपनी बात रखी है। पोस्ट में वे बिहार में अल्पसंख्यकों द्वारा दलित उत्पीड़न ( Dalit Atrocities by Muslims ) के मामलों में होते इजाफे से नाराज दिख रहे हैं । भारतीय जनता पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष ने मुस्लिमों द्वारा दलित उत्पीड़न की लगातार की जा रही घटनाओं पर नाराजगी जाहिर की है। उन्होने कहा है कि वाकई इस तरह की घटना बेहद चिंताजनक है। पोस्ट में संजय जायसवाल प्रदेश में  हो रहे मुस्लिमों द्वारा दलितों के उत्पीड़न  (Dalit Atrocities by Muslims ) को चुनाव के तुरंत बाद शुरू हुए बंगाल में दलित उत्पीड़न और 1947 में आजादी के बाद पाकिस्तान के तत्कालीन दलित कानून मंत्री योगेंद्र नाथ मंडल के कहने पर दलित समाज के ऊपर बांग्लादेश में हुई हिंसा को याद किया है ।  बताते चलें कि  बीजेपी प्रदेश अध्यक्ष और पश्चिम चंपारण से सांसद डॉक्टर संजय जायसवाल ने रामगढ़वा के धन गढ़वा गांव में दलित समाज के लोगों का रास्ता अल्पसंख्यक समाज के कुछ लोगों की तरफ से बंद किए जाने के मामले पर चिंता जताते हुए यह बात कही है। उन्होंने कहा है कि जब उन्हें जानकारी मिली कि दलित समाज के लोगों के रास्ते को अल्पसंख्यक समाज ने बंद कर दिया है तो मैंने इस मामले में पलनवा थाना प्रभारी से बात की और उनके साथ अंचलाधिकारी ने स्वयं मौके पर जाकर इस परेशानी को दूर किया। लेकिन कुछ दिनों में इस तरह की घटनाएं काफी बढ़ गई है।

क्या है संजय जयसवाल का पूरा फेसबूक पोस्ट में ?

मुस्लिम समाज द्वारा दलितों के उत्पीड़न (Dalit Atrocities by Muslims ) से संबंधित संजय जायसवाल का एक बड़ा सा फेसबूक पोस्ट है जिसमें धनगढ़वा और ढ़ाका नगर के मुस्लिम समाज द्वारा दलितों और अन्य पिछड़ी जातियों पर जारी हमले का जिक्र है। इसके अलावा संजय जायसवाल मेहसी की घटना को भी इसी से जोड़ कर देख रहे हैं। पूरे मामले में वे पुलिस के रवैये से नाराज दिख रहे हैं। नीचे उनके फेसबूक पोस्ट का स्क्रीन सॉट संलग्न की जा रही है आप भी पढ़ें।

0Shares

Leave a Reply